स्व-पुनर्विकास योजना: पुरानी इमारतों को दोबारा विकसित करने के लिए एक मुंबई जिला सहकारी बैंक योजना-

February 2, 2019 | By Yashpal Raut | Filed in: योजनाएं, शहरी, खबरें, आवास, महाराष्ट्र सरकार, महाराष्ट्र.

महाराष्ट्र राज्य के मुख्यमंत्री श्री देवेंद्र फड़नवीस ने राज्य में स्व-पुनर्विकास योजना शुरू की है। यह योजना हाउसिंग सोसाइटी के सदस्यों को अपनी पुरानी इमारतों को फिर से विकसित करने की अनुमति देगी। स्व-पुनर्विकास योजना वास्तव में मुंबई जिला सहकारी बैंक द्वारा एक पहल है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थी को बैंक वित्तीय सहायता प्रदान करेगी और सरकार पुनर्विकास की अन्य आवश्यकताओं के लिए मदत करेगी।

मुंबई में ऐसी हजारों पुरानी इमारतें है जो ४०-५० साल से अधिक पुरानी है और खतरनाक है।  हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाले कई व्यक्ति अपने अपार्टमेंट का पुनर्विकास करना चाहते है, लेकिन वित्तीय बाधा और सहायता की कमी के कारण वह कर नहीं पाते। उनमें से हाउसिंग सोसाइटी में कुछ लोग पहले से ही निजी बिल्डरों की मदत से अपने अपार्टमेंट का पुनर्विकास कर रहे है, लेकिन वे विभिन्न मुद्दों और समस्या  के कारण फंस गए है।

मुंबई जिला सहकारी बैंक और महाराष्ट्र सरकार का मानना ​​है कि स्व-पुनर्विकास योजना पुनर्विकास के दौरान डेवलपर्स और बिल्डरों की वजह से निवासियों को होने वाली परेशानियों को कम करेगी।

मुंबई जिला सहकारी बैंक द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में इस योजना का शुभारंभ किया गया था, बैंक के अध्यक्ष श्री प्रवीण दरेकर भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।

                                                                                                    Self-Redevelopment Scheme (In English):

स्व-पुनर्विकास योजना और अन्य विवरणों के लिए आवेदन कैसे करें:

  • म्हाडा (महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी), बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के साथ मिलकर हाउसिंग सोसाइटी के सदस्यों के लिए एकल खिड़की प्रणाली बनाएगी।
  • आवेदन किए गए फ्लैट / सोसाइटी मालिकों को म्हाडा / बीएमसी एकल खिड़की प्रणाली में आवेदन करने की आवश्यकता होगी।
  • म्हाडा / बीएमसी आवेदन प्रक्रिया में विभिन्न अनुमतियों और अनुमोदन के लिए प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए मदत करेगा।
  • अनुमोदित मुंबई जिला सहकारी बैंक आवेदकों के खातों में आवश्यक धन और जमा राशि प्रदान करेगा।
  • मुंबई जिला सहकारी बैंक स्व-पुनर्विकास ऋण नीति, अनुमतियों और प्रक्रियाओं के लिए कार्यशालाओं का आयोजन करेगा।
  • म्हाडा  फिर से विकास की निगरानी के लिए वास्तुकार (आर्किटेक्ट), सलाहकार और ठेकेदार का एक पैनल बनाएगा।

स्व-पुनर्विकास योजना नागरिकों को बिल्डरों के बिना अपनी संपत्तियों को फिर से विकसित करने में मदत करेगी और बिल्डरों से होने वाली परेशानियों, उत्पीड़न और निराशा से हाउसिंग सोसाइटी के सदस्यों को बचाएगा। हाउसिंग सोसाइटी के सदस्यों को अपने स्वयं के वास्तुकार (आर्किटेक्ट)  सलाहकार और ठेकेदार को चुन सकते है और समय पर पुनर्विकास कर सकते है। साल २०००  से अधिक परियोजनाएं रुकी हुई है क्योंकि बिल्डरों ने परियोजना को बीच में ही छोड़ दिया है।


Tags: , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *