स्वास्थ्य प्रोफ़ाइल योजना, तेलंगाना

तेलंगाना सरकार अपनी महत्वाकांक्षी ‘स्वास्थ्य प्रोफ़ाइल योजना‘ शुरू करने वाली है। १९ अगस्त, २०२१ को नगर प्रशासन और शहरी विकास मंत्री के टी रामाराव ने इस योजना के लिए राज्य मंत्रिमंडल की मंजूरी की घोषणा की। इस योजना के तहत राज्य के सभी नागरिकों के स्वास्थ्य प्रोफाइल का डाटा बेस रखा जाएगा। यह रिकॉर्ड राज्य में सभी के स्वास्थ्य की जांच करने में मदद करेगा। यह सही समय पर सावधानियों और उपचारों को सक्षम करेगा। राज्य सरकार मौसमी बीमारियों, स्वास्थ्य बीमारियों आदि की दरों पर नजर रखेगी। वर्तमान में इस योजना को तेलंगाना राज्य के मुलुगु और राजन्ना सिरसिला जिलों में एक पायलट परियोजना के रूप में शुरू करने की योजना है।

योजना अवलोकन:

योजना का नाम स्वास्थ्य प्रोफ़ाइल योजना
योजना के तहत तेलंगाना सरकार
द्वारा अनुमोदित तेलंगाना राज्य मंत्रिमंडल
घोषणा द्वारा नगर प्रशासन और शहरी विकास मंत्री के टी रामा राव
घोषणा की तिथि १९ अगस्त, २०२१
योजना प्रकार स्वास्थ्य योजना
प्रमुख उद्देश्य राज्य में सभी के स्वास्थ्य की जांच करना जिससे उनकी स्वास्थ्य देखभाल और कल्याण सुनिश्चित हो सके।

उद्देश्य और लाभ:

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में सभी के अच्छे स्वास्थ्य का रखरखाव सुनिश्चित करना है।
  • इस योजना के तहत नागरिकों के स्वास्थ्य रिकॉर्ड का एक डेटाबेस रखा जाएगा।
  • यह सही समय पर सावधानियों और उपचारों को सक्षम करेगा।
  • मौसमी बीमारियों, मधुमेह, हाई या लो बीपी जैसी स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों पर नजर रखी जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से दर्ज किए गए डेटा राज्य सरकार को निवासियों के लिए नई प्रासंगिक योजनाओं की योजना बनाने में मदद करेंगे।
  • यह योजना निवासियों के जीवन और स्वास्थ्य के संतुलन को बनाए रखने में मदद करेगी।

प्रमुख बिंदु:

  • स्वास्थ्य प्रोफ़ाइल योजना तेलंगाना सरकार की एक महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य योजना है जो जल्द ही राज्य में शुरू होने वाली है।
  • राज्य कैबिनेट ने जून महीने में इस योजना को मंजूरी दी थी।
  • नगर प्रशासन और शहरी विकास मंत्री के टी रामाराव ने १९ अगस्त, २०२१ को योजना के विवरण की घोषणा की।
  • इस योजना के तहत राज्य के सभी नागरिकों के स्वास्थ्य प्रोफाइल का डाटा बेस तैयार किया जाएगा।
  • यह रिकॉर्ड राज्य में सभी के स्वास्थ्य की जांच करने में मदद करेगा।
  • विभिन्न आवश्यक रोकथाम, उपचार आदि प्रदान किए जा सकते हैं।
  • राज्य सरकार इस योजना के तहत एकत्रित आंकड़ों के आधार पर लोगों को लाभान्वित करने के लिए प्रासंगिक योजनाएँ बना सकती है।
  • इस योजना को वर्तमान में तेलंगाना राज्य के मुलुगु और राजन्ना सिरसिला जिलों में पायलट आधार पर शुरू करने की योजना है।
  • इन जिलों में योजना के क्रियान्वयन की अवधि के दौरान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी सभी निवासियों का विवरण एकत्र करने के लिए घर-घर जाकर सर्वेक्षण करेंगे।
  • सर्वेक्षण के दौरान जब भी आवश्यकता होगी रक्त और मूत्र के नमूने भी एकत्र किए जाएंगे।
  • अतिरिक्त सहायता की स्थिति में राज्य सरकार निदान केन्द्रों तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को सेवाएं प्रदान करने के लिये उपलब्ध कराएगी।
  • एकत्र किए गए डेटा को बनाए रखा जाएगा और आवश्यकतानुसार आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।
  • जल्द ही इसे सभी नागरिकों को शामिल करते हुए पूरे राज्य में विस्तारित करने की योजना है।
  • यह योजना राज्य के सभी निवासियों के कल्याण को सुनिश्चित करते हुए स्वास्थ्य देखभाल पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

सीईओ  तेलंगाना मतदाता सूची २०१९: तेलंगाना मतदाता सूची में अपना नाम जांचें

सीईओ तेलंगाना ने आम चुनाव २०१९ के लिए कमर कस ली है। उन्होंने आगामी लोकसभा चुनावों के लिए अंतिम मतदाता सूची तैयार कर ली है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट www.ceotelangana.nic.in पर सभी चुनाव संसाधनों को ऑनलाइन शुरू किया है। मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में ऑनलाइन देख सकते है और अपना मतदाता बूथ भी पा सकते है। चुनाव आयोग यह सुनिश्चित करना चाहता है कि मतदाताओं को सभी सहायता उपलब्ध होनी चाहिए ताकि सभी योग्य मतदाता मतदान कर सकें।

                                                                                          CEO Telangana Electoral Roll 2019 (In English):

मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) तेलंगाना

  • आधिकारिक वेबसाइट: www.ceotelangana.nic.in
  • सीईओ तेलंगाना हेल्पलाइन: १९५० (सुबह १०:३०  बजे से शाम ५  बजे तक)
  • पीडीएफ निर्वाचक नामावली: डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें
  • मतदाता सूची में अपना नाम खोजें: प्रत्यक्ष लिंक के लिए यहां क्लिक करें

सीईओ तेलंगाना मतदाता सूची में अपना नाम कैसे जांचें?

  • तेलंगाना के सीईओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें
  • मेनू पर अपने माउस कर्सर को लेके जाए अपना नाम खोजें> विधानसभा क्षेत्र> नाम आधारित खोज या सीधे लिंक के लिए यहां क्लिक करें   आपका नाम और विवरण या ईपीआईसी नंबर के साथ खोज सकते है। (मतदाता पहचान पत्र नंबर), उनमें से किसी एक को चुनें।

नाम से सीईओ तेलंगाना मतदाता सूची में अपना नाम जांचें (स्रोत: ceotelangana.nic.in)

  • ईपीआईसी नंबर  (सीईओ: ceotelangana.nic.in) द्वारा सीईओ तेलंगाना मतदाता सूची में अपना नाम जांचें।
  • आवश्यक विवरण दर्ज करें और अपना मतदाता विवरण प्राप्त करने के लिए खोज बटन पर क्लिक करें।

पीडीएफ प्रारूप में सीईओ तेलंगाना मतदाता सूची डाउनलोड करें:

  • सीईओ तेलंगाना के आधिकारिक पोर्टल पर जाने के लिए यहां क्लिक करें
  • पीडीएफ लिंक पर अपना कर्सर ले जाएं> विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र या प्रत्यक्ष लिंक के लिए यहां क्लिक करें
  • अपने जिले, विधानसभा क्षेत्र का चयन करें और फिर गेट मतदान केंद्र बटन पर क्लिक करें।

सीईओ तेलंगाना मतदाता सूची जिलेवार, विधानसभा क्षेत्रवार पीडीएफ प्रारूप में डाउनलोड करें (स्रोत: ceotelangana.nic.in)

  • मतदान केंद्रों की सूची प्रदर्शित की जाएगी, सीईओ  तेलंगाना मतदाताओं की सूची जिलेवार, पीडीएफ प्रारूप में विधानसभा क्षेत्रवार डाउनलोड करने के लिए मातृभाषा सूची और परिशिष्ट लिंक पर क्लिक करें।

 

अम्बेडकर प्रवासी विद्या निधि

तेलंगाना सरकार ने राज्य के अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना शुरू की है जिसे अम्बेडकर प्रवासी विद्या निधि कहा जाता है। योजना के तहत छात्रों को विदेश में अध्ययन करने के लिए अनुदान दिया जाएंगा। तेलंगाना सरकार के समाज कल्याण विभाग ने इस योजना को लागू किया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के छात्रों को शिक्षा के समान अवसर प्रदान करना है।

                                                                                          Ambedkar Overseas Vidhya Nidhi (In English)

अम्बेडकर प्रवासी विद्या निधि

  • राज्य: तेलंगाना
  • लाभ: विदेशी विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति
  • लाभार्थी: अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति श्रेणियों के छात्र
  • आधिकारिक वेबसाइट: www.telanganaepass.cgg.gov.in

लाभ:

  • छात्रों को शिक्षा शुल्क, रहने के खर्च, वीजा और इकोनॉमी क्लास एयर-टिकट के लिए १० लाख रुपये की छात्रवृत्ति
  • राष्ट्रीयकृत बैंकों से ५ लाख रुपये तक शैक्षिक ऋण

छात्रवृत्ति के लिए पात्रता:

  • यह योजना तेलंगाना राज्य के छात्रों के लिए ही लागू है।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति श्रेणियों के छात्रों के लिए ही यह योजना लागू है।
  • आय सीमा: आवेदक की पारिवार की वार्षिक आय २.५ लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  • आयु सीमा: आवेदन की आयु १ जुलाई तक ३५ साल से कम होनी चाहिए।
  • शिक्षा: पात्रता परीक्षा में छात्रों को कम से कम ६०% अंक होने चाहिए।
  • एक परिवार से एक ही बच्चे को छात्रवृत्ति दी जाएगी।
  • आवेदनकर्ता के पास वैध टीओईएफएल / आईईएलटीएस और जीआरई / जीएमएटी परीक्षा का स्कोर होना चाहिए।
  • आवेदक के पास विदेशी विश्वविद्यालय प्रवेश का प्रस्ताव होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेजों की सूची:

  • स्कैन की गई तस्वीर
  • पासपोर्ट की प्रति
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • इ-पासपोर्ट पहचान पत्र का नंबर
  • निवासी प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • परिवार का आय प्रमाण पत्र
  • सभी पात्रता परीक्षा की गुण पत्रिका
  • आवेदनकर्ता के पास वैध टीओईएफएल / आईईएलटीएस और जीआरई / जीएमएटी परीक्षा का स्कोर होना चाहिए
  • विदेशी विद्यालय प्रवेश का प्रस्ताव पत्र
  • आयकर आकलन की प्रति
  • राष्ट्रीयकृत बैंक पासबुक की प्रति

पात्र देश: संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर और कनाडा आदि देश इस योजना के लिए पात्र है।

अनुसूचित जाति (एसी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के छात्रों लिए अंबेडकर प्रवासी विद्या निधि ऑनलाइन आवेदन और स्थिति कैसे जाँच करे?

  • अम्बेडकर प्रवासी विद्या निधि के पंजीकरण में जाने के लिए यहाँ क्लिक करें।
  • आवेदन पत्र को पूरी तरह से भरें।
  • सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें।
  • आवेदन जमा करें और भविष्य के संदर्भ के लिए आवेदन नंबर को नोट करे।
  • आवेदन की स्थिति की जांच करने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आवेदन नंबर के साथ आवश्यक विवरण प्रदान करें और विवरण प्राप्त करें।

महात्मा ज्योतिबा फुले प्रवासी विद्या निधि योजना

तेलंगाना सरकार ने राज्य के बीसी और ईबीसी छात्रों के लिए महात्मा ज्योतिबा फुले प्रवासी विद्या निधि योजना शुरू की है। इस योजना के माध्यम से राज्य के पिछड़े एवं अतिपिछड़े छात्रों को विदेश में अध्ययन के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी। राज्य के पिछड़े समुदाय के सभी छात्र इस योजना के तहत पात्र है। इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य बीसी और ईबीसी छात्रों को शिक्षा के समान अवसर प्रदान करना है। सरकार चयनित लाभार्थियों को ट्यूशन फीस, एक तरफा इकोनॉमी क्लास एयर टिकट, और वीज़ा शुल्क के लिए अनुदान प्रदान करती है।

Mahatama Jyothiba Phule Overseas Vidhya Nidhi(In English)

 महात्मा ज्योतिबा फुले प्रवासी विद्या निधि योजना

  • राज्य: तेलंगाना
  • लाभ: उच्च शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता
  • लाभार्थी: पिछड़े वर्ग के छात्र
  • आधिकारिक वेबसाइट: www.telanganaepass.gov.in

लाभ:

  • छात्रों को २० लाख रुपये तक का अनुदान दिया जाएंगा।
  • अनुदान में ट्यूशन फीस, इकोनॉमी क्लास एयर-टिकट और वीज़ा शुल्क शामिल रहेंगा।

पात्रता:

  • केवल तेलंगाना राज्य के स्थायी निवासी छात्र इस योजना के लिए पात्र है।
  • छात्रों के परिवार की वार्षिक आय ५ लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • राज्य के केवल बीसी और ईबीसी छात्रों के लिए यह योजना लागू है।
  • आवेदनकर्ता के पास वैध टीओईएफएल / आईईएलटीएस और जीआरई / जीएमएटी परीक्षा का स्कोर होना चाहिए।
  • टीओईएफएल: ८०
  • आईईएलटीएस: ६.५
  • जीआरई: २८०
  • जीएमएटी: ५५०
  • आयु सीमा: आवेदन की वर्ष १ जुलाई को कम से कम ३० साल की आयु के लिए।
  • छात्र के पास विदेशी विश्वविद्यालय का प्रवेश प्रस्ताव पत्र होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेजों की सूची:

  • परिवार का आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • निवासी  प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट की प्रति
  • सभी पात्रता परीक्षा की गुण पत्रिका
  • बैंक पासबुक की प्रति
  • आयकर आकलन की प्रति
  • स्कैन की गई तस्वीर
  • प्रवेश प्रस्ताव पत्र

संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, सिंगापुर, जर्मनी, न्यूजीलैंड, जापान, फ्रांस, और दक्षिण कोरिया आदि जैसे देशो के विश्वविद्यालय इस योजना का का हिस्सा है। इच्छुक छात्र इन देशों के अधिकांश मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों में आवेदन कर सकते है।

महात्मा ज्योतिबा फुले प्रवासी विद्या निधि योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें
  • आवेदनकर्ता खुदको  पंजीकृत करे।
  • आवेदन पत्र को पूरी तरह से भरे।
  • आवेदक तस्वीर के साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन की हुई प्रतियाँ अपलोड करें।
  • आवेदन पूरा करने के लिए आगे के निर्देशनों का पालन करें

महात्मा ज्योतिबा फुले प्रवासी विद्या निधि की आवेदन की स्थिति जाँच करे:

  • आवेदक अपने आवेदन स्थिति की जांच और चयनित छात्रों की सूची को ईएपीएस की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन देख सकते है।
  • यहां क्लिक करें और आवेदन नंबर के साथ आवश्यक विवरण दर्ज करें और विवरण प्राप्त जानकारी बटन  पर क्लिक करें।

बेरोजगारी भत्ता योजना तेलंगाना:

तेलंगाना सरकार ने २२ फरवरी २०१९  को राज्य विधानसभा में अपने बजट २०१९-२० की घोषणा की है। तेलंगाना सरकार ने बेरोजगार युवाओं के लिए एक बेरोजगारी भत्ता योजना का प्रस्ताव दिया है। राज्य के बेरोजगार युवाओं को ३,०१६ रुपये प्रति माह का बिरोजगारी भत्ता प्रदान किया जाएगा। वित्त मंत्रालय का कार्यभाल संभालने वाले तेलंगाना राज्य के मुख्यमंत्री ने बजट को पेश किया है। यह एक वोट-ऑन-अकाउंट बजट है।

राज्य के बेरोजगार युवाओं के लिए वित्तीय सहायता उन्हें खुद को बनाए रखने में मदत करेगी जबकि वे नौकरिया की तलाश भी कर सकेंगे।

                                                                   Unemployment Allowance Scheme Telangana (In English):

 बेरोजगारी भत्ता योजना तेलंगाना

  • राज्य: तेलंगाना
  • लाभ: बेरोजगारी भत्ता
  • लाभार्थी: बेरोजगार युवा

 लाभ:

  • तेलंगाना राज्य के बेरोजगार युवाओं को बिरोजगारी भत्ता प्रदान किया जाएगा।
  •  राज्य के बेरोजगार युवाओं को ३,०१६ रुपये प्रति माह का बिरोजगारी भत्ता प्रदान किया जाएगा।

पात्रता मापदंड:

  • यह योजना केवल बेरोजगार युवाओं के लिए लागू है।
  • यह योजना केवल तेलंगाना राज्य के स्थायी निवासियों के लिए लागू है।

नोट: आयु सीमा, परिवार की आय सूची और अन्य मानदंड की घोषणा की जानी बाकी है। सरकार ने सिर्फ इस योजना की घोषणा की है। योजना के औपचारिक रूप से शुरू होने के बाद तेलंगाना बेरोजगारी भत्ता योजना के लिए आवेदन पत्र और आवेदन प्रक्रिया उपलब्ध होगी।

तेलंगाना सरकार ने बेरोजगारी भत्ते के लिए १,८१० करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है। राज्य के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने बजट पेश किया है। उन्होंने कई सामाजिक कल्याण योजनाओं की घोषणा की है और विभिन्न अन्य योजनाओं के बजट में वृद्धि की है। उन्होंने रायथु बंधु योजना के साथ किसानों को दी जाने वाली वित्तीय सहायता में वृद्धि का प्रस्ताव दिया है। बजट में कृषि ऋण माफी की भी घोषणा की गई है। प्रस्तावित कृषि ऋण माफी योजना के तहत राज्य के किसानों ने ११  दिसंबर २०१८ से पहले लिए गये १ लाख रुपये तक के फसल ऋण माफ कर दिया गया है। राज्य में किसान के कर्ज माफी के लिए ६,००० करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है।

 

तेलंगाना खेत ऋण माफी:

तेलंगाना सरकार ने अपना बजट २०१९-२० पेश किया है। तेलंगाना राज्य के मुख्यमंत्री जिनके पास वित्त विभाग का कारभार है, उन्होंने इस बजट को पेश किया है। राज्य के मुख्यमंत्री ने इस योजना के तहत राज्य के जिन किसानों ने ११ दिसंबर २०१८ के पहले १ लाख रुपये तक का फसल ऋण लिया है,उन सभी किसानों का खेत ऋण माफ कर दिया जाएगा। इस योजना के लिए ६,००० करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है। तेलंगाना बजट २०१९-२० एक वोट-ऑन-अकाउंट बजट है और २२  फरवरी २०१९ को राज्य विधान सभा में इस बजट को प्रस्तुत किया गया है।

चुनाव २०१८  में तेलंगाना राज्य के किसानों का कृषि ऋण माफ़ करना तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) का चुनावी वादा था। सरकार के पास पहले से ही राज्य में किसानों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं है। इस योजना जैसी एक योजना है जिसे रायथु बंधु योजना कहा जाता है। राज्य के किसानों को प्रति वर्ष ८,००० रुपये  प्रति एकड़ की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी। सरकार ने योजना के तहत वित्तीय सहायता में वृद्धि का भी प्रस्ताव दिया है। राज्य के किसानों को वर्तमान में ४,००० रुपये प्रति एकड़ बुवाई के मौसम में प्रदान किये जाएंगे। सरकार ने ५,००० रुपये प्रति एकड़ हर मौसम यानी (खरीफ और रब्बी) मौसम मिलके हर साल १०,००० रुपये प्रति एकड़ की वित्तीय सहायता प्रदान करने का प्रस्ताव दिया है।

                                                                                                  Telangana Farm Loan Waiver (In English):

  •  खेत ऋण माफी योजना
  • राज्य: तेलंगाना
  • लाभ: राज्य के जिन किसानों के ११  दिसंबर २०१८ से पहले १ लाख रुपये तक का फसल ऋण लिया है, वह फसल ऋण माफ़ हो जाएंगा।
  • लाभार्थी: तेलंगाना राज्य के किसान
  • बजट: ६,००० करोड़ रुपये

तेलंगाना खेत ऋण माफी योजना पात्रता मानदंड:

  • यह योजना केवल तेलंगाना राज्य के निवासियों के लिए लागू है।
  • केवल किसानों द्वारा लिए गये कृषि ऋण के लिए यह योजना लागू है।
  • फसल ऋण माफ़ी केवल ११  दिसंबर २०१८ से पहले लिये गये फसल के लिए लागू होती है।

तेलंगाना राज्य के मुख्यमंत्री ने बेरोजगारी भत्ते की भी घोषणा की है। राज्य के बेरोजगार युवाओं को ३,०१६ रुपये प्रति माह प्रदान किया जाएंगा। आसरा पेंशन भी १,००० रुपये प्रति माह से बढ़ाकर २०१६ रुपये प्रति माह कर दी है। आसरा पेंशन वृद्ध, विधवाओं, एकल महिलाओं, बीड़ी श्रमिकों, फाइलेरिया से पीड़ित लोगों, हथकरघा श्रमिकों और ताड़ी-टापरों को प्रदान की जाती है।

प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई):

प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई) साल २०१४ में अपने पहले स्वतंत्रता दिवस भाषण पर भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया मिशन है। इस मिशन को शुरू करने का उद्देश्य बैंकिंग बचत और जमा खातों में बीमा,पेंशन और डेबिट / क्रेडिट कार्ड सेवाओं को प्रदान करना है। इस योजना के तहत उपयोगकर्ताओं को शून्य शेष राशि के साथ एक बैंक खाता खोलने की अनुमति दी जाती है और उन्हें रुपये डेबिट कार्ड दिया जाता है। बैंकिंग सेवाओं को इतनी आसानी से उपलब्ध करना प्रधान मंत्री जन-धन योजना का मुख्य उद्देश है।इस योजना के तहत एक हफ्ते की अवधि में अधिकांश बैंक खातों को खोलने का गिनीज विश्व रिकॉर्ड बना है  और एक बड़ी उपलब्धि यह है कि १० फरवरी, २०१६ तक  इस योजना के तहत २००  मिलियन बैंक खाते खोले जा रहे हैं और ३२३.७८ अरब जमा किये गये हैं। यह योजना बैंकिंग उद्योग के लिए एक बड़ी सफलता बन गई है।

प्रधान मंत्री जन-धन योजना के लाभ:

  • शून्य शेष राशि खाता: इस योजना के तहत उपयोगकर्ताओं को कोई भी राष्ट्रीयकृत बैंक खाता खोलने की अनुमति है।
  • डेबिट कार्ड सेवा: लाभार्थी को शून्य शेष राशि खाते के साथ रुपये डेबिट कार्ड की सेवा प्रदान की जाती है।
  • आकस्मिक मृत्यु बीमा:  लाभार्थी की आकस्मिक मौत होने पर खाताधारक के पद उम्मीदवार को १,००,००० रुपये बीमा राशी प्रदान की जाती है।
  • जीवन बीमा कवर: २६ जनवरी २०१५ तक खोले गए सभी खातों को अतिरिक्त ३०,००० रुपये जीवन बीमा राशी दी जाएगी।
  • ओवरड्राफ्ट की अनुमति: लाभार्थी खाता खोलने के छह महीने के बाद ५००० रुपये का ओवरड्राफ्ट कर सकते हैं।   
  • ऑनलाइन बैंकिंग: डिजिटलीकरण के साथ प्रधानमंत्री जन-धन योजना में भी सभी खाते को ऑनलाइन बैंकिंग सुविधाओं का आनंद लेने की अनुमति है।

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के लिए पात्रता:

  • भारतीय राष्ट्रीयता वाला कोई भी व्यक्ति जन-धन योजना के लिए पात्र है।
  • १० साल की आयु का कोई भी व्यक्ति खाता खोलने के लिए पात्र है लेकिन नाबालिगों को अपने खाते का प्रबंधन करने के लिए अभिभावक होना चाहिए।
  • अगर व्यक्ति के पास राष्ट्रीयता का कोई सबूत नहीं है लेकिन बैंक अनुसंधान शोध पर वह व्यक्ति भारतीय पाया जाने पर इस योजना के लिए पात्र है।
  • लाभार्थी का पहले से ही राष्ट्रीयकृत बैंक में बचत खाता है  वह अपना बचत खाता प्रधानमंत्री जन-धन योजना में स्थानांतरित कर सकता है और इस योजना लाभ ले सकता है।

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • पते का सबूत  
  • पासपोर्ट आकार की फोटोग्राफ
  • सरकार द्वारा प्रमाणीकरण किया गया पहचान प्रमाण पत्र  

प्रधानमंत्री जन-धन योजना योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए किससे संपर्क करना है और कहां से संपर्क करना है:

लगभग सभी राष्ट्रीयकृत बैंक (एसबीआई बैंक , बैंक ऑफ महाराष्ट्र, पंजाब नेशनल बैंक, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, एक्सिस बैंक  और अन्य राष्ट्रीयकृत बैंक ) वहां हैं जहां कोई इस योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकता है।

योजना के लिए नामांकन के लिए ऑनलाइन फॉर्म:

प्रधान मंत्री जन-धन योजना योजना के लिए आवेदन पत्र और प्रक्रियाएं किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंकों में बहुत अच्छी तरह से समझाई गई हैं।

  • हिंदी में प्रपत्र: http://www.pmjdy.gov.in/files/forms/account-opening/hindi.pdf  
  • अंग्रेजी में प्रपत्र: http://www.pmjdy.gov.in/files/forms/account-opening/English.pdf

विवरण और अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों के बारे में और जानने के लिए निचे दिए लिंक पर जाएं

विवरण: 

  • http://www.pmjdy.gov.in/

संबंधित योजनाए:

  • प्रधानमंत्री जन-धन योजना

तेलंगाना में मुस्लिम दुल्हन के लिए शादी मुबारक योजना:

तेलंगाना सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने गरीब मुस्लिम लड़कियों के लिए एक उपन्यास योजना ” शादी मुबारक” योजना की घोषणा की है। तेलंगाना राज्य में जिन परिवार के वार्षिक आय कम है,उन परिवार के लिए शादी मुबारक योजना बहुत फायदेमंद है।यह योजना अल्पसंख्यक समुदाय के विकास के लिए एक अच्छी पहल है, क्योंकि अल्पसंख्यक समुदाय में कुछ गरीब लोग  है जिनके पास लड़की की शादी की व्यवस्था करने के लिए ज्यादा पैसा नहीं होते। तेलंगाना सरकार ने लड़की के माता-पिता को अपनी बेटी की शादी करने में मदत करने के लिए पैसे उपलब्ध कराकर एक सही कदम उठाया है। यह हर माता-पिता का सपना है कि उनके लड़की का सही समय पर सही व्यक्ति के साथ शादी हो जाये। तेलंगाना सरकार ने गरीब मुस्लिम लड़कियों के विवाह के लिए मुस्लिम परिवारों का समर्थन करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

                                                 Shadi Mubarak Scheme For Muslim Brides In Telangana (In English)

मुस्लिम दुल्हन के लिए शादी मुबारक योजना के लाभ:

  • मुस्लिम दुल्हन को शादी मुबारक योजना के तहत वित्तीय सहायता के रूप में छात्रवृत्ति प्रदान की जाएंगी।
  • ५१,००० रुपये की वित्तीय सहायता विवाह के समय मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित हर अविवाहित लड़की को प्रदान की जाएंगी।

मुस्लिम दुल्हन के लिए शादी मुबारक योजना लागू करने के लिए आवश्यक पात्रता और शर्तें:

  •  अविवाहित लड़की अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित होनी चाहिए।
  • अविवाहित लड़की तेलंगाना राज्य की निवासी होनी चाहिए।
  • अविवाहित लड़की को विवाह के समय १८ साल की आयु पूरी होनी चाहिए।
  • उस लड़की की शादी २ अक्टूबर, २०१४  को या उसके बाद होगी।
  • अविवाहित लड़की के माता-पिता की वार्षिक आय २,००,००० रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के साथ अंतर जाति विवाह के लिए प्रोत्साहन पुरस्कार जैसे किसी भी अन्य योजना के साथ “शादी मुबारक” योजना को जोड़ा नहीं जा सकता है।

मुस्लिम दुल्हन के लिए शादी मुबारक योजना लागू करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • लड़की का जन्म प्रमाण पत्र
  • समुदाय प्रमाणपत्र
  • आय प्रमाणपत्र (प्रमाणपत्र नवीनतम होना चाहिए और विवाह की तारीख से ६ महीने से अधिक पुराना नहीं होना चाहिए)
  • दुल्हे और दुल्हन का आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक (बचत खाता) के पहले पृष्ठ की एक स्कैन की गई तस्वीर, दुल्हन और उसके खाते के विवरण होना चाहिए।
  • शादी का कार्ड यदि उपलब्ध होने पर
  • शादी की तस्वीर
  • ग्राम पंचायत / चर्च / मस्जिद / किसी अन्य प्राधिकारी / संस्था द्वारा विवाह प्रमाण पत्र  जिसमे लाभार्थी ने विवाह किया है यह उल्लखित होना चाहिए

आवेदन की प्रक्रिया:

  •  आवेदक शादी मुबारक योजना के आधिकारिक वेबसाइट साइट (http: //epasswebsite.cgg.gov.in) पर जाके ऑनलाइन आवेदन करना होंगा।
  • “रजिस्टर” बटन पर क्लिक करें और आवेदन पत्र में सभी आवश्यक विवरण को भरें।
  • दुल्हे और दुल्हन की तस्वीर अपलोड करें , आयु प्रमानपत्र, दुल्हन की स्कैन की गई आधार प्रतिलिपि, दुल्हे और दुल्हन की की स्कैन की गई आधार प्रतिलिपि, स्कैन किया गया बैंक पासबुक।
  • अब उल्लिखित बॉक्स में डिजिटल कोड दर्ज करें। फिर “जमा करें” बटन पर क्लिक करें,आवेदन पत्र जमा करने के बाद, भविष्य के संदर्भ के लिए आवेदन पत्र की प्रिंटआउट को संभालकर रखे।

संपर्क विवरण:

  • आवेदक निम्नलिखित पते पर संपर्क कर सकता है: ईपीएएसएस, प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग यूनिट, एसपीआईयू, ग्राउंड फ्लोर, दामोदरम संजीविया संशेमा भवन (डीएसएस भवन), अप्पो: चाचा नेहरू पार्क, मसाब टैंक, हैदराबाद।
  • तकनीकी मुद्दों के लिए: ०४०-२३१२०३११, २३१२०३१२ नंबर पर संपर्क करे।

संदर्भ और विवरण:

संबंधित योजनाएं:

 

 

 

 

 

उन्नत भारत अभियान:

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) और भारतीय विज्ञान संस्थानों सहित उच्च शिक्षा संस्थानों को जोड़ने के उद्देश्य से  उन्नत भारत अभियान नामक एक कार्यक्रम शुरू किया है। अनुसंधान (आईआईएसईआरएस) आदि स्थानीय समुदायों के साथ उपयुक्त प्रौद्योगिकियों के माध्यम से विकास चुनौतियों का समाधान करने के लिए है। इस कार्यक्रम के तहत, उच्च शिक्षा के निम्नलिखित १६ संस्थानों द्वारा हस्तक्षेप के लिए १३२ गांवों की पहचान की गई है।  उन्नत भारत अभियान एक भारत देश के वास्तुकला का निर्माण करने में सहायता ज्ञान संस्थानों का लाभ उठाकर ग्रामीण विकास प्रक्रियाओं में परिवर्तनकारी परिवर्तन की दृष्टि से प्रेरित है।  उन्नत  भारत अभियान उच्च शिक्षा संस्थानों को विकास चुनौतियों की पहचान करने और सतत विकास में तेजी लाने के लिए उचित समाधान विकसित करने के लिए ग्रामीण भारत के लोगों को काम करने में सक्षम बनाना है।उन्नत भारत अभियान का मुख्य उद्देश व्यवसायों के लिए ज्ञान और प्रथाओं को प्रदान करना है और ग्रामीण भारत की विकास आवश्यकताओं के जवाब में सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों की क्षमताओं को तरक्की करने के लिए समाज और एक समावेशी शैक्षणिक प्रणाली के बीच एक सार्थक चक्र बनाना है।

                                                                                                              Unnat Bharat Abhiyaan (in English)

निम्नलिखित १६ संस्थान में उच्च शिक्षा हैं:

  • आईआईटी बॉम्बे
  • आईआईटी इंदौर
  • आईआईटी मंडी
  • आईटी जयपुर
  • आईआईटी भुवनेश्वर
  • आईआईटी जोधपुर
  • आईआईटी पटना
  • आईआईटी दिल्ली
  • आईआईटी कानपुर
  • आईआईटी रुड़की
  • आईआईटी गुवाहाटी
  • आईआईटी खड़गपुर
  • आईआईटी रोपर
  • आईआईटी हैदराबाद
  • आईआईटी मद्रास
  • आईसर भोपाल

उन्नत भारत अभियान के उद्देश्य:

  • ग्रामीण भारत की जरूरतों के अनुरूप अनुसंधान और प्रशिक्षण में उच्च शिक्षा के संस्थानों में संस्थागत क्षमता का निर्माण करना, ग्रामीण शिक्षा को उच्च शिक्षा संस्थानों से पेशेवर संसाधन समर्थन  प्रदान करना है।
  • विशेष रूप से जिन्होंने विज्ञान, इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी और प्रबंधन के क्षेत्र में विद्यापीठ में उत्कृष्टता हासिल की है।

संपर्क विवरण:

प्रोफेसर वी के विजय प्रमुख, ग्रामीण विकास और प्रौद्योगिकी केंद्र, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नई दिल्ली -११००१६

संदर्भ और विवरण:

अधिक जानकारी के लिए उन्नत भारत अभियान यात्रा करें: http://unnat.iitd.ac.in/index.php/en/

 

तेलंगाना राज्य में मिशन भागीरथ:

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने तेलंगाना राज्य में मिशन भागीरथ को सभी को सुरक्षित पेयजल प्रदान करने के उद्देश्य से  योजना की घोषणा किया है। यह योजना तेलंगाना के मेडक जिले में गजवेल कोमातिबांडा गांव में राज्य सरकार द्वारा पेश की गई है। मिशन भागीरथ एक जल ग्रिड परियोजना है जिसका उद्देश्य तेलंगाना में स्थानों को दूर करने के लिए सभी को सुरक्षित पेयजल प्रदान करना है।इसका उद्देश्य ग्रामीण परिवारों में प्रति व्यक्ति  १०० लीटर स्वच्छ पेयजल और शहरी परिवारों में प्रति व्यक्ति १५० लीटर स्वच्छ पेयजल प्रदान करना है। इस योजना के तहत  २५०० से अधिक ग्रामीण आवास और ६७ शहरी आवास शामिल किए जाएंगे। कृष्णा और गोदावरी नदी के साथ, निजाम सागर, श्रीराम सागर, कमूरम भीम, जुराला बांध और पारेलू रिजर्वोइयर के पानी का भी इस परियोजनाओं में उपयोग किया जाएगा। मुख्य पाइपलाइन पूरे राज्य में ५००० किमी से अधिक फैल जाएगी।
मुख्य पाइपलाइन कई सबलाइन से जुडी होंगी। निवास के लिए पानी उपलब्ध कराने के लिए राज्य के विभिन्न स्थानों पर कुल ५००० किलोमीटर के किनारे फैले होंगे। पेयजल के लिए एक स्थायी समाधान प्रदान करने के अलावा, इसका लक्ष्य ४५००० से अधिक जल टैंकों को फिर से जीवंत करना है।

                                                                                               Mission Bhagirath In Telangana (In English)

  • कुल लागत : ४२,००० करोड़ रुपये
  • योजना पूरा होने का साल :  साल २०१८

तेलंगाना में मिशन भागीरथ के लाभ:

  • गांवों में स्वच्छ पेयजल का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • ग्रामीण परिवारों में प्रति व्यक्ति को १०० लीटर स्वच्छ पेयजल और शहरी परिवारों में प्रति व्यक्ति को १५० लीटर स्वच्छ पेयजल का लाभ मिलेंगा।

तेलंगाना राज्य में मिशन भागीरथ का उद्देश्य:

तेलंगाना जल ग्रिड का उद्देश्य ग्रामीण परिवारों के प्रति व्यक्ति को १०० लीटर स्वच्छ पेयजल और शहरी परिवारों के प्रति व्यक्ति १५० लीटर स्वच्छ पेयजल प्रदान करना है। इस परियोजना का उद्देश्य लगभग २५००० ग्रामीण आवास और ६७ शहरी आवासों को पानी प्रदान करना है।

तेलंगाना राज्य में मिशन भागीरथ की विशेषताएं:

  • मिशन भागीरथ २०१६ में तेलंगाना में प्रधान मंत्री मोदी द्वारा शुरू की गई एक योजना है। इस योजना के तहत, राज्य भर के लोगों को सुरक्षित पेयजल का लाभ  मिलेगा।
  • ग्रामीण इलाकों में हर घर को पेयजल मुहैया कराने के लिए पूरे राज्य में १.२६ किलोमीटर की पाइपलाइन की जाएगी साथ ही प्रत्येक घर को  प्रति व्यक्ति को १०० लीटर पानी मुहैया कराया जाएगा और शहरी क्षेत्रों  में प्रति व्यक्ति १५० लीटर पानी प्रदान किया जाएगा।
  • २५,००० ग्रामीण आवास और ६७ शहरी आवास इस योजना के तहत शामिल किए जाएंगे। कृष्णा और गोदावरी नदी के साथ, निजाम सागर, श्रीराम सागर, कमूरम भीम, जुराला बांध और पारेलू रिजर्वोइयर का पानी भी इस परियोजनाओं में उपयोग किया जाएगा। मुख्य पाइपलाइन पूरे राज्य में ५००० किमी से अधिक फैल जाएगी। मुख्य पाइपलाइन कई  सबलाइन जुडी होंगी।
  • गांवों और ग्रामीण इलाकों में घरों को पानी उपलब्ध कराने के लिए गांवों में कुल ७५००० किलोमीटर की पाइपलाइन रखी जाएगी, जिसमें गांवों में पानी उपलब्ध कराने के लिए राज्य के विभिन्न स्थानों पर ५००० किलोमीटर के अंतराल फैले होंगे। ये पाइपलाइन द्वितीयक टैंक से जुड़ी होंगी।

संदर्भ और विवरण:

मिशन भागीरथ के बारे में अधिक जानकारी के लिए तेलंगाना में आधिकारिक  वेबसाइट पर संपर्क करे:

  • http://www.telangana.gov.in/news/2014/12/15/water-grid

संबंधित योजनाए:

  • नरेन्द्र मोदी की योजनाएं की सूची
  • तेलंगाना राज्य में योजनाएं की सूची
  • ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की योजनाएं की सूची