स्मार्ट राशन कार्ड योजना (एसआरसीएस) पंजाब: नई आटा-दाल योजना के लिए पात्रता, आवश्यक दस्तावेज और आवेदन कैसे करें:

November 10, 2018 | By hngiadmin | Filed in: अन्न, पोषण एवं आहार, ग्रामीण, योजनाएं, खबरें, पंजाब सरकार, पंजाब.

पंजाब सरकार ने भारत सरकार के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत स्मार्ट राशन कार्ड योजना नामक नई अट्टा-दल योजना शुरू की है। इस योजना के तहत राशन बॉयोमीट्रिक प्रणाली के माध्यम से राशन वितरित किया जाएगा। इस योजना का मुख्य उद्देश यह है की राशन गरीबों और जरूरतमंद लाभार्थियों तक प्रदान किया जाएंगा और राशन वाटप प्रणाली को भ्रष्टाचार से बचाया जाएंगा। पंजाब राज्य में  १.४१ करोड़ लोगों को नई स्मार्ट राशन कार्ड योजना से फायदा होगा और योजना १ अप्रैल २०१८  से  शुरू की गयी है। सरकार आने वाले बजट  २०१८-१९  में इस योजना के लिए ५०० करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित करने की योजना बना रही है।

                                                                                          Smart Ration Card Scheme Punjab (In English)

स्मार्ट राशन कार्ड योजना (एसआरसीएस) पंजाब क्या है:

पंजाब सरकार द्वारा एक नई मजबूत आट्टा-दल योजना जिसके अंतर्गत आधार कार्ड  आधारित जैव-मेट्रिक प्रणाली का उपयोग करके राशन वितरित किया जाएगा।

स्मार्ट राशन कार्ड योजना (एसआरसीएस) लाभ:

  • पंजाब राज्य के १.४२ लोगों को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जाएगा।
  • लाभार्थी को गेहूं २ रुपये प्रति किलो के हिसाब से प्रदान किये जाएंगे।
  • नए मजबूत आधार आधारित बायो-मेट्रिक प्रणाली का  उपयोग करके राशन वितरित किया जाएगा।
  • लाभार्थी को गेहूं ३० किलो के पैकेट में दिया जाएगा।
  • लाभार्थी को ६ महीने के राशन (गेहूं) एक ही बार दिया जाएगा।
  • लाभार्थियों के घर पर राशन प्रदान किया जाएगा।
  • लाभार्थी उन बैगों को रख सकते है जिनमें राशन उन्हें दिया जाता है।
  • परिवार में परिवार के सदस्यों की संख्या पर कोई ऊपरी सीमा नहीं है, परिवार के हर सदस्य को प्रति माह ५ किलो गेहूं प्रदान किया जाएंगा।
  • इस योजना के तहत प्रत्येक लाभार्थी को हर महीने आधा किलो ग्राम दाल २० रुपये प्रति  किलो के हिसाब से प्रदान की जाएगी।
  • एक किलो ग्राम चीनी और १०० ग्राम चाय एसआरसीएस के तहत सब्सिडी दरों पर प्रदान  की जाएंगी

स्मार्ट राशन कार्ड योजना (एसआरसीएस) कैसे काम करती है:

  • लाभार्थियों को उचित मूल्य की दुकान पर राशन की उपलब्धता की जानकारी उनके मोबाइल पर संदेश( एसएमएस)  करके अधिसूचित किया जाएगा और यह भी बताया जाएगा  कि राशन कितने दिनों तक वितरित किया जाएगा।
  • लाभार्थी को अपने राशन कार्ड और आधार कार्ड को सरकारी राशन की दुकान में ले जाने की जरूरत है।
  • उन्हें जैव-मीट्रिक छापों (अंगूठे का छापा) प्रदान करने की आवश्यकता है।
  • लाभार्थी के आधार कार्ड के विवरण के आधार पर लाभार्थी को अपना राशन दिया जाएगा।

अधिक जानकारी:

  • स्मार्ट राशन कार्ड योजना (एसआरसीएस) पात्रता और मानदंड: यहां क्लिक करें
  • स्मार्ट राशन कार्ड स्कीम (एसआरसीएस) दावा पत्र: पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें
  • स्मार्ट राशन कार्ड स्कीम (एसआरसीएस) आपत्ति पत्र: यहां डाउनलोड करें
  • राष्ट्रिय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत स्मार्ट राशन कार्ड योजना
  • राज्य उपभोक्ता हेल्पलाइन
  • खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग एवं उपभोक्ता मामले में आधिकारिक वेबसाइट
  • पंजाब आवेदन(खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले का  विभाग)
  • सार्वजानिक वितरण प्रणाली हेल्पलाइन:१८००३००६१३१३

पंजाब सरकार एसआरसीएस के लिए केंद्रीकृत खरीद (डीसीपी) योजना के तहत अनाज खरीदती है और इसे २६९ समर्पित डीसीपी गोदामों में संग्रहित किया जाएगा। राशन राज्य भर में १६,७३८ उचित मूल्य की दुकानें (एफपीएस) के माध्यम से वितरित किए जाएंगे। अन्ना अंत्योदय योजना श्रेणी के परिवारों को प्रति माह ३५  किलोग्राम गेहूं मिलता है, जहां प्राथमिकता वाले घरेलू श्रेणी के लाभार्थियों को प्रति माह ५ किलो गेहूं मिलता है। राज्य सरकार हर साल ८.७० लाख मीट्रिक टन गेहूं वितरित करती है।

 

 

 


Tags: , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *