विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार (एसटीआई): गुजरात में सार्वजनिक क्षेत्र में स्टार्टअप्स के लिए प्रोत्साहन योजना –

गुजरात सरकार ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार (एसटीआई) नामक योजना के रूप में स्टार्टअप के लिए एक प्रोत्साहन योजना की घोषणा की है। यह योजना पायलट तैनाती और प्रदर्शनों के साथ अनुसंधान और विकास में स्टार्टअप के लिए सहायता प्रदान करेगा। यह योजना नवाचार निधि और स्टार्टअप्स का एक हिस्सा है, जो सार्वजनिक क्षेत्रों में काम कर रहे है, इस योजना के लिए पात्र है। इस योजना के माध्यम से स्टार्टअप उन तकनीकों पर काम कर रहे है, जो योजना के तहत राज्यों के नागरिकों के सबसे महत्वपूर्ण और आम मुद्दों को हल करती है।

योजना का प्राथमिक उद्देश्य स्टार्टअप्स को सशक्त बनाना है और उन्हें सफल बनाने में मदत करना है। इस योजना की घोषणा गुजरात सरकार के मुख्य सचिव जे एन सिंह ने की है। ५० करोड़ रुपये के समर्पित निधि विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार (एसटीआई) नीति के लिए प्रावधान किया गया है।

                                                                                  Science,Technology & Innovation (STI)  (In English)

विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नई खोज (एसटीआई) योजना क्या है: गुजरात सरकार द्वारा राज्य में  स्टार्टअप्स के लिए एक प्रोत्साहन योजना है।

विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नई खोज (एसटीआई) योजना का लाभ:

  • स्टार्टअप के साथ-साथ अनुसंधान और विकास में सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • पायलटों की तैनाती और प्रौद्योगिकियों के परीक्षण में सहायता की जाएंगी।

प्रौद्योगिकी प्रदर्शन और पायलट परिनियोजन कार्यक्रम:

  •  गुजरात विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर परिषद (जीयुजेसीओएसटी) द्वारा लागू किया जाने वाला एक कार्यक्रम है। स्टार्टअप जटिल सामाजिक और प्रौद्योगिकी के लिए समाधान तैनात कर सकता है और इसका परीक्षण कर सकते है।
  • सरकारों को समाधान पर वास्तविक प्रतिक्रिया मिलती है जिसके आधार पर वह स्टार्टअप द्वारा विकसित उत्पाद की मदत से समाधान के कार्यान्वयन का निर्णय ले सकती है।
  • सबसे आम समस्याओं में से कुछ हैं: ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, तरल अपशिष्ट प्रबंधन, शहरी योजना, शहरी गतिशीलता, प्रदूषण कमी आदि समस्याओं का स्टार्टअप समाधान निकालेंगे।

विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नई खोज (एसटीआई) योजना के लिए पात्रता:

  • कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में एसटीआई के लिए विभाग सुरु किया जाएंगा।
  • विश्वविद्यालय के विभागों में अनुसंधान प्रयोगशालाओं में वैज्ञानिक मौजूद रहेंगे।
  • छात्र
  • स्टार्टअप, एसएमई और उद्यमी

समाधान की व्यवहार्यता का परीक्षण करने में सरकारी सहायता के कारण नवाचार निधि अनुसंधान और विकास के लिए आवश्यक समय को कम कर देगा। जिन स्टार्टअप्स के पास पहले से ही आम समस्याओं का समाधान है, वे उन्हें प्रदर्शित कर सकते है और उनका विपणन कर सकते है।

समाधान कैसे चुने जाते हैं?

  • एक तकनीकी सलाहकार समिति का गठन किया जाएंगा।
  • यह सभी प्रस्तावों का मूल्यांकन करेगा।
  • फिर प्रस्तावों को उच्च शक्ति समिति के पास भेज दिया जाएंगा।
  • इसकी अध्यक्षता मुख्य सचिव करेंगे।
  • वह तैनात किए जाने वाले समाधानों को मंजूरी देगा।

संबंधित योजनाएं:

 

 

scholarships.gov.in – राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) एंड्रॉइड/मोबाइल ऐप: डाउनलोड करें और ऑनलाइन छात्रवृत्ति अप्लाई करे

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भारत देश के अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों के लिए राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) मोबाइल ऐप शुरू किया है। राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) मोबाइल ऐप विभिन्न सरकारी छात्रवृत्ति के बारे में विवरण प्रदान करता है और छात्र सामाजिक कल्याण योजनाओं और छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते है। भारत सरकार ने पहले ही राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) वेबसाइट scholarships.gov.in लांच की है। मोबाइल ऐप के साथ छात्रों को परेशानी मुक्त छात्रवृत्ति प्रणाली प्रदान की जाएगी। एनएसपी एंड्रॉइड/मोबाइल ऐप से सभी छात्र सरकारी छात्रवृत्ति के लाभ के लिए आवेदन कर सकते है और साथ ही विभिन्न जानकारिया प्राप्त करने के लिए पोर्टल और ऐप का उपयोग कर सकते है। छात्रवृत्ति राशि सीधे प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण / डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) प्रणाली  का उपयोग करके छात्रों के बैंक खातों में सीधे स्थानांतरित की जाएंगी।

National Scholarship Portal mobile app (In English)

राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) मोबाइल एप्लीकेशन: गूगल प्ले स्टोर से एनएसपी एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) मोबाइल ऐप सेवाएं:

  • एनएसपी मोबाइल एप से छात्र विभिन्न छात्रवृतीयोके लिए पात्रता देख सकते है।
  • एनएसपी मोबाइल एप के माध्यम से  छात्रवृत्ति और योजनाओं की जानकारी प्रदान करता है।
  • छात्र विभिन्न छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन / पंजीकरण  कर सकता है।
  • सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड कर सकते है।
  • छात्र आवेदन की स्थिति और छात्रवृत्ति राशि हस्तांतरण कर सकते है।
  • छात्र आवेदन स्थिति एसएमएस अलर्ट द्वारा प्राप्त कर सकते है।

राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल मोबाइल ऐप डाउनलोड और पंजीकरण कैसे करें?

  • गूगल प्ले स्टोर से सीधे राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल मोबाइल एंड्रॉइड ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें।
  • राष्ट्रीय छात्रवृत्ति आधिकारिक पोर्टल scholarships.gov.in पर जाएं और ऐप डाउनलोड करने के लिए वेबसाइट के ऊपरी दाएं कोने पर गूगल प्ले आइकन पर क्लिक करें।

  • ऐप इंस्टॉल करे और ऐप को खोलें, यहाँ नीचे सभी छात्रवृत्तियां दिखाई जाएगी।
  • यदि आप पहले से ही scholarships.gov.in के साथ पंजीकृत नहीं हैं, तो “Fresh Registration” पर क्लिक करें अन्यथा “Login” पर क्लिक करें, आप ऐप में लॉगिन करने के लिए अपने यूजरनाम और पासवर्ड का उपयोग करें।
  • लॉगिन करने के बाद उपयोगकर्ता सभी योजनाओं को देखने और उनके लिए आवेदन कर सकते है।

राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) मोबाइल ऐप की मुख्य विशेषताएं:

  • केंद्र और राज्य सरकारों, मंत्रालयों और विभागों द्वारा शुरू की गई सभी कल्याणकारी योजनाओं और छात्रवृत्ति के लिए एक ऐप है।
  • इस योजना के माध्यम  सभी छात्रों को समय-समय पर छात्रवृत्ति के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी।
  • छात्र को इस ऐप के माध्यम से नकली छात्रवृत्ति आवेदन वेबसाइट से बचाया जाएगा।
  • इस ऐप के तहत छात्रों को विविध सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • इस ऐप के तहत जरूरतमंद छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।
  • ऐप और वेबसाइट दूरस्थ क्षेत्रों, गांवों, पहाड़ी क्षेत्रों, उत्तर-पूर्व क्षेत्र के छात्रों के लिए करता है।
  • सरकारी छात्रवृत्ति योजनाओं के साथ लगभग ३ करोड़ छात्र को अभी तक लाभान्वित किया है।
  • इस योजना के तहत १,६३  करोड़ लड़कियों को  छात्रवृत्ति का लाभ मिला रहा है।
  • मुस्लिम लड़कियों की ड्रॉप आउट दर ७०% से ३५-४० % तक कम हुई है।