मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना (एमएएवाई):

उत्तराखंड सरकार ने राज्य के स्कूल के बच्चों के लिए मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना (एमएएवाई) की शुरुआत की है।उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देहरादून में योजना का शुभारंभ किया है। योजना के तहत आंगनवाड़ी केंद्रों के बच्चों को सप्ताह में दो बार नि:शुल्क दूध दिया जाएगा। राज्य में २०,०००  आंगनवाड़ी केंद्रों में पढ़ने वाले २.५  लाख बच्चों को सप्ताह में दो बार १००  मिलीलीटर दूध नि:शुल्क में दिया जाएगा।

                                                                        Mukhymantri Anchal Amrit Yojana (MAAY) (In English):

मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना (एमएएवाई)

  • राज्य: उत्तराखंड
  • लाभ: स्कूल के बच्चों को नि:शुल्क दूध प्रदान किया जाएंगा
  • लाभार्थी: आंगनवाड़ी केंद्रों में पढ़ने वाले बच्चे
  • द्वारा शुरू की: उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत
  • प्रारंभ तिथि: ७ मार्च २०१९

उद्देश्य:

  • बच्चों को आवश्यक पोषण प्रदान किया जाएंगा।
  • इस योजना के तहत राज्य में स्वस्थ जीवन शैली को बढ़ावा दिया जाएंगा।
  • राज्य में कुपोषण को कम किया जाएंगा।
  • राज्य के बच्चे के स्कूल छोड़ने के दर को कम किया जाएंगा।

पात्रता मापदंड:

  • यह योजना केवल उत्तराखंड राज्य के लिए लागू है।
  • यह योजना केवल आंगनवाड़ी केंद्रों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए लागू है।

उत्तराखंड राज्य में १८,००० छात्र कुपोषण ग्रस्त है। मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना (एमएएवाई) के माध्यम से राज्य के स्कूल के छात्रों के कुपोषण के दर को कम करने की उम्मीद है। राज्य सरकार इस योजना के तहत राज्य के स्कूल में मिठाई. दूध पावडर प्रदान करेंगी। राज्य के स्कूल में बच्चों को सप्ताह में दो बार नि:शुल्क दूध प्रदान करने के निर्देश दिये गये है।