औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के छात्रों के लिए वित्तीय सहायता

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के छात्रों के लिए वित्तीय सहायता  महाराष्ट्र राज्य सरकार (सामाजिक न्याय और कल्याण मंत्रालय) अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाती विकास और अल्पसंख्यक और अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग द्वारा शुरू की जाती है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों को औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में अध्ययन करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है ताकि वे अपनी शिक्षा पूरी कर सकें। यह योजना उच्च शिक्षा प्राप्त करने के दर को बढ़ाने और शिक्षा के माध्यम से उनकी रोजगार और सशक्तीकरण को बढ़ाने और अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाती समुदायों की सामाजिक-आर्थिक स्थितियों को बढ़ाने के लिए बेहतर अवसर प्रदान करेगी। यह सहायता केवल भारत देश में अध्ययन करने के लिए उपलब्ध है और महाराष्ट्र सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। जनजाति छात्रों की औद्योगिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में कमी है। तकनीकी शिक्षा लेने वाले छात्रों के लिए नौकरी या स्वरोजगार के कई अवसर है। यह शिक्षा कक्षा ८ वीं या १० वीं के बाद प्रदान की जाती है, लेकिन यह शिक्षा पदवी अभ्यासक्रम नहीं है, क्योंकि इससे छात्रों को अन्य छात्रवृत्ति योजना की मदत नहीं मिल सकती है और यह शिक्षा अन्य पाठ्यक्रमों की तुलना में अधिक पैसा लेती है। इसीलिए महाराष्ट्र सरकार ने जनजातियों के बीच औद्योगिक प्रशिक्षण को प्रोत्साहित करने के लिए यह योजना शुरू की है।

                 Financial Assistance For The Student Of Industrial Training Institute (ITI) (In English)

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के छात्रों के लिए वित्तीय सहायता के लाभ:

  • महाराष्ट्र में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के छात्रों के लिए वित्तीय सहायता के रूप में लाभ देती है।
  • छात्र को शिक्षा के साथ छात्रावास के लिए ६० रुपये  प्रति माह और विद्वानों को १०० रुपये प्रति महिना प्रदान किया जाएंगा।

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के छात्रों के लिए वित्तीय सहायता लागू करने के लिए आवश्यक पात्रता और शर्तें:

  • उम्मीदवार महाराष्ट्र राज्य का स्थायी निवास होना चाहिए।
  • माता-पिता की वार्षिक आय १२,००० रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • छात्रों का व्यवहार और प्रगति संतोषजनक होनी चाहिए।

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के छात्रों के लिए वित्तीय सहायता लागू करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • आधार कार्ड
  • माता-पिता का पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • जीवित प्रमाण पत्र
  • जाति का प्रमाण पत्र
  • अधिवास प्रमाण पत्र
  • विद्यालय छोड़ने का प्रमाण पत्र

आवेदन की प्रक्रिया:

आवेदक को प्रवेश के समय सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ संबंधित विद्यलय के प्रधान अध्यापक से संपर्क  करना होंगा। संस्थान के प्रमुख आवेदन प्रक्रिया के बारे में अधिक जानकारी प्रदान करेंगे।

संपर्क विवरण:

  • आवेदक को विद्यलय के प्रधान अध्यापक से संपर्क  करना होंगा।
  • आवेदक छात्र नजदीकी आदिवासी विकास कार्यालय से संपर्क करना होंगा।
  • आवेदक आधिकारिक लिंक पर जा सकते है, जहाँ वह पूरे महाराष्ट्र राज्य के सभी कार्यालयों का विवरण पता प्राप्त कर सकता है: http://mahatribal.gov.in/

संदर्भ और विवरण:

 

 

युवाश्री – पश्चिम बंगाल रोगजार बैंक: पंजीकरण / नामांकन, मॉक टेस्ट, नवीनतम नौकरियों की सूचि

पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य के बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार बैंक की पहल युवाश्री शुरू की है। राज्य के युवा नवीनतम नौकरियों की सूची युवाश्री  वेबसाइट www.employmentbankwb.gov.in पर देख सकते है। युवाश्री  वेबसाइट पर राज्य के युवा नौकरी प्राप्त करने के लिए स्वयं को नामांकित कर सकते है, नौकरियों के बारे में नवीनतम अपडेट प्राप्त कर सकते है, मेल खानी वाली नौकरी प्राप्त कर सकते है,  मॉक टेस्ट ले सकते है और नौकरियों के लिए आवेदन भी कर सकते है। बेरोजगार सहायता के लिए भी बेरोजगार पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

यह योजना को मूल रूप से साल २०१३  में शुरू किया गया था और इस योजना को पहले युवा उत्सव प्रकल्प (वाईयुपी) कहा जाता था। अब युवा उत्सव प्रकल्प (वाईयुपी) योजना का नाम बदलकर युवाश्री योजना कर दिया गया है।

Yuvashree – Employment Bank By West Bengal (In English)

युवाश्री योजना / युवा उत्सव प्रकल्प (वाईयुपी)

  •  राज्य: पश्चिम बंगाल
  • लाभ: युवाओं के लिए रोजगार सहायता
  • लाभार्थी: बेरोजगार / नौकरी चाहने वाले
  • आधिकारिक वेबसाइट: www.employmentbankwb.gov.in

युवाश्री पोर्टल:

राज्य के नौकरी चाहने वाले युवा खुद को नामांकित कर सकते है।  नवीनतम नौकरियों के बारे में अद्यतन दर्ज कर सकते है। युवा मेल खानी वाली नौकरी प्राप्त कर सकते है।  नौकरियों के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।  प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए मॉक टेस्ट भी कर सकते है।  युवाओं को इस योजना के तहत विभिन्न कौशलों का प्रशिक्षण प्रदान दिया जाएंगा।युवाओं को उज्वल भविष्य के बारे में जानकारी प्रदान की जाएंगी। युवाओं को विभिन्न स्व-रोजगार योजना के बारे में जानकारी प्रदान की जाएंगी।

पोर्टल का उपयोग कंपनियों और संस्थानों द्वारा भी किया जा सकता है। कंपनियां (नौकरी प्रदाता) अपने पास मौजूद सभी नौकरी के पद युवाओं के लिए पोर्टल पर डाल सकती है। कंपनियों और संस्थान अपने मापदंड से मेल खाते हुए उम्मीदवार खोज सकते है। संभावित उम्मीदवारों के लिए नियोक्ता भी खोज सकते है। संस्थान अपने छात्रों का जानकारी पोर्टल पर अपलोड कर सकते है और उन्हें नौकरी के अवसर प्रदान कर सकते है।

युवाश्री योजना के लिए नामांकन कैसे करें?

  • युवाश्री पोर्टल पर ऑनलाइन नामांकन पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

युवाश्री ऑनलाइन नामांकन (सोर्स: employmentbankwb.gov.in)

  • नामांकन आवेदन पत्र को पूरी तरह से भरें, व्यवसायिक अनुभव विवरण के साथ सभी व्यक्तिगत, शैक्षिक विवरण प्रदान करें
  • सभी शर्तें को स्वीकार करें और पंजीकरण पूरा करने के लिए “Submit” बटन पर क्लिक करे

युवाश्री के लिए नामांकन स्थिति की जांच कैसे करें?

  • नामांकन स्थिति पर जाने के लिए यहां क्लिक करें
  • सुरक्षा कोड के साथ-साथ अपनी नौकरी चाहने वाला युवा अपना आईडी दर्ज करे
  • Submit करें बटन पर क्लिक करें
  • आपकी नामांकन स्थिति दिखाई जाएंगी

श्रेयस – युवाओं को शिक्षुता और कौशल उच्च शिक्षा योजना

भारत देश के मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने युवाओं को शिक्षुता और कौशल में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए श्रेयस  योजना शुरू की है। भारत देश के स्नातक युवाओं को  कौशल प्रशिक्षण और औद्योगिक शिक्षुता के अवसर प्रदान किये जाएंगे। इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य स्नातकों के लिए रोजगार निर्माण करना और उद्योगों में अच्छी नौकरी पाने की संभावनाओं को बढ़ाना है। केंद्र सरकार के तीन मंत्रालय संयुक्त रूप से इस योजना को लागू करेंगे। मंत्रालयों में मानव संसाधन विकास मंत्रालय, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय, और श्रम और रोजगार मंत्रालय शामिल है।

               SHREYAS – Scheme For Higher Education Youth In Apprenticeship & Skills (In English)

श्रेयस – युवाओं को शिक्षुता और कौशल में उच्च शिक्षा योजना

  • लाभ: कौशल प्रशिक्षण और औद्योगिक शिक्षुता के अवसर
  • लाभार्थी: नये स्नातक

स्नातकों को अच्छी नौकरी पाने के लिए उनकी औपचारिक पदवी के साथ प्रासंगिक उद्योग कौशल प्रशिक्षण अनिवार्य है। यह युवाओं को आज के प्रतिस्पर्धी माहौल में कुशल, सक्षम और रोजगार प्राप्त करने के लिए उन्हें तैयार करेगा।

श्रेयस पात्रता मानदंड:

  • यह योजना भारत देश के स्नातक के लिए लागू है।
  • यह योजना मुख्य रूप से गैर-तकनीकी स्नातकों के लिए है।

तकनीकी स्नातकों के पास ज्यादातर रोजगार प्राप्त करने के लिए कौशल होता है। अधिकांश कौशल तकनीकी स्नातकों के पदवी कार्यक्रमों के हिस्से के रूप में प्रदान किया जाता है। गैर-तकनीकी स्नातकों के पास कौशल प्रशिक्षण की कमी है। इसलिए श्रेयस युवाओं को शिक्षुता और कौशल में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए योजना उन्हें रोजगार योग्य बनाने में मदत करेगी।

श्रेयस पोर्टल:

सरकार जल्द ही आधिकारिक श्रेयस पोर्टल का शुभारंभ करेगी। कॉलेज, विश्वविद्यालय, उद्योग और लाभार्थी छात्र पोर्टल पर लॉगिन कर सकेंगे। इसमें उनके लिए संसाधन होंगे। श्रेयस वेबसाइट में उपलब्ध शिक्षुता / अनिवार्य निवासी सेवा के अवसरों का विवरण भी होगा।

श्रेयस शिक्षुता पात्रता मानदंड:

  • छात्रों को उनकी शैक्षिक पृष्ठभूमि के आधार पर अनिवार्य निवासी सेवा के अवसर प्रदान किये जाएंगे। सभी पाठ्यक्रम शैक्षणिक वर्ष अप्रैल-मई २०१९ से उपलब्ध होंगे।
  • ४० शैक्षणिक संस्थान प्रशिक्षुता पाठ्यक्रमों में भाग लेने के लिए सहमत हुए है।

कामकाजी महिला छात्रावास योजना:

भारत देश के केंद्र सरकार (महिला और बाल विकास मंत्रालय) द्वारा कामकाजी महिला के लिए कामकाजी महिला छात्रावास योजना शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से कामकाजी महिलाओं को सुरक्षित और किफायती दरो में आवास प्रदान किया जाएंगा। भारत देश की अधिक से अधिक महिलाएं बड़े शहरों के साथ-साथ शहरी और ग्रामीण औद्योगिक समूहों में रोजगार की तलाश में अपना घर छोड़ कर रह रही है। ऐसी महिलाओं द्वारा सामना की जाने वाली मुख्य कठिनाइयों में से एक सुरक्षित और सुविधाजनक रूप से स्थित आवास की कमी है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य कामकाजी महिलाओं के लिए सुरक्षित और सुविधाजनक रूप से स्थित आवासों की उपलब्धता को बढ़ावा देना है, जहां कहीं भी संभव हो, शहरी, अर्ध-शहरी या ग्रामीण क्षेत्रों में, जहां महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर मौजूद है।

                                                                                             Working Women Hostel Scheme (In English):

कामकाजी महिला छात्रावास योजना के लाभ:

  • सभी कामकाजी महिलाओं को छात्रावास जाति, धर्म, वैवाहिक स्थिति आदि किसी भेदभाव के बिना प्रदान किया जाएंगा।
  • कामकाजी महिला छात्रावास योजना,कामकाजी महिलाओं और एजेंसियों / संगठनों के लिए दो तरह से लाभ प्रदान करती है, जो छात्रावास स्थापित करना चाहते है क्योंकि एजेंसियां ​​/ संगठन को भवन निर्माण के लिए वित्तीय सहायता मिलेंगी।
  • नौकरी का प्रशिक्षण लेनी वाली महिलाओं को छात्रावास में समायोजित किया जाएंगा।
  • कामकाजी महिलाओं के बच्चों को भी छात्रावास में शामिल किया जाएंगा, लड़कियों के लिए १८ साल की आयु तक और लड़कों के लिए ५ साल की आयु तक की उम्र के बच्चों को उनकी माताओं के साथ ऐसे छात्रावास में समायोजित किया जाएंगा।
  • एजेंसियां / संगठन कामकाजी महिलाओं को सहायता लागू करेगा और कामकाजी महिला को छात्रावास भवन के निर्माण की लागत का ७५% प्रदान किया जाएगा।

कामकाजी महिला छात्रावास योजना के लिए पात्रता:

  • कामकाजी महिलाओं की आयु १८ साल से अधिक होनी चाहिए।
  • कामकाजी महिला एकल, विधवा, तलाकशुदा, विवाहित, विवाहित महिला लेकिन जिनके पति और परिवार एक ही शहर / क्षेत्र में नहीं रहते है। समाज के वंचित वर्ग की महिलाओं को विशेष रूप से वरीयता प्रदान की जाएंगी। शारीरिक रूप से अक्षम लाभार्थियों के लिए सीटों के आरक्षण का भी प्रावधान है।
  • कामकाजी महिलाओं का नौकरी का प्रशिक्षण अवधि एक साल से अधिक नहीं होना चाहिए।
  • महिलाओं को छात्रावास की सुविधा का अधिकार होगा, लेकिन महानगरीय शहरों में महिला की मासिक सकल आय ५०,००० रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए या महिला की मासिक समेकित (सकल) आय ३५,००० रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • किसी भी कामकाजी महिला को तीन साल से अधिक छात्रावास में रहने की अनुमति नहीं दी जाएंगी।

कामकाजी महिला छात्रावास योजना की प्रवेश प्रक्रिया  और आवेदन पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • प्रवेश प्रक्रिया बदलती रहती है क्योंकि पूरे देश के छात्रवास उपलब्ध है, इसलिए कुछ राज्य प्रक्रियाओं और आवेदन के लिए कृपया इस लिंक पर जाएँ- http://www.wcd.nic.in/sites/default/files/wwhrulesdtd12082011.pdf

संदर्भ और विवरण:

 

घर से काम करने के लिए ग्रामीण जन योजना (डब्ल्यूएफएचआरएमएस): आंध्र प्रदेश के ग्रामीण युवा अब घर से काम कर सकते है और कमा सकते है –

आंध्र प्रदेश सरकार राज्य के ग्रामीण क्षेत्र युवाओं के लिए एक अभिनव योजना सुरु करने की योजना बना रही है जिसे घर से काम करने के लिए ग्रामीण जन योजना (डब्ल्यूएफएचआरएमएस) कहा जाता है। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्रदान करना और उन्हें सशक्त बनाना है। आंध्र प्रदेश सरकार ने पूरे राज्य में फाइबर ऑप्टिक नेटवर्क (फाइबरनेट) बिछाया है। आंध्र प्रदेश राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में कम लागत में इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान की जाती है। फाइबरनेट के माध्यम से प्रति माह १५० पिक्चर (फ़िल्में) और मनोरंजन के लिए ग्रामीण क्षेत्र के लोगों द्वारा इंटरनेट सेवाओं का आनंद लिया जाता है, लेकिन अब सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए बुनियादी ढांचे का उपयोग करना चाहती है।

                                                   Work From Home For Rural Masses Scheme (WFHRMS) (In English)

घर से काम करने के लिए ग्रामीण जन योजना (डब्ल्यूएफएचआरएमएस) क्या है? आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं, गृहिणियों और बेरोजगारों को नौकरी के अवसर प्रदान करने के लिए एक अभिनव योजना है। लाभार्थी इस योजना के माध्यम से सरल माहिती (डेटा) प्रविष्टि प्रकार के काम कर सकते है और अपने गांवों में बैठे कर पैसे कमा सकते है।

घर से काम करने के लिए ग्रामीण जन योजना के लिए पात्रता:

  • आंध्र प्रदेश राज्य के गांवों में युवा, गृहिणियां और बेरोजगार इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।
  • न्यूनतम शैक्षणिक पात्रता: लाभार्थी कम से कम १० वीं पास होना चाहिए।
  • लाभार्थी के पास एक कंप्यूटर और वेब कै होना चाहिए।
  • लाभार्थी को कंप्यूटर  ऑपरेटिंग का बेसिक अनुभव होना चाहिए।

घर से काम करने के लिए ग्रामीण जन योजना (डब्ल्यूएफएचआरएमएस) कैसे काम करती है?

  • चयनित उम्मीदवारों को डाटा एंट्री की नौकरी प्रदान की जाएगी।
  • सबसे पहले अमेरिकी निगम और एक यूरोप स्थित बीपीओ भी सरकार का समर्थन कर रहा है और लाभार्थी के लिए नौकरी के अवसर प्रदान करेगा।
  • वेबकैम के माध्यम से कर्मचारियों पर नजर रखी जाएगी।
  • लाभार्थी को वेतन का भुगतान डिजिटल मोड के माध्यम से किया जाएगा।

घर से काम करने के लिए ग्रामीण जन योजना (डब्ल्यूएफएचआरएमएस) ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों  को वैकल्पिक आय स्रोत प्रदान करेगा और उन्हें एक अच्छा और स्वस्थ जीवन जीने के लिए सशक्त और प्रोत्साहित किया जाएंगा। इस योजना के तहत गांवों में सामाजिक-आर्थिक स्थिति में भी सुधार होंगी। यह किसानों को आत्महत्या को रोकने / कम करने में भी सरकार की मदत करेगी। यह योजना आंध्र प्रदेश में उपलब्ध कराने से पहले कुछ महीनों के लिए प्रयोग के आधार पर चलाई जाएगी।

संबंधित योजनाएं:

दिल्ली सरकार मेगा जॉब फेयर: ऑनलाइन पंजीकरण, रिक्तियों और ऑनलाइन आवेदन

दिल्ली सरकार ने राज्य में नौकरी चाहने वालों के लिए मेगा जॉब फेयर की घोषणा की है। इच्छुक उम्मीदवार सभी नौकरी की रिक्तियों को पा सकते है और रोजगार निदेशालय, दिल्ली जॉब फेयर पोर्टल jobfair.delhi.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। विभाग एक मेगा जॉब फेयर का आयोजन अक्सर करता है। कंपनियों और नौकरी चाहने वाले इच्छुक उम्मीदवार को नौकरी मेले में भाग ले सकते है। जॉब फेयर का मुख्य उद्देश्य राज्य में बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना है।

                                                                                                            Delhi Govt Mega Job Fair (In English)

दिल्ली सरकार मेगा जॉब फेयर हेल्पलाइन:

  • वेबसाइट: jobfair.delhi.gov.in
  • फ़ोन: ०११-२५८४६३२१ / २५८४६३२२
  • ई-मेल: datahub.emp09@gmail.com

दिल्ली सरकार मेगा जॉब फेयर जनवरी २०१९:

  • दिनांक और समय: २१ और २२ जनवरी, सुबह ११ बजे से शाम ५  बजे तक  
  • स्थान: त्यागराज स्टेडियम, त्यागराज मार्ग, आई एन ए, दिल्ली  

दिल्ली जॉब फेयर पोर्टल नौकरी खोजने के लिए पंजीकरण और नौकरी के लिए आवेदन कैसे करें:

  • दिल्ली जॉब फेयर पोर्टल नौकरी खोजने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण के लिए यहां क्लिक करें।

दिल्ली जॉब फेयर पोर्टल नौकरी खोजने के लिए पंजीकरण आवेदन पत्र (स्रोत: jobfair.delhi.gov.in)

  • आवेदक सभी व्यक्तिगत और शैक्षणिक विवरणों को रोजगार की स्थिति के साथ सही ढंग से प्रदान करें।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • आवेदक को लॉग-इन आईडी और पासवर्ड सफल पंजीकरण के आधार पर प्रदान किया जाएंगा।

आवेदक को पंजीकरण के बाद शैक्षणिक विवरण और वरीयताओं के आधार पर रोजगार के सभी अवसर दिखाए जाएंगे। पोर्टल पर पंजीकृत उम्मीदवारों को कंपनियां ढूंढ सकती है और उन्हें शॉर्टलिस्ट कर सकती है। सभी शॉर्टलिस्ट किये गए आवेदक मेगा जॉब फेयर में लिखित / भेटवार्ता के लिए उपस्थित हो सकते है।

दिल्ली जॉब फेयर पोर्टल नियोक्ता पंजीकरण और नौकरियां की नियुक्ति कैसे करें?

  •  जॉब फेयर नियोक्तिया के पंजीकरण आवेदन पत्र पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।

दिल्ली जॉब फेयर पोर्टल नियोक्तिया संगठन पंजीकरण आवेदन पत्र

  • पूर्ण आवेदन पत्र को भरें और सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • सिस्टम लॉगिन आईडी और पासवर्ड उत्पन्न करने के बाद आपको लॉगिन आईडी और पासवर्ड प्रदान किया जाएगा।
  • लॉगिन करें और नौकरी रिक्तियों को पोस्ट करें।

संबंधित योजनाएं: 

sewayojan.up.nic.in-  उत्तर प्रदेश रोजगार मेला: पंजीकरण, लॉगिन, नौकरियों की सूची और आवेदन कैसे करें –

उत्तर प्रदेश रोजगार (सेवायोजना) विभाग ने उत्तर प्रदेश रोजगार मेला शुरू किया है। यह राज्य में बेरोजगार युवाओं को नौकरी के अवसर प्रदान करता है। नौकरी तलाशने वाले इस योजना के आधिकारिक वेबसाइट sewayojan.up.nic.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते है, फिर लॉगिन करें और राज्य में विभिन्न नौकरियों के लिए आवेदन करें। पोर्टल सरकारी और निजी नौकरियों की सूची के साथ सभी नौकरी मेले (रोजगार मेला) की सूची भी प्रदान करती है। उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में नौकरी मेले आयोजित किए जाते है।

                                                                                                                              UP Rojgar Mela (In English)

यूपी रोजगार मेला (सेवायोजना पोर्टल):

  • उत्तर प्रदेश रोजगार विभाग द्वारा आयोजित एक केंद्रीकृत कार्यक्रम है।
  • सभी सरकारी एजेंसियां ​​और निजी कंपनियां इस कार्यक्रम में अपनी नौकरी के अवसर का प्रदर्शन करती है।
  • बेरोजगार युवा अपनी शैक्षणिक पात्रता के आधार पर रुचि रखने वाली नौकरियों के लिए भाग ले सकते है और आवेदन कर सकते है।
  • नौकरी तलाशने वालों को रोजगार  मेला में या उत्तर प्रदेश सेवोजोजन विभाग आधिकारिक पोर्टल पर   sewayojan.up.nic.in   पर पंजीकरण करने की आवश्यकता है।
  • आवेदक सेवायोजना और रोज़गार मेला की वेबसाइट पर ऑनलाइन नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते है।
  • उम्मीदवार रोज़गार मेला में भेटवार्ता में भाग ले सकते है और प्रस्ताव पत्र प्राप्त कर सकते है।
  • आवेदक सेवायोजना पोर्टल पर नियुक्ति का भी पंजीकरण कर सकते है और अपनी नौकरी की आवश्यकताओं को पोस्ट कर सकते है।
  • फिर सेवायोजना वेबसाइट नौकरी तलाशने वालों की जॉब प्रोफाइल के साथ नौकरी के अवसरों से मिलन करता है।
  • जॉब प्रोफाइल मिलन के आधार पर, आवेदक को तारीख और समय के साथ भेटवार्ता के लिए उपस्थित होने की सभी माहिती ईमेल द्वारा भेजी जाती है।
  • चल रहे की सूची और आगामी रोजगार मेला की सूची : यहां क्लिक करें
  • यह सूची रोज़गार मेला (रोजगार जंक्शन) जैसे नौकरी मेले, पता और जिला आदि की तारीख जैसे सभी विवरण प्रदान करती है।     

उत्तर प्रदेश रोजगार मेला नौकरियां की सूची / सेवा और निजी नौकरी रिक्तियों को ऑनलाइन सेवायोजना पोर्टल पर खोजें?

  • उत्तर प्रदेश राज्य में सरकारी नौकरी रिक्तियों की सूची खोजने के लिए यहां क्लिक करें।
  • निजी कंपनियों और एमएनसी में नौकरी रिक्तियों की सूची खोजने के लिए यहां क्लिक करे और आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें।
  • सेवायोजना पोर्टल जॉब प्रोफाइल, पात्रता मानदंड, आवश्यक पात्रता, वेतन और लाभ इत्यादि के रूप में नौकरियों के सभी विवरण प्रदान करता है।

उत्तर प्रदेश रोजगार मेला २०१९: sewayojan.up.nic.in  पोर्टल पर लॉगिन और पंजीकरण कैसे करे:

  • उत्तर प्रदेश सेवायोजना पंजीकरण करने के लिए यहां क्लिक करें।
  • नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल, उपयोगकर्ता आईडी, पासवर्ड और पंजीकरण जैसे विवरण प्रदान करें।

यूपी रोजगार मेला ऑनलाइन पंजीकरण आवेदन पत्र (sewayojan.up.nic.in)

  • सेवायोजना पोर्टल के लॉगिन पर जाने के लिए यहां क्लिक करें, अपना लॉगिन विवरण प्रदान  करे और लॉगिन करें।

यूपी रोजगार मेला सेवोजन लॉग इन (sewayojan.up.nic.in)

संबंधित योजनाएं:

 

बेरोजगार, unemployment

सुपर १०० प्रशिक्षण कार्यक्रम राजस्थान: नौकरी तलाशने वालों के लिए मुफ्त प्रशिक्षण

राजस्थान सरकार ने सुपर १०० प्रशिक्षण कार्यक्रम राज्य में नौकरी तलाशने वालों युवा के लिए एक मुफ्त में प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम के माध्यम से १०० नौकरी तलाशने वाले छात्र को उनकी रोजगार क्षमता बढ़ाने के लिए नि:शुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इस योजना का मुख्य उद्देश्य मेधावी छात्रों को निश्चित रूप से नौकरी प्राप्त हो सके।

Super 100 training program Rajasthan (In English)

सुपर १००  प्रशिक्षण कार्यक्रम क्या है? एक योजना जिसमे फ्रेशर्स छात्रों को मुफ्त में प्रशिक्षण प्रदान किया जाएंगा और छात्रों को निश्चित रूप से जल्दी से अच्छी नौकरी प्राप्त करने के लिए छात्र को सक्षम बनया जाएंगा।

सुपर १०० प्रशिक्षण कार्यक्रम का विवरण:

  • राज्य के सूचना एवं संचार विभाग द्वारा एक पहल है।
  • इस कार्यक्रम के माध्यम से  नौकरी तलाशने वालों छात्रों को मुफ्त में प्रशिक्षण के लिए चुना जाएंगा।
  • चयनित उम्मीदवारों को सॉफ्ट-कौशल, व्यक्तित्व विकास और भेंटवार्ता कौशल का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • इस कार्यक्रम के माध्यम से  उम्मीदवारों के रोजगार को बढ़ावा दिया जाएंगा।
  • लाभार्थी को ५ दिन का नि: शुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम (प्रत्येक दिन में ६ घंटे) प्रदान किया जाएंगा।
  •  सुपर १००  प्रशिक्षण का केंद्र स्थान: जयपुर, कोटा, जोधपुर आदि स्थान पर छात्रों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएंगा।
  • प्रशिक्षण अनुभवी प्रशिक्षकों द्वारा प्रदान किया जाएगा।
  • शुल्क: लाभार्थी को नि:शुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जाएंगा।

सुपर १०० प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए पात्रता और मानदंड:

  •  इस कार्यक्रम के लिए नए छात्र (फ्रेशर्स) आवेदन कर सकते है।
  • बीए / बीएससी / बीसीओएम / बीबीए / बीसीए / एमए / एमएससी / एम-कॉम आदि की डिग्री प्राप्त करने वाले छात्र इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।
  • बीई / बीटेक / एमई / एमटेक / एमसीए (कंप्यूटर) आदि की डिग्री प्राप्त करने वाले छात्र इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।
  • एमबीए (मार्केटिंग) डिग्री प्राप्त करने वाले छात्र इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।
  • इस कार्यक्रम के लिए नए छात्र (फ्रेशेर्स) को अनुमति दी जाएंगी।
  • राजस्थान राज्य में अध्ययन करने वाले छात्र इस योजना के लिए पात्र है।

सुपर १०० प्रशिक्षण कार्यक्रम का ऑनलाइन पंजीकरण, ऑनलाइन आवेदन पत्र और आवेदन कैसे करें?

  • सुपर १०० प्रशिक्षण कार्यक्रम ऑनलाइन पंजीकरण, ऑनलाइन आवेदन पत्र राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेला के आधिकारिक वेबसाइट itjobfair.rajasthan.gov.in/super100 पर उपलब्ध है।
  • सुपर १०० पंजीकरण पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।
  • अपना नौकरी मेला उपयोगकर्ता नाम / लाभार्थी आईडी और पासवर्ड दर्ज करें और फिर Search बटन पर क्लिक करें (आपको नौकरी मेले के लिए पंजीकृत होने चाहिए, यदि नहीं है तो नौकरी तलाशने वालों के लिए त्वरित पंजीकरण के लिए यहां क्लिक करें।)
  • पंजीकरण आवेदन पत्र को भरें, आगे दिये गये सूचना का पालन करें और पंजीकरण पूरा करने के लिए अपने सुपर १०० आवेदन पत्र को जमा करें।
  • आपके आवेदन की समीक्षा की जाएगी और आपको आगे के विवरण की अधिक जानकारी के लिए ईमेल और मोबाइल के माध्यम से संपर्क किया जाएगा।

राजस्थान आईटी नौकरी दिवस मेले की हेल्पलाइन

१८००-१८०-६१२७  (टोल-फ्री)

सुपर १०० का मतलब क्या है?

  • एस: अपने करियर के प्रयासों में बढ़ोतरी की जाएंगी।
  • यू:उम्मीदवारों की छिपी संभावनाओं को उजागर किया जाएंगा।
  • पी: बिल्कुल सही बोली जाने वाली अंग्रेजी और अन्य सॉफ्ट-कौशल का विकास किया जाएंगा।
  • ई:नौकरी पाने की बेहतर संभावनाएं को बढ़ावा दिया जाएंगा।
  • आर: व्यक्तिगत सौंदर्य के साथ उम्मीदवारों को फिर से परिभाषित किया जाएंगा।
  • 1: उम्मीदवारों की ताकत की पहचान की जाएंगी।
  •  0: सभी के लिए अवसर प्रदान किये जाएंगे।
  •  0: सभी के लिए नए रास्ते खोलें जाएंगे।

संबंधित योजनाएं:

राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेला: ऑनलाइन पंजीकरण,आवेदन पत्र और कैसे करें आवेदन?

राजस्थान सरकार द्वारा राज्य में नौकरी तलाशने वालों को रोज़गार के अवसर प्रदान करने के लिये राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेला नाम की पहल शुरू की है। राज्य सरकार एक नियमित अंतराल पर इस पहल के तहत मेगा नौकरी मेला आयोजित करती है।इस पहल के तहत नौकरी की तलाश करने वाले छात्र और युवा को एक ही स्थान से आवेदन कर सकते है।यह भर्ती करने वालों और कंपनियों के लिये मेगा भर्ती ड्राइव रखने और एक स्थान पर सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा खोजने के लिये एक मंच है।

                                                                                                            Rajasthan IT Day Job Fair (in English)

राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेला की हेल्पलाइन:

आईटी दिवस नौकरी मेला का मुख्य उद्देश्य राज्य में युवाओं को एक ही स्थान से नौकरी के अवसर प्रदान करना है ताकि उनका समय और पैसे की बचत हो सके और नौकरी तलाशने वालों युवाओं को जल्दी नौकरी मिल सके। राजस्थान नौकरी मेला एक ऐसा स्थान है जहां युवाओं के अपनी प्रतिभा दिखाने ने का मौका मिलता है।भेंटवार्ता और परीक्षण के आधार पर नौकरी तलाशने वालों युवाओं को नौकरी की पेशकश मिलती है। उन्हें नौकरी मेले में नरम कौशल और भेंटवार्ता कौशल की जानकारी प्रदान की जाएंगी।

 राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेला में कौन भाग ले सकता:

  • १० वीं, १२ वीं पास, स्नातक, स्नातकोत्तर नौकरी की तलाश करने वाले युवा इस योजना में भाग ले सकते है।
  • लाभार्थी को मौके पर राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेला या उनकी आधिकारिक वेबसाइट     itjobfair.rajasthan.gov.in  पर पंजीकरण करने की आवश्यकता है।
  • लाभार्थी को अपने अंक-पत्र / प्रमाण पत्र की प्रतिया के साथ अपने बायोडाटा की प्रतिलिपि लेनी होगी और भेंटवार्ता के लिए तैयार रहना होंगा।
  • उम्मीदवार अधिकतम तीन कंपनियों के लिए आवेदन कर सकते है।
  • लाभार्थी भेंटवार्ता दे सकता है और यदि भेंटवार्ता में सफल होने पर उन्हें स्थल प्रस्ताव पत्र दिया जाएंगा।

itjobfair.rajasthan.gov.in सेवाएं:

  • नौकरी तलाशने वालों युवा और नियोक्ताओं के लिए राजस्थान सरकार, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की एक वेबसाइट है।
  • नौकरी तलाशने वाले युवा खुद की नियोक्तिओं को स्वयं  पंजीकृत कर सकते है।
  • नौकरी तलाशने वाले लाभार्थी को ऑनलाइन नौकरियों के लिये आवेदन कर सकते है।
  • आवेदनकर्ता विभिन्न नौकरियों की खोज कर सकते है और आवेदन की स्थिति को देख सकते है।

राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेला:ऑनलाइन पंजीकरण,आवेदन पत्र और कैसे करें आवेदन?

  • यहाँ क्लिक करे राजस्थान आईटी दिवस नौकरी मेले के लिए।
  • अपने सभी व्यक्तिगत विवरण जैसे कि नाम, मोबाइल, ईमेल, जन्मतिथि, लिंग को प्रदान करे।
  • अपना जिला चुनें।
  • अपने शैक्षनिक विवरण को प्रदान करें ।
  • नौकरी मेला का चयन करें जिसमें आप भाग लेना चाहते है।
  •  पंजीकरण पूरा करने के लिए जमा करे बटन पर क्लिक करें।

एक परिवार एक नौकरी योजना: सिक्किम के युवाओं के लिए १५,००० सरकारी नौकरियां

सिक्किम सरकार ने राज्य के युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिये एक परिवार एक नौकरी योजना की घोषणा की है।सरकार इस योजना के माध्यम से सिक्किम राज्य के प्रत्येक परिवार को रोजगार प्रदान करेंगी। इस योजना के तहत सिक्किम राज्य के १५,००० बेरोजगार युवाओं को सरकारी नौकरियां मुहैया कराई जाएंगी। इस योजना का उद्देश्य हिमालयी राज्य के परिवारों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना है। सिक्किम सरकार का लक्ष्य  उम्मीदवारों की पहचान दिसंबर २०१८ तक की जाएगी और उम्मीदवारों को २ जनवरी २०१९ को तक शामिल किया जाएंगा।

One Family One Job Scheme (In English)

एक परिवार एक नौकरी योजना क्या है: एक सिक्किम सरकार की कल्याण योजना जो राज्य में बेरोजगार युवाओं को १५,००० नौकरियां प्रदान करेगी।

एक परिवार एक नौकरी योजना का उद्देश्य:

  • राज्य के युवाओं को रोजगार प्रदान किया जाएंगा।
  • गरीब परिवारों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान की जाएंगी।
  • इस योजना के माध्यम से गरीब परिवारों की पारिवारिक आय बढ़ाई जाएंगी।
  • इस योजना के माध्यम से गरीब युवाओं और उनके परिवारों को सशक्त बनाया जाएंगा।

एक परिवार एक नौकरी योजना का लाभ:

  • राज्य के १५,००० युवाओं को सरकारी नौकरियां प्रदान की जाएंगी।

एक परिवार एक नौकरी योजना के लिए पात्रता:

  • यह योजना केवल सिक्किम राज्य में लागू होती है।
  • यह योजना केवल गरीब परिवारों के युवाओं के लिए लागू है।

एक परिवार एक नौकरी योजना के तहत नौकरी के लिए आवेदन कैसे करें:

  • एक परिवार एक नौकरी योजना के लिये कोई आवेदन पत्र नहीं है।
  • लाभार्थी को नौकरी के लिये आवेदन करने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • सिक्किम सरकार लाभार्थियों की पहचान करेगी और बिना किसी आवेदन के लाभार्थियों को नौकरियां मुहैया करेंगी।

एक परिवार एक नौकरी रोजगार सृजन योजना / भर्ती नीति:

  • विभिन्न सरकारी विभागों में गरीब युवाओं को १५,००० नौकरियां मुहैया कराई जाएंगी।
  • रोजगार एमआर और विज्ञापन-प्रसार आधार पर किया जाएंगा।
  • मुख्यमंत्री पवन कुमार द्वारा ऐतिहासिक नीति निर्णय है।
  • प्राथमिक रूप से इस योजना के लिए आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को प्राधान्य दिया जाएंगा।
  • गरीब परिवारों में से प्रत्येक एक सदस्य को  रोजगार प्रदान किया जाएंगा।
  •  उन सभी युवाओं को जिन्हें दिसंबर २०१८  में नौकरी नहीं दी जा सकती  है, उन युवाओं का मार्च २०१९ में  नौकरी के लिये विचार किया जाएंगा।
  • सरकार  इस योजना को लागू करने के लिये बहुत सावधानी बरत रही है, ताकि वास्तविक लाभार्थियों को नौकरियां मिल सके।
  • मुख्यमंत्री (सीएम) के फेसबुक पेज पर सीधे शिकायत दर्ज की जा सकती है।
  • मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों से अपील की है की वास्तविक लाभार्थियों को मदत प्रदान की जाएंगी।

अन्य महत्वपूर्ण योजनाएं: