एकल लड़की के लिए स्नातकोत्तर इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति योजना

स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्त करने के लिए परिवार की एकल बालिका के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई स्नातकोत्तर इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति योजना है। लड़कियों की शिक्षा को प्राप्त करने और बढ़ावा देने के लिए, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने एक उद्देश्य के साथ एकल लड़की के लिए स्नातकोत्तर इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति शुरू की है। बालिका को शिक्षा की सभी स्तरों पर प्रत्यक्ष लागत प्रदान की जाएंगी। यह योजना विशेषकर ऐसी लड़कियों के लिए, जो अपने परिवार में एकल बालिका है।

                                         Post Graduate Indira Gandhi Scharship For Single Girl Child (In English):

 एकल लड़की के लिए स्नातकोत्तर इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति योजना के लाभ:

  •  योजना केवल गैर-पेशेवर पाठ्यक्रमों में एकल बालिका की स्नातकोत्तर शिक्षा प्रदान करेगी
  • छात्रवृत्ति का मूल्य दो साल की अवधि के लिए २,००० रुपये प्रति माह है, अर्थात साल में १० महीने स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की पूरी अवधि के लिए है।

आवेदन करने के लिए आवश्यक पात्रता:

  • जिन छात्राओं को विश्वविद्यालयों / कॉलेजों में विभिन्न गैर-पेशेवर स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाता है और परिवार में एकमात्र ऐसी लड़की होती है, जिसके कोई भाई या छात्रा नहीं होती है, जो जुड़वाँ बेटियाँ / भ्रातृ बेटी होती है, इस योजना के लिए आवेदन कर सकती है।
  • यदि एक परिवार में एक पुत्र और एक पुत्री उपलब्ध है तो उस परिवार की लड़की योजना की छात्रवृत्ति का लाभ प्राप्त नहीं कर सकती है।
  • यह योजना ऐसी एकल बालिका पर लागू होती है, जिसने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में नियमित, पूर्णकालिक प्रथम वर्ष में स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त की  हो।
  • स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के समय ३० साल  की आयु तक की छात्राएं पात्र है।
  • दूरस्थ शिक्षा मोड में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश योजना के अंतर्गत नहीं आता है।
  • आवेदन करने के लिए आवश्यक प्रक्रिया और दस्तावेज:
  • उम्मीदवार को केवल ऑनलाइन मोड के माध्यम से एक आवेदन जमा करना आवश्यक है।
  • यूजीसी अधिनियम की धारा २ (एफ) और १२  (बी) के तहत शामिल किसी मान्यता प्राप्त भारतीय विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष के स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश का प्रमाण होना चाहिए।
  • कॉलेज / विश्वविद्यालय से एक प्रमाण पत्र जहां छात्र ने वर्तमान शैक्षणिक वर्ष में प्रथम वर्ष के स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश लिया है, यानी वास्तविक प्रमाणपत्र होना चाहिए।
  • एसडीएम / प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट / राजपत्रित अधिकारी द्वारा विधिवत रूप से अनुप्रमाणित छात्र / अभिभावक का ५० रुपये के स्टाम्प पेपर  पर एक शपथ पत्र (तहसीलदार के रैंक से नीचे नहीं)
  • पहचान पत्र जैसे की आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र जैसे की बिजली का बिल
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • पिता आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट आकर की तस्वीर
  • पिछले साल की उत्तीर्ण की अंकपत्रिका
  • बैंक पासबुक, आईएफएससी  कोड, एमआयसीआर कोड, खाता नंबर, खाताधारकों का नाम, बैंक शाखा का नाम 

किससे संपर्क करें और कहां संपर्क करें:

महिला छात्र अपने कॉलेज / विश्वविद्यालय के छात्र अनुभाग से संपर्क कर सकती है जहां उसने पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए प्रवेश लिया है या वह आधिकारिक वेबसाइट- http://www.ugc.ac.in पर जा सकती है।

ऑनलाइन आवेदन पत्र यहाँ उपलब्ध है कृपया निम्न लिंक पर जाएँ:

  • http://www.ugc.ac.in

संपर्क और विवरण:

मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति: अल्पसंख्यक से संबंधित मेधावी लड़कियों के लिए

भारत देश के अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी लड़कियों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति योजना मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जन्म शताब्दी के अवसर पर मौलाना आज़ाद शिक्षा संस्थान की स्थापना की गई थी। यह संस्थान समाज के शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्गों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्थापित एक स्वैच्छिक गैर-राजनीतिक, गैर-लाभकारी अंकन सामाजिक सेवा संगठन है। यह भारत सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी छात्राओं को पहचानना, बढ़ावा देना और उनकी सहायता करना है जो वित्तीय सहायता के बिना अपनी शिक्षा जारी नहीं रख सकते है। इस योजना के माध्यम से मेधावी लडकिया छात्रवृत्ति का इस्तेमाल विद्यालय / महाविद्यालय शुल्क का भुगतान, पाठ्यक्रम की पुस्तक खरीदने के लिए, पाठ्यक्रम के लिए स्टेशनरी / उपकरण खरीदने और बोर्डिंग / लॉजिंग शुल्क का भुगतान करने के लिए कर सकती है।

Maulana Azad National Scholarship For Meritorious Girl Student Belonging To Minorities (in English):

अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी लड़कियों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति के लाभ:

  • ११ वीं और १२  वीं कक्षा की छात्रा को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • इस छात्रवृति के तहत छात्रा को १२,००० रुपये की राशि प्रदान की जाएंगी यानी ११ वी कक्षा के लिए ६,००० रुपये और १२ वी कक्षा के लिए ६,००० रुपये की छात्रवृति राशी प्रदान की जाएंगी।
  • छात्रा को १२ वी कक्षा की ६,००० रुपये की दूसरी किस्त ११ वीं कक्षा की उत्तीर्ण मार्कशीट और सत्यापन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के बाद जारी की जाएंगी।

अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी छात्राओं के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति का लाभ प्राप्त करने की पात्रता:

  • केवल राष्ट्रीय अल्पसंख्यक से संबंधित छात्रा (यानी मुस्लिम, ईसाई, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी) इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।
  • लड़की को किसी भी मान्यता प्राप्त केंद्र / राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित माध्यमिक विद्यालय प्रमाणपत्र परीक्षा (कक्षा १० वीं) में ५५% से कम अंक (कुल विषयों) नहीं होने चाहिए।
  • छात्रा की पारिवारिक की सभी स्रोतों से वार्षिक आय १ लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  • प्रवेश की पेशकश करने वाले विश्वविद्यालय / कॉलेज / संस्थान को केंद्र या राज्य स्तर या किसी अन्य सक्षम प्राधिकारी द्वारा सरकार द्वारा मान्यता दी जानी चाहिए।
  • यह एक बार की छात्रवृत्ति है, और स्थायी लाभार्थी के रूप में कोई दावा नहीं किया जाएगा। एक बार छात्रवृत्ति के लिए चयनित छात्र फिर से इसका लाभ नहीं उठा सकता है।
  • किसी अन्य माध्यम से छात्रवृत्ति प्राप्त करनी वाली छात्रा इस छात्रवृत्ति के लिए पात्र नहीं होंगी।

अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी छात्राओं के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति के लिए आवश्यक दस्तावेज़:

  • छात्रा की पासपोर्ट आकर की तस्वीर
  • संस्था का सत्यापन का आवेदन पत्र
  • छात्र द्वारा आय प्रमाण पत्र की स्व-घोषणा
  • छात्र द्वारा समुदाय की स्व-घोषणा
  • पिछले शैक्षणिक मार्क शीट का स्वय सत्यापित प्रमाण पत्र आवेदन पत्र में भरना होंगा।
  • पिछले वर्ष के मार्क शीट का स्वय सत्यापित नवीनीकरण स्व-प्रमाणित प्रमाण पत्र आवेदन पत्र में भरना होंगा।
  • वर्तमान पाठ्यक्रम वर्ष की शुल्क रशीद जोड़नी होंगी।
  • छात्र के नाम पर बैंक खाते का प्रमाण(आयएफएससी, एमआयसीआर कोड)
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र एक साल के लिए वैध होना आवश्यक है।
  • आवासीय प्रमाण पत्र

आवेदन की प्रक्रिया:

  • आवेदन पत्र वेब साइट http://www.maef.nic.in से डाउनलोड किया जा सकता है। आवेदन पत्र की फोटोकॉपी का उपयोग स्वतंत्र रूप से किया जा सकता है। आवेदन के लिए कोई शुल्क / कोई अन्य राशि का भुगतान नहीं करना होंगा।
  • आवेदन पत्र छात्र द्वारा सीधे संस्थान को डाक द्वारा भेजा जा सकता है या संस्थान के कार्यालय में हाथ से भेजा जा सकता है।
  • किसी भी सेवा के लिए किसी से कोई शुल्क शुल्क नहीं लिया जाएंगा।
  • छात्रवृति के लिए स्वीकृति पत्र / चेक पंजीकृत द्वारा भेजे जाएंगे। निर्धारित कागजात / औपचारिकताओं को पूरा करने पर सफल उम्मीदवार के पते पर सीधे भेजे जाएंगे।

संपर्क विवरण:

  • योजना के बारे में किसी भी मदत या सवाल के लिए मौलाना अज़द शिक्षा फाउंडेशन (अल्पसंख्यक मंत्रालय, भारत सरकार) सामाजिक न्याय सेवा केंद्र, चेम्सफोर्ड रोड नई दिल्ली -११००५५ पते पर संपर्क करना होंगा।
  • फोन नंबर – ०११ – २३५८३७८८, २३५८३७८९
  • फैक्स नंबर  – ०११ – २३५६१९४५ 

संदर्भ और विवरण:

 

अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति –

राजस्थान सरकार ने राज्य के अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना सुरु की है। इस योजना के तहत अनुसूचित जाति (एससी) के छात्र को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएंगी। ६ वीं से ८ वीं कक्षा के छात्र इस योजना के लिए पात्र है। राज्य के अनुसूचित जाति के छात्रों को कुछ मानदंडों के आधार पर छात्रवृत्ति प्रदान की जाएंगी। यह योजना साल १९८४  से सक्रिय है और साल २००९ और साल २०१२  में इस योजना में कुछ बदलाव किये गए है। राज्य के छात्रों के स्कूल के खर्चों को पैमाने को देखते हुए छात्रवृत्ति राशी उन छात्रों को किताबें खरीदने, स्कूल की यात्रा करने के लिए और कुछ अन्य स्थिर जरूरतों का समर्थन करने के लिए प्रदान की जाएंगी। इस योजना के तहत लड़कों और लड़कियों को छात्रवृति राशी अलग-अलग प्रदान की जाएंगी। लड़कियों को लड़कों की तुलना में छात्रवृति राशि अधिक मिलती है और इस छात्रवृति राशि का इस्तेमाल छात्र उनके अन्य खर्चों के लिए कर सकते है।

                                                      Pre-Matric Scholarship For Scheduled Caste Students (In English)

अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति का लाभ:

  • लड़कों को छात्रवृत्ति: अनुसूचित जाति समुदाय के छात्र जो ६ वीं, ७ वीं या ८ वीं कक्षा में है,उन छात्रों को मूल जरूरतों के लिए ७५ रुपये  प्रति माह छात्रवृत्ति राशी प्रदान की जाएंगी।
  • लड़कियों को छात्रवृत्ति: इस योजना में लड़कियों को लड़कों की तुलना में थोड़ी ज्यादा राशि मिलेगी यानी लड़कियों को १२५ रुपये प्रति माह छात्रवृत्ति राशी प्रदान की जाएंगी।
  • दलितों को शिक्षा: इस योजना के कारण समाज में दलितों को शिक्षा हासिल करने और तथाकथित शिक्षित समाज में समान दर्जा हासिल करने का मौका प्रदान किया जाएंगा।

अनुसूचित जाति के छात्रों को प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए पात्रता:

  • छात्र राजस्थान राज्य का रहिवासी होना चाहिए।
  • छात्र अनुसूचित जाति से होना चाहिए।

अनुसूचित जाति के छात्रों को प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए आवश्यक दस्तावेज़:

  • आवेदन पत्र
  • पिछले साल की मार्कशीट
  • रहिवासी दाखला (बिजली बिल, पानी कनेक्शन बिल, गैस कनेक्शन बिल, राशन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस)
  • आधार कार्ड
  • जाती का प्रमाण पत्र
  • जाति की वैधता का प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट आकर की तस्वीर (आवश्यक नहीं है लेकिन कम से कम एक प्रति रखने की सिफारिश की जाती है। )छात्र के माता पिता का आय प्रमाण पत्रस्कूल का पहचान पत्र

आवेदन पत्र:

छात्रों को इस योजना का आवेदन करने के लिए संबंधित स्कूल के प्राचार्य को आवश्यक दस्तावेजों के साथ एक आवेदन जमा करना होगा, जहां लड़का / लड़की अध्ययन कर रहे है (यहां आवेदन पत्र डाउनलोड करें: अनुसूचित जाति के छात्र के लिए प्री-मैट्रिक  छात्रवृत्ति के लिए आवेदन पत्र)

संपर्क विवरण:

  • संबंधित स्कूल के  प्राचार्य
  • संबंधित क्षेत्र के शैक्षिक मंत्री

संदर्भ और विवरण:

योजना के बारे में अधिक जानने के लिए निम्नलिखित लिंक का पालन करें:

  • राजस्थान सरकार द्वारा आधिकारिक पत्र: अनुसूचित जाती के छात्रों के लिए प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए दिशानिर्देश
  • आवेदन पत्र: अनुसूचित जाती के छात्रों के लिए प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति का आवेदन पत्र

 

लड़की बच्चे के लिए अपनी बेटी अपना धन योजना:

लड़की बच्चे के लिए अपनी बेटी अपना धन योजना केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है और चंडीगढ़ या संघ शासित प्रदेश द्वारा लागू की जाती है। यह योजना चंडीगढ़ में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय, सामाजिक कल्याण विभाग द्वारा लागू की गई है। यह योजना विशेष रूप से लड़की (बच्ची) के लिए शुरू की गई है। इस योजना को शुरू करने के पीछे मुख्य उद्देश्य राज्य में बालिका की स्थिति में सुधार करना है और उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करना है। इस योजना के तहत, लड़की का जन्म होने पर ५,००० रुपये से सम्मानित किया जाता है।इस योजना का लाभ पाने के लिए माता-पिता को कुछ पात्रता मानदंडों अर्हता को प्राप्त करने की आवश्यकता है जो इस लेख में नीचे वर्णित है। जैसे लड़की की माता-पिता की वार्षिक आय ६०,००० रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए और आवेदक माता-पिता चंडीगढ़ या किसी भी संघ शासित प्रदेश और कुछ अन्य पात्रता मानदंडों के स्थायी निवास होनी चाहिए।

                                                                       Apni Beti Apana Dhan Scheme For Girl Child (In English)

लड़की बच्चे के लिए अपनी बेटी अपना धन योजना के लाभ:

  • लड़की बच्चे के लिए अपनी बेटी अपना धन योजना बालिका को वित्तीय सहायता के रूप में लाभ प्रदान करती है।
  • इस योजना के तहत लड़की का जन्म होने पर सरकार द्वारा लड़की को ५,००० रुपये से सम्मानित किया जाएंगा।
  • इस योजना के माध्यम से लड़की के जन्म पर लड़की (बच्ची) के करियर के लिए ५,००० रुपये की राशी जब लड़की की १८ वर्ष की आयु पूरी होने पर या तो १० वी कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण होने पर लड़की के नाम पर जमा की जाएंगी।

लड़की बच्चे के लिए अपनी बेटी अपना धन योजना लागू करने के लिए आवश्यक पात्रता और शर्तें:

  • आवेदक माता-पिता चंडीगढ़ या किसी भी संघ शासित प्रदेश के स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • लड़की के परिवार की वार्षिक आय ६०,००० रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए।
  • उम्मीदवार माता-पिता करदाता नहीं होना चाहिए।
  • लाभार्थी के माता-पिता सरकारी कर्मचारी नहीं होने चाहिए। बोर्ड या निगम या कोई सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम या संगठन जिसमें कक्षा १ या कक्षा २ की स्थिति है।
  • बच्चे को किसी भी अन्य राज्य या संघ शासित प्रदेश की किसी भी समान योजना के तहत पहले से लाभान्वित नहीं होना चाहिएI
  • आवेदक बालिका के जन्म की तारीख से तीन साल के भीतर आवेदन करने की आवश्यकता हैI
  • एक परिवार के  दो लड़कीयां इस योजना के लिए पात्र है Iएक परिवार के दो से अधिक बच्चे होने पर वह परिवार इस योजना के लिए पात्र नहीं है,लेकिन दूसरा और तीसरा बच्चा जुड़वां हो, तो लाभ तीसरे बच्चे को भी प्रदान किया जाएंगाI
  • अनुप्रयोगों को पहले-सह-प्रथम-सेवा आधार पर माना जाता हैI

लड़की बच्चे के लिए अपनी बेटी अपना धन योजना लागू करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • लड़की (बच्चे) का जन्म प्रमाण पत्र
  • पारिवारिक आय का प्रमाण पत्र
  • पिछले तीन साल का निवास प्रमाण पत्र (मतदाता कार्ड, राशन कार्ड, विद्युत विधेयक इत्यादि)
  • आधार कार्ड
  • माता-पिता की पहचान प्रमाण पत्र
  • बैंक विवरण जैसे की खाता नंबर, खाता धारक का नाम, आईएफएससी कोड, एमआईसीआर कोड
  • जाति प्रमाण पत्र की आवश्यकता हो सकती है

आवेदन की प्रक्रिया:

  • आवेदक उम्मीदवार उल्लिखित वेबसाइट   https://govinfo.me/wpcontent/uploads/2016/09/sw_form3.pdf   पर क्लिक करके आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते है  I
  • आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र भरकर उम्मीदवार इसे जिला स्तर या तालुका स्तर पर सामाजिक कल्याण कार्यालय में जमा कर सकते है I

संपर्क विवरण:

  • आवेदक उम्मीदवार जिला स्तर या तालुका स्तर के नजदीकी सामाज कल्याण कार्यालय से संपर्क कर सकते हैI
  • आवेदक आंगनवाड़ी केंद्र से संपर्क कर सकते हैI

संदर्भ और विवरण:

इस योजना के दस्तावेजों और अन्य माहिती के लिए कृपया आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं:

संबंधित योजनाएं:

  • लड़कियों के लिए योजनाओं की सूची
  • लड़की बच्चे के लिए अपनी बेटी अपना धन योजना