रक्षा कर्मियों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति योजना

३ जनवरी, २०२२ को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा कर्मियों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति योजना शुरू की। इस योजना की शुरुआत रक्षा मंत्री ने अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए कल्पना चावला केंद्र के उद्घाटन के बाद बोलते हुए की थी। यह योजना तीनों सेवाओं अर्थात थल सेना, नौसेना और वायु सेना के रक्षा कर्मियों के बच्चों के लिए शुरू की गई है। इस योजना का उद्देश्य छात्रों को उच्च तकनीकी शिक्षा लेने के लिए प्रोत्साहित करना है। यह पूरे देश में रक्षा कर्मियों के वार्डों पर लागू होगा। इस योजना के तहत प्रदान की जाने वाली छात्रवृत्ति राशि छात्रों को उनके उच्च अध्ययन में मदद करेगी।

योजना अवलोकन:

योजना का नाम रक्षा कर्मियों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति योजना
योजना के तहत केन्द्रीय सरकार
योजना प्रकार छात्रवृत्ति योजना
द्वारा लॉन्च किया गया केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
लॉन्च की तारीख ३ जनवरी २०२२
लाभ उच्च अध्ययन के लिए वित्तीय सहायता
लाभार्थि थल सेना, नौसेना और वायु सेना के रक्षा कर्मियों के बच्चे
उद्देश्य छात्रवृत्ति के माध्यम से छात्रों को उनके उच्च अध्ययन में सहायता करना।
योजना बजट १० करोड़ रुपये

उद्देश्य और लाभ-

  • योजना का मुख्य उद्देश्य रक्षा कर्मियों के बच्चों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है।
  • यह योजना देश भर में सेना, नौसेना और वायु सेना सेवाओं में रक्षा कर्मियों के सभी वार्डों को कवर करती है।
  • इस योजना का उद्देश्य छात्रों को स्नातक, स्नातकोत्तर, डॉक्टरेट और पोस्ट-डॉक्टोरल पाठ्यक्रमों में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करना है।
  • छात्रवृत्ति राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी।
  • यह छात्रों को उच्च अध्ययन के लिए अपने खर्चों को पूरा करने में मदद करेगा।
  • इस योजना का उद्देश्य रक्षा कर्मियों के बच्चों का कल्याण सुनिश्चित करना है।

प्रमुख बिंदु –

  • केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ३ जनवरी, २०२२ को रक्षा कर्मियों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति योजना शुरू की।
  • रक्षा मंत्री ने इस अवसर पर बोलते हुए कल्पना चावला सेंटर फॉर स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी का उद्घाटन किया और फिर इस योजना का शुभारंभ किया।
  • यह योजना तीनों सेवाओं – सेना, नौसेना और वायु सेना तीनों सेवाओं के रक्षा कर्मियों के बच्चों को छात्रवृत्ति देने के लिए शुरू की गई है।
  • ड्यूटी के दौरान अपने पति को खोने वाले भूतपूर्व सैनिकों के साथ-साथ विधवाओं के बच्चों को भी कवर किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत स्नातक, स्नातकोत्तर, डॉक्टरेट और पोस्ट डॉक्टरेट पाठ्यक्रमों के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का उद्देश्य छात्रों को उच्च तकनीकी शिक्षा लेने के लिए प्रोत्साहित करना है।
  • यह पूरे देश में रक्षा कर्मियों के वार्डों पर लागू होगा।
  • इस योजना के तहत प्रदान की जाने वाली छात्रवृत्ति राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी।
  • इससे छात्रों को उच्च शिक्षा में मदद मिलेगी।
  • इस योजना का कुल बजट १० करोड़ रुपये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *