मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति: अल्पसंख्यक से संबंधित मेधावी लड़कियों के लिए

भारत देश के अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी लड़कियों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति योजना मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जन्म शताब्दी के अवसर पर मौलाना आज़ाद शिक्षा संस्थान की स्थापना की गई थी। यह संस्थान समाज के शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्गों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्थापित एक स्वैच्छिक गैर-राजनीतिक, गैर-लाभकारी अंकन सामाजिक सेवा संगठन है। यह भारत सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी छात्राओं को पहचानना, बढ़ावा देना और उनकी सहायता करना है जो वित्तीय सहायता के बिना अपनी शिक्षा जारी नहीं रख सकते है। इस योजना के माध्यम से मेधावी लडकिया छात्रवृत्ति का इस्तेमाल विद्यालय / महाविद्यालय शुल्क का भुगतान, पाठ्यक्रम की पुस्तक खरीदने के लिए, पाठ्यक्रम के लिए स्टेशनरी / उपकरण खरीदने और बोर्डिंग / लॉजिंग शुल्क का भुगतान करने के लिए कर सकती है।

Maulana Azad National Scholarship For Meritorious Girl Student Belonging To Minorities (in English):

अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी लड़कियों के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति के लाभ:

  • ११ वीं और १२  वीं कक्षा की छात्रा को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • इस छात्रवृति के तहत छात्रा को १२,००० रुपये की राशि प्रदान की जाएंगी यानी ११ वी कक्षा के लिए ६,००० रुपये और १२ वी कक्षा के लिए ६,००० रुपये की छात्रवृति राशी प्रदान की जाएंगी।
  • छात्रा को १२ वी कक्षा की ६,००० रुपये की दूसरी किस्त ११ वीं कक्षा की उत्तीर्ण मार्कशीट और सत्यापन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के बाद जारी की जाएंगी।

अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी छात्राओं के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति का लाभ प्राप्त करने की पात्रता:

  • केवल राष्ट्रीय अल्पसंख्यक से संबंधित छात्रा (यानी मुस्लिम, ईसाई, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी) इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।
  • लड़की को किसी भी मान्यता प्राप्त केंद्र / राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित माध्यमिक विद्यालय प्रमाणपत्र परीक्षा (कक्षा १० वीं) में ५५% से कम अंक (कुल विषयों) नहीं होने चाहिए।
  • छात्रा की पारिवारिक की सभी स्रोतों से वार्षिक आय १ लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  • प्रवेश की पेशकश करने वाले विश्वविद्यालय / कॉलेज / संस्थान को केंद्र या राज्य स्तर या किसी अन्य सक्षम प्राधिकारी द्वारा सरकार द्वारा मान्यता दी जानी चाहिए।
  • यह एक बार की छात्रवृत्ति है, और स्थायी लाभार्थी के रूप में कोई दावा नहीं किया जाएगा। एक बार छात्रवृत्ति के लिए चयनित छात्र फिर से इसका लाभ नहीं उठा सकता है।
  • किसी अन्य माध्यम से छात्रवृत्ति प्राप्त करनी वाली छात्रा इस छात्रवृत्ति के लिए पात्र नहीं होंगी।

अल्पसंख्यकों से संबंधित मेधावी छात्राओं के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति के लिए आवश्यक दस्तावेज़:

  • छात्रा की पासपोर्ट आकर की तस्वीर
  • संस्था का सत्यापन का आवेदन पत्र
  • छात्र द्वारा आय प्रमाण पत्र की स्व-घोषणा
  • छात्र द्वारा समुदाय की स्व-घोषणा
  • पिछले शैक्षणिक मार्क शीट का स्वय सत्यापित प्रमाण पत्र आवेदन पत्र में भरना होंगा।
  • पिछले वर्ष के मार्क शीट का स्वय सत्यापित नवीनीकरण स्व-प्रमाणित प्रमाण पत्र आवेदन पत्र में भरना होंगा।
  • वर्तमान पाठ्यक्रम वर्ष की शुल्क रशीद जोड़नी होंगी।
  • छात्र के नाम पर बैंक खाते का प्रमाण(आयएफएससी, एमआयसीआर कोड)
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र एक साल के लिए वैध होना आवश्यक है।
  • आवासीय प्रमाण पत्र

आवेदन की प्रक्रिया:

  • आवेदन पत्र वेब साइट http://www.maef.nic.in से डाउनलोड किया जा सकता है। आवेदन पत्र की फोटोकॉपी का उपयोग स्वतंत्र रूप से किया जा सकता है। आवेदन के लिए कोई शुल्क / कोई अन्य राशि का भुगतान नहीं करना होंगा।
  • आवेदन पत्र छात्र द्वारा सीधे संस्थान को डाक द्वारा भेजा जा सकता है या संस्थान के कार्यालय में हाथ से भेजा जा सकता है।
  • किसी भी सेवा के लिए किसी से कोई शुल्क शुल्क नहीं लिया जाएंगा।
  • छात्रवृति के लिए स्वीकृति पत्र / चेक पंजीकृत द्वारा भेजे जाएंगे। निर्धारित कागजात / औपचारिकताओं को पूरा करने पर सफल उम्मीदवार के पते पर सीधे भेजे जाएंगे।

संपर्क विवरण:

  • योजना के बारे में किसी भी मदत या सवाल के लिए मौलाना अज़द शिक्षा फाउंडेशन (अल्पसंख्यक मंत्रालय, भारत सरकार) सामाजिक न्याय सेवा केंद्र, चेम्सफोर्ड रोड नई दिल्ली -११००५५ पते पर संपर्क करना होंगा।
  • फोन नंबर – ०११ – २३५८३७८८, २३५८३७८९
  • फैक्स नंबर  – ०११ – २३५६१९४५ 

संदर्भ और विवरण:

 

कल्पना चावला छात्रवृति योजना:

हिमाचल प्रदेश राज्य की तीन शीर्ष प्राथमिकताओं में से शिक्षा एक है। राज्य के कुल बजट का १९ प्रतिशत इस महत्वपूर्ण क्षेत्र पर खर्च किया जाता है। हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य के युवाओं के लिए संभव तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षा प्राप्त करने के लिए शिक्षा केन्द्रों को विकसित किया जा रहा है। हिमाचल प्रदेश राज्य में उच्च शिक्षा के लिए एक लाख से अधिक छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। विभिन्न छात्रवृत्ति योजनाओं के तहत छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार १४.३७ करोड़ रुपये खर्चा करती है। इस योजना का मुख्य उद्देश राज्य के छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस योजना के तहत १० + २ सभी अध्ययन समूह के  शीर्ष २००० मेधावी छात्राओं यानी विज्ञान, कला और वाणिज्य क्षेत्र की छात्राओं को हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड, धर्मशाला धाराओं द्वारा आपूर्ति की गई योग्यता सूची के अनुसार उत्तीर्ण अनुपात के आधार पर छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।

                                                                                   Kalpana Chawla Chhatravarty Yojana (In English):

कल्पना चावला छात्रवृति योजना के लाभ:

  • कल्पना चावला छत्रवर्ती योजना के माध्यम से राज्य के छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता के रूप में लाभ प्रदान किया जाएंगा।
  • राज्य के २००० मेधावी छात्राओं को १५,००० रुपये प्रति वर्ष छात्रवृति प्रदान की जाएंगी।

कल्पना चावला छात्रवृति योजना के लिए आवश्यक पात्रता और शर्तें:

  •  छात्र भारत देश और हिमाचल प्रदेश राज्य का नागरिक होना चाहिए।
  • छात्र को किसी भी अधिसूचित मान्यता प्राप्त संस्थानों में पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री / डिप्लोमा के स्तर पर संबंधित संस्थान द्वारा निर्धारित मानदंडों के अनुसार प्रवेश मिलना चाहिए।
  • उम्मीदवार को भारत सरकार की किसी भी अन्य योजना के तहत कोई छात्रवृत्ति का लाभ नहीं लेना चाहिए।
  •  छात्रवृत्ति डिग्री / डिप्लोमा / सर्टिफिकेट कोर्स के पूरा होने तक नवीनीकृत की जाएगी, बशर्ते इसमे कोई विफलता न हो।

कल्पना चावला छात्रवृति योजना को लागू करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • पासपोर्ट आकार की तस्वीर
  • आधार कार्ड की स्कैन की गई प्रत
  • हिमाचल प्रदेश का अधिवास प्रमाण पत्र
  • पिछले साल के उत्तीर्ण की गई परीक्षा का दाखला
  • वर्तमान बैंक खाते का विवरण
  • जाति का प्रमाण पत्र
  • प्राधिकरण से लिया गया आय प्रमाण पत्र
  • आयआरडीपी / बीपीएल का  प्रमाणपत्र
  • पोस्ट मैट्रिक के वर्ष का अंतराल होने पर हलफनामा
  • विश्वविद्यालय द्वारा अनुमोदित शुल्क संरचना
  • शुल्क भुगतान की रसीदें
  • चयन के लिए पत्र

आवेदन की प्रक्रिया:

  • छात्रवृत्ति आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं: http://hpepass.cgg.gov.in/NewHomePage.do
  • छात्र लॉगिन के लिए क्लिक करें और आवश्यक जानकारी भरें।
  • आईडी और पासवर्ड उत्पन्न होगा।
  • आईडी और पासवर्ड डालकर लॉगइन करें।
  • आवेदन पत्र  पर तस्वीर अपलोड करे  और आवश्यक जानकारी भरे।
  • उस आवेदन पत्र का प्रिंट आउट लें और उसे सभी दस्तावेजों के साथ स्कूल / संस्थान में जमा करें।

संपर्क विवरण:

  • छात्र संस्थान या कॉलेज से संपर्क कर सकते है, जहां वह शिक्षा प्राप्त कर रहा है।
  • उम्मीदवार को  एम. एस.  नेगी, जेटी निदेशक, उच्च शिक्षा / सरकारी अधिकारी छात्रवृत्ति, हिमाचल प्रदेश सरकार से संपर्क करना होंगा
  • ईमेल आयडी: hp@hp.gov.in
  • फोन नंबर: ०१७७-२६५२५७९
  • मोबाइल नंबर: +९१९४१८११०८४०
  • अधिक संपर्क विवरण के लिए उम्मीदवार संपर्क कर सकते है: http://hpepass.cgg.gov.in/NewHomePage.do?actionParameter=contactUs

संदर्भ और विवरण:

 

 

 

दुर्गाशक्ति वाहिनी छात्रा परिवाहन सुरक्षा योजना हरियाणा: छात्रो के लिए १४०० प्रति महिना तक नि:शुल्क बस सेवा

हरियाणा सरकार ने हरियाणा राज्य में लड़कियों (छात्राओं) के लिए दुर्गाशक्ति वाहिनी छात्रा परिवाहन सुरक्षा योजना शुरू की है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य स्कूल में पढ़ रही लड़कियों को स्कूल आने जाने के लिए मुफ्त, सुरक्षित और सब्सिडी आधारित व्यवस्था प्रदान करना है। इस योजना के तहत हरियाणा सरकार लड़कियों के स्कूल जाने के लिए मुफ्त में बस / टैक्सी / कार  की व्यवस्था प्रदान करेगी। “मारे हरियान की शान लड़का लड़की एक सामन” इस योजना का घोष वाक्य है।

Durgashakti Vahini Chatra Parivahan Suraksha Yojana (In English)

दुर्गाशक्ति वाहिनी छात्रा परिवाहन सुरक्षा योजना हरियाणा क्या है? हरियाणा राज्य में लड़कियों (छात्राओं) के लिए नि: शुल्क सुरक्षित यात्रा प्रदान करने के लिए एक योजना है।

दुर्गाशक्ति वाहिनी छात्रा परिवाहन सुरक्षा योजना कैसे काम करती है:

  • स्कूल प्रबंधन समिति, शिक्षक और माता-पिता सामूहिक रूप से लड़कियों को स्कूलों छोड़ने और घर वापस लेने के लिए व्यवस्था कर सकते है।
  • वे सामूहिक रूप से बस, मिनी-बस, कार, कैब, टैक्सी, ऑटो या जीप आदि किराए पर ले सकते  है।
  • चालक के पास वैध ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए ।
  • वाहन पंजीकृत होना चाहिए।
  • माता-पिता और शिक्षकों को चालक के बारे में पता होना चाहिए।
  • यदि व्यक्ति एक ही गांव से है तो उसे किराए पर रखा जा सकता है।

दुर्गाशक्ति वाहिनी छात्रा परिवाहन सुरक्षा योजना का उद्देश्य:

  • इस योजना के माध्यम से लड़कियों को सुरक्षा प्रदान करना।
  • हरियाणा राज्य के लड़कियों को स्कूल जाने और अध्ययन करने के लिए प्रोत्साहित करना।

पात्रता और कौन कर सकता आवेदन है?

  • हरियाणा राज्य की ९ वी से १२ वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़किया।
  •  हरियाणा राज्य में नि:शुल्क साइकिल योजना में लाभ प्राप्त करने वाली लडकिया इस योजना के लिए पात्र नहीं है।

दुर्गाशक्ति वाहिनी छात्रा परिवाहन सुरक्षा योजना का लाभ:

  • जिन लड़कियों को स्कूल आने जाने के लिए प्रतिदिन ६ किलोमीटर जाना पड़ता है उन्हें इस योजना के तहत ६०० रुपये प्रति माह दिए जायेंगे।
  • ८ किलोमीटर आने-जाने वाली लडकियोंको ८०० रुपये प्रति महीना।
  • १० किलोमीटर आने-जाने वाली लडकियोंको १००० रुपये प्रति महीना।
  • १२ किलोमीटर आने-जाने वाली लडकियोंको १२०० रुपये प्रति महीना।
  • १४ किलोमीटर आने-जाने वाली लडकियोंको १४०० रुपये प्रति महीना।

दुर्गाशक्ति वाहिनी छात्रा परिवाहन सुरक्षा योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

आवेदन पत्रों और आवेदन विवरण के लिए  स्कूलों से संपर्क करे। वे चरण-दर-चरण आवेदन प्रक्रिया के साथ योजना के सभी आवश्यक विवरण प्रदान करेंगे। राज्य परिवहन विभाग / बस स्टैंड भी योजना का विवरण प्रदान कर सकते है।

अन्य महत्वपूर्ण योजनाएं: