सांसद कृषि ऋण माफ़ी योजना:मध्य प्रदेश किसानों के लिए २ लाख रुपये तक फसल ऋण छूट दी गई –

December 18, 2018 | By Yashpal Raut | Filed in: कृषि, योजनाएं, किसान, मध्य प्रदेश सरकार, मध्य प्रदेश.

मध्य प्रदेश राज्य के नए नियुक्त मुख्यमंत्री ने सांसद कृषि ऋण माफ़ी योजना के तहत फसल ऋण में २ लाख रुपये की छूट दी जाएंगी।मध्य प्रदेश राज्य में कृषि ऋण में छूट देना कांग्रेस पार्टी का चुनाव का वादा था। उन्होंने घोषणा की यदि पार्टी सत्ता में आती है तो वे सरकारी गठन के  दिनों में किसानों के ऋण में छूट देंगे।

इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य सूखे के कारण प्रभावित किसानों और कृषि उपज की गिरती कीमतें के लिए किसानों की मदत करना है।सांसद कृषि ऋण छूट योजना के माध्यम से मध्य प्रदेश राज्य के किसानों का बोझ को दूर किया जाएंगा और उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।

                                                                                                 MP Farm Loan Waiver Scheme (In English)

सांसद कृषि ऋण माफ़ी योजना:

  • राज्य के किसानों को कृषि ऋण में २ लाख रुपये की छूट दी जाएंगी।
  • ३१ मार्च २०१८  को राष्ट्रीयकृत और सहकारी बैंकों से लिया गया सभी अल्पकालिक फसल ऋण में छूट दी जाएंगी।

सांसद कृषि ऋण माफ़ी योजना के लिए पात्रता / कृषि ऋण छूट के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

  • केवल मध्य प्रदेश राज्य के किसानों के लिए यह योजना लागू है।
  • केवल २ लाख रुपये तक ऋण के लिए छूट दी जाएंगी।
  • केवल फसल ऋण में छूट दी जाएंगी।
  • केवल राष्ट्रीयकृत और सहकारी बैंकों से लिया गया ऋण को माफ कर दिया जाएंगा।

मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा हस्ताक्षरित  सांसद कृषि ऋण माफ़ी

 मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा हस्ताक्षरित मध्यप्रदेश कृषि ऋण छूट का निर्णय पहले ही नई सरकार द्वारा लिया गया था और मुख्यमंत्री ने एक प्रमाणन लेने के एक घंटे के भीतर आदेश पर हस्ताक्षर किए। किसानों के कल्याण और कृषि विकास विभाग के मुख्य सचिव राजेश राजोजा ने इस योजना के कार्यान्वयन के लिए एक आदेश जारी किया है।

राहुल गांधी ने ७ जून को पिपलिया मध्य प्रदेश में एक रैली को संबोधित करते हुए घोषणा की थी कि यदि कांग्रेस सरकार सत्ता में आती है तो अगले १० दिनों में कृषि ऋण में छूट दी जाएंगी

संबंधित योजनाएं:


Tags: , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *