हिमायत योजना (एचएस) जम्मू-कश्मीर: बेरोजगार युवाओं के लिए प्रशिक्षण-सह-नियुक्ति कार्यक्रम 

August 14, 2018 | By hngiadmin | Filed in: लाभार्थी, ग्रामीण, योजनाएं, छात्र, खबरें, शिक्षा, बेरोज़गार, युवा, स्वयं-रोज़गार, जम्मू कश्मीर सरकार, जम्मू कश्मीर.
भारत सरकार, ग्रामीण विकास मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर राज्य में हिमायत योजना (एचएस) नामक योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, जम्मू-कश्मीर राज्य के बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण सह नियुक्ति प्रदान की जाएगी। कार्यक्रम के तहत ३ महीने अवधि का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएंगा।युवाओं को जिन क्षेत्रों में पाठ्यक्रम चाहिएं उन क्षेत्रों में वह पाठ्यक्रम को चुन सकते है।इस कार्यक्रम के तहत राज्य के युवाओं को प्रशिक्षण सह नौकरियां भी प्रदान की जाएंगी।इस योजना का मुख्य उद्देश  राज्य के युवाओं के लिए रोजगार प्रदान करना है। सरकार इस योजना के तहत राज्य के युवाओं को  प्रशिक्षण प्रदान करेंगी जो युवाओं नौकरी पाने या स्वयं रोजगार के लिए इस्तेमाल करने में मदत होंगी। सरकार का उद्देश्य अगले ५ साल में राज्य के कम से कम एक लाख युवाओं को प्रशिक्षित करना और उनमें से कम से कम ७५,००० युवाओं को नौकरियां प्रदान करना है। युवाओं की नियुक्ति जम्मू-कश्मीर और बाहेर के राज्य में की जाएंगी। अगले ५ साल में,  जम्मू-कश्मीर राज्य के सभी क्षेत्रों में प्रशिक्षण केंद्र स्थापित किये जाएंगे।
                                                                               Himayat Scheme (HS) Jammu & kashmir (In English)
हिमायत योजना (एचएस) क्या है:
भारत सरकार, जम्मू-कश्मीर राज्य के  ग्रामीण विकास योजना मंत्रालय द्वारा  जम्मू-कश्मीर राज्य में युवाओं को प्रशिक्षण और नियुक्ति प्रदान करने के लिए एक योजना है।
हिमायत योजना (एचएस) का उद्देश्य:
  • राज्य के बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण और नियुक्ति प्रदान की जाएंगी।
  • राज्य के युवाओं को एक स्थायी जीवन प्रदान किया जाएंगा।
  • जम्मू-कश्मीर राज्य के युवाओं और उनके परिवारों को सशक्त बनाया जाएंगा।
  • स्व-रोज़गार के अवसर निर्माण किये जाएंगे।
हिमायत योजना (एचएस) का लाभ:
  • प्रशिक्षण के पूरा होने के बाद छात्र को नौकरी में शामिल होने के बाद २,००० प्रति माह प्रदान किया जाएगा। यह पैसा छात्र को ६ महीने के बाद दिया जाएगा और जिसके लिए छात्रों को पिछले छह महीनों के लिए वेतन पर्ची की आवश्यकता होंगी। यह राशि युवाओं को नौकरी जारी रखने के लिए  १२००० रुपये   दिए गए हैं। इस राशि को पोस्ट प्लेसमेंट समर्थन कहा जाता है।
  • ६ या ९  महीने के प्रशिक्षण के पूरा होने पर १०००  रुपये पोस्ट-प्लेसमेंट समर्थन के रूप में  प्रति माह प्रदान किये जाएगे  क्योंकि इन छात्रों को उच्च भुगतान की  नौकरियां मिलने में मदत हो सके।
  • इन युवाओं को ८००० से १२,०००  रुपये के वेतन के साथ रखा जाएगा।
हिमायत योजना (एचएस) के लिए पात्रता:
  • यह योजना केवल जम्मू कश्मीर राज्य में युवाओं के लिए लागू है।
  • १८ से ३५  के बीच आयु वर्ग के लिये यह योजना लागू है।
  • स्कूल / कॉलेज छोड़ने वाले छात्रों को इस योजना के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।
हिमायत योजना (एचएस) किसे संपर्क करे और  हेल्पलाइन  नंबर:
  • वेबसाइट: himayat.org /
  • फोन नंबर: + ९१-९५९६६९३८०९
हिमायत योजना (एचएस) काकार्यान्वयन और विशेषताएं:
  • भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा  जम्मू-कश्मीर राज्य के लिए  योजना  शुरू की है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण और नियुक्ति प्रदान की जाएगी।
  • राज्य के युवाओं को ३ महीने का  प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • प्रशिक्षण निजी क्षेत्र की कंपनियों और गैर सरकारी संगठनों द्वारा प्रदान किया जाएगा।
  • ५ साल में राज्य के १ लाख  युवाओं को प्रशिक्षित किया जाएंगा और उनमें से कम से कम ७५% युवाओं को नौकरियां प्रदान की जाएंगी।
  • प्रशिक्षण केंद्र राज्य के सभी क्षेत्रों में स्थापित किये जाएंगे।
  • प्रशिक्षण के साथ-साथ नियुक्ति के दौरान प्रशिक्षुओं को समर्थन किया जाएंगा।
  • प्रशिक्षण में कंप्यूटर आधारित कौशल, मुलायम कौशल और अंग्रेजी संचार कौशल शामिल रहेंगा।
  • इस योजना के माध्यम से ७४,३४६  युवाओं को प्रशिक्षित किया गया है और ५६८२९  युवाओं नियुक्ति पर  रखा गया है।
अधिक विवरण और संदर्भ:
  • हिमायत योजना की आधिकारिक वेबसाइट:himayat.org
  • हिमायत योजना की अंग्रेजी विवरणिका
  • हिमायत प्रशिक्षण केंद्र

Tags: , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *