लोक कलाकार वद्य यंत्र क्रिया योजना, यूपी

यूपी सरकार राज्य में लोक कलाकारों की सहायता के लिए ‘लोक कलाकार वद्य यंत्र क्रिया योजना‘ लेकर आई है। राज्य निदेशालय संस्कृति ने योजना विवरण की घोषणा की। लोक कलाकारों पर महामारी के प्रभाव को देखते हुए राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू करने का निर्णय लिया है। महामारी लॉकडाउन स्थितियों के दौरान, स्थानीय लोक कलाकारों को बहुत नुकसान हुआ और वे संकट में हैं। इस प्रकार, सरकार ने उन्हें राज्य में सालाना १.२० लाख रुपये से कम कमाने वाले प्रत्येक कलाकार को २०,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया है। यह सहायता राशि आवश्यक उपकरण खरीदने के लिए लाभार्थी के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी। योजना के लिए कुल १ करोड़ रुपये की धनराशि अलग रखी गई है। यह कलाकारों के कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है।

अवलोकन:

योजना का नाम लोक कलाकार वद्य यंत्र क्रिया योजना
योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार
द्वारा घोषित राज्य निदेशालय संस्कृति
लाभार्थी राज्य के लोक कलाकार
लाभ बांसुरी, ढोलकी, तबला, ढोल आदि आवश्यक उपकरणों की खरीद के लिए २०,००० रुपये की वित्तीय सहायता।
उद्देश्य राज्य में लोक कलाकारों को लोक वाद्ययंत्र खरीदने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना जिससे उन्हें अपनी आजीविका कमाने में मदद मिल सके।

उद्देश्य और लाभ:

  • योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य भर के लोक कलाकारों को सहायता प्रदान करना है।
  • इसका उद्देश्य ३५ वर्ष से अधिक उम्र के कलाकारों को राहत देना है, जिन्हें काम का नुकसान हुआ है और महामारी की स्थिति के कारण संकट में हैं।
  • योजना के तहत कलाकारों को उनके उपकरण खरीदने के लिए २०,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • यह लाभार्थियों को उन उपकरणों को खरीदने में मदद करेगा जिन्हें वे वित्तीय बाधाओं के कारण खरीद नहीं पा रहे थे जिससे उन्हें आजीविका कमाने में मदद मिलेगी।
  • सहायता राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।
  • इस योजना का उद्देश्य लोक कलाकारों को तमाम कष्टों के बाद भी गरिमापूर्ण जीवन जीने के लिए प्रोत्साहित करना है।
  • यह सुनिश्चित करेगा कि कठिन समय में प्रभावित कलाकारों की बेहतरी और कल्याण के लिए है।

पात्रता:

  • कलाकार की आयु ३५ वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।
  • वार्षिक आय १.२० लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  • संस्कृति निदेशालय की ई-निर्देशिका में पंजीकृत होना चाहिए।

योजना विवरण:

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने महामारी के दौरान आने वाली कठिनाइयों को दूर करने में मदद करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए राज्य में कलाकारों के लिए लोक कलाकार वद्य यंत्र योजना योजना शुरू की।
  • इस योजना की घोषणा राज्य निदेशालय संस्कृति द्वारा की जाती है।
  • इस योजना के तहत राज्य में ३५ वर्ष से अधिक आयु के सभी लोक कलाकार जिनकी वार्षिक आय १.२० लाख रुपये से कम है, को कवर किया जाएगा।
  • महामारी और लॉकडाउन की स्थितियों के कारण कई कलाकारों को काम से हाथ धोना पड़ा है और वे संकट में हैं।
  • कई कलाकार जो उपकरण खरीदना चाहते हैं लेकिन आर्थिक तंगी के कारण नहीं कर सके।
  • इस योजना का उद्देश्य ऐसे कलाकारों को आवश्यक उपकरण खरीदने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करके उन्हें राहत देना है।
  • तबला, बांसुरी, ढोल, चिकारा, एकतारा, धाड़, दुग्गी, पिपरी आदि लोक वाद्ययंत्रों की खरीद के लिए कलाकारों को २०,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • यह सहायता राशि बैंक खातों में सीधे बैंक हस्तांतरण के माध्यम से प्रदान की जाएगी।
  • योजना के तहत आवेदन करने के लिए कलाकार को संबंधित कार्यालय में एक फॉर्म भरना होगा।
  • उसे प्राप्त धन से क्रय किये गये लिखत की रसीद भी विभाग में प्रस्तुत करनी होगी।
  • आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि ३० सितंबर, २०२१ है।
  • इस योजना का उद्देश्य कलाकारों को आवश्यक उपकरण खरीदने में मदद करना है जिसके माध्यम से वे अपनी  आजीविका कमा सकते हैं।
  • यह उन्हें संकट से मुक्त करता है और जीवित रहने के लिए उनका समर्थन करता है।
  • योजना के लिए अलग रखा गया कुल बजट १ करोड़ रुपये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *