सार्वभौमिक स्वास्थ्य योजना, राजस्थान सरकार

राजस्थान सरकार ने १ मई, २०२१ को राज्य भर में सार्वभौमिक स्वास्थ्य योजना – ‘मुख्‍यमंत्री चिरंजीवी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना’ शुरू की। इस योजना की घोषणा मुख्यमंत्री ने २०२१-२२ के लिए राज्य के बजट में की थी। यह योजना राज्य के सभी परिवारों को कवर करती है। यह राज्य में परिवारों को रुपये ५ लाख तक का वार्षिक बीमा कवर प्रदान करेगा। इस योजना के तहत, गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों, लघु, सीमांत किसानों, एनएफएसए लाभार्थियों और अन्य विशेषाधिकार प्राप्त वर्गों के तहत, मुफ्त बीमा प्रदान किया जाएगा और अन्य लाभार्थी जो किसी अन्य योजना के तहत कवर नहीं हैं, उन्हें रुपये ८५० का सालाना भुगतान करने की आवश्यकता होगी। वर्तमान कोविड स्थितियों में लाभार्थियों को इस योजना के तहत मुफ्त उपचार प्रदान किया जाएगा। इन महत्वपूर्ण समयों में यह स्वास्थ्य कवरेज सभी निवासियों के लिए वरदान साबित होगा।

योजना का अवलोकन:

योजना का नाम: सार्वभौमिक स्वास्थ्य योजना – मुख्‍यमंत्री चिरंजीवी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना
योजना के तहत: राजस्थान सरकार
द्वारा लॉन्च किया गया: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत
लॉन्च की तिथि: १ मई, २०२१
पंजीकरण की तिथि: १ अप्रैल, २०२१
लाभार्थी: राज्य का प्रत्येक परिवार
लाभ: रुपये ५ लाख का वार्षिक स्वास्थ्य बीमा कवरेज और राज्य में कोविड – १९ रोगियों को सहायता।
उद्देश्य: राज्य में लोगों के जीवन-स्वास्थ्य संतुलन को बनाए रखने के लिए स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान करना।
परिव्यय: ३,५०० करोड़ रुपए

उद्देश्य और लाभ:

  • योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में निवासियों की सुरक्षा करना और उन्हें कवर करना है।
  • यह योजना प्रत्येक परिवार के लिए ५ लाख रुपये का वार्षिक चिकित्सा बीमा कवर प्रदान करेगी।
  • बीपीएल परिवारों, छोटे, सीमांत किसानों एनएफएसए लाभार्थियों और अन्य विशेषाधिकार प्राप्त वर्गों के तहत, मुफ्त बीमा प्रदान किया जाएगा।
  • अन्य लाभार्थियों को किसी अन्य योजना के तहत कवर नहीं किया हैं उन्हें सालाना ८५० रुपये का भुगतान करना होगा।
  • यह राज्य में पहली सार्वभौमिक स्वास्थ्य योजना है जो पूरे राज्य में सभी परिवारों को कवर करती है।
  • राज्य का कोई भी निवासी चाहे वह जाति, पंथ, धर्म, उम्र, लिंग का हो, योजना का लाभ उठा सकता है।
  • लाभार्थियों को राज्य और अन्य जगहों पर प्रचलित कोविड स्थितियों में भी सहायता दी जाएगी।
  • १०९२ सरकारी और ३३६ निजी अस्पतालों में कैशलेस उपचार, कोई आयु प्रतिबंध नहीं, अस्पताल में प्रवेश के बाद चिकित्सा खर्च इस योजना के तहत कवर किया जाएगा।
  • चिकित्सा बीमा लाभ वर्तमान में कठिन समय में मुख्य रूप से निवासियों के लिए एक वरदान साबित होगा।
  • यह योजना लोगों के जीवन और स्वास्थ्य के संतुलन को बनाए रखने में सक्षम होगी।

योजना का विवरण:

  • सार्वभौमिक स्वास्थ्य योजना – मुखिया चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना एक ऐसी योजना है जिसके तहत राज्य के सभी नागरिकों को एक बीमा कवर के तहत स्वास्थ्य बीमा लाभ मिलेगा।
  • यह योजना १ मई २०२१ से शुरू की गई थी और इसे लागू किया गया था।
  • प्रारंभ में मुख्यमंत्री द्वारा २०२१-२२ के राज्य के बजट में इस योजना की घोषणा की गई थी।
  • नागरिकों की पंजीकरण प्रक्रिया १ अप्रैल, २०२१ से शुरू की गई थी।
  • यह एक सार्वभौमिक स्वास्थ्य योजना है, जिससे राज्य के सभी परिवारों को एक स्वास्थ्य बीमा कवर के तहत कवर किया जाता है।
  • इस योजना के तहत, राज्य में प्रत्येक परिवार को रुपये ५ लाख। का वार्षिक स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान किया जाएगा।
  • बीपीएल परिवारों, छोटे, सीमांत किसानों एनएफएसए लाभार्थियों और अन्य विशेषाधिकार प्राप्त वर्गों के तहत, मुफ्त बीमा प्रदान किया जाएगा।
  • अन्य लाभार्थियों को किसी अन्य योजना के तहत कवर नहीं किया जाएगा, जिन्हें सालाना ८५० रुपये का भुगतान करना होगा।
  • लाभार्थियों को लिंग, धर्म, जाति, आयु आदि के बावजूद बीमा लाभ मिलेगा।
  • महामारी की वर्तमान में प्रचलित दूसरी लहर के मद्देनजर, राज्य सरकार ने १०९२ सरकारी और ३३६ निजी अस्पतालों में कोविड – १९ का उपचार करने वाले लाभार्थियों को कैशलेस उपचार के रूप में सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया है।
  • कोई आयु प्रतिबंध नहीं रखा जाएगा, अस्पताल में भर्ती होने से ५ दिन पहले चिकित्सा व्यय और इस योजना के तहत १५ दिनों के बाद के निर्वहन को भी कवर किया जाएगा।
  • महामारी की स्थितियों को ध्यान में रखते हुए निवासियों के लिए पंजीकरण की अंतिम तिथि ३० अप्रैल से ३१ मई, २०२१ तक बढ़ा दी गई है।
  • यह योजना राज्य के सभी निवासियों को सुरक्षित और कवर करेगी।
  • इस कठिन समय में, यह योजना राज्य के निवासियों के लिए एक वरदान के रूप में सामने आएगी और इससे राज्य सरकार के बुनियादी ढांचे में भी सुधार आएगा।
  • यह सभी नागरिकों को कवर करेगा और उनके जीवन-स्वास्थ्य संतुलन को बनाए रखने में मदद करेगा।
  • योजना का कुल परिव्यय चालू वित्त वर्ष के लिए ३,५०० करोड़ रुपए है।
traders & shopkeepers

मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना और मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपुर्ति बीमा योजना

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल खट्टर ने व्यपारियो के लिए २ नयी योजनाओंकी शुरुआत की है। इस योजनाओंका नाम है मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना और मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपुर्ति बीमा योजना। यह हरयाणा सरकार की छोटे व्यापारियों/कारोबारियों के लिए मुफ्त बिमा योजना है। योजना के तहत व्यपारियोंको सुरक्षित करने के लिए ५ लाख का मुफ्त बिमा और उनके व्यापर को सुरक्षित करने के लिए २५ लाख तक का मुफ्त बीमा प्रदान किया जायेगा। इस योजना पर सरकार ३८ करोड़ रुपये खर्च करेगी। हरयाणा सरकार दोनों योजनाओं के लिए प्रिमियम का भुगतान करेगी।

योजना: मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना और मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपुर्ति बीमा योजना
लाभ: व्यपारियो के लिए ५ से २५ लाख तक का मुफ्त बिमा
लाभार्थी: हरियाणा स्तिथ व्यापारी
राज्य: हरयाणा
वर्ष: २०१९
बजट: ३८ करोड़

उद्देश्य:

  • छोटे व्यापारियों का जीवन सुरक्षित करना।
  • आपदाओमे होने वाले व्यापारिक नुकसान से बचाना और मदत करना।
  • छोटे व्यपारियों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करना।

फायदे:

  • मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना: दुर्घटना से मृत्यु, स्थायी विकलांगता जैसे परिस्थिति में ५ लाख का मुफ्त जीवन बिमा
  • मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपुर्ति बीमा योजना: आग, चोरी, बाढ़, भूचाल जैसे आपदाओमे होने वाले नुकसान के लिए ५ से २५ लाख का बिमा योजना

योग्यता:

  • योजनाए हरयाणा राज्य के व्यपारियो के लिए ही लागु है।
  • योजना जी एस टी पंजीकृत व्यापारियों के लिए ही लागु है।
  • मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना: यह योजना दुर्घटना से मृत्यु, स्थायी विकलांगता जैसे परिस्तिति में ही लागु है।
  • मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपुर्ति बीमा योजना: यह योजना आग, चोरी, बाढ़, भूचाल जैसे आपदाओमे होने वाले नुकसान के लिए लागु है। योजना में बिमा की रकम कारोबार के टर्नओवर पर निर्भर है।
टर्न ओवर बिमा की रकम
२० लाख तक ५ लाख
२० से ५० लाख १० लाख
५० लाख से १ करोड़ १५ लाख
१ करोड़ से १.५० लाख तक २० लाख
१.५० लाख से उपर २५ लाख

 

कैसे करे आवेदन?

  • मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना और मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपुर्ति बीमा योजना के लिए अलग से आवेदन की जरुरत नहीं है।
  • ऐसे सभी व्यापारी जिन्होंने जी एस टी के लिए पंजीकरण किया है वह सभी योजना में बिमा पात्र है।

हरियाणा में ३.१३ लाख छोटे और माध्यम व्यापारी है। उन सभी को इन योजना का लाभ दिया जायेगा।

पंजाब सरकार के कर्मचारी और पेंशनभोगी स्वास्थ्य बीमा योजना (पीजीईपीएचआईएस)

पंजाब सरकार के कर्मचारी और पेंशनभोगी स्वास्थ्य बीमा योजना पंजाब सरकार (स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय) द्वारा अनिवार्य सेवा के आधार पर सरकारी सेवारत कर्मचारी और पेंशनभोगी के लिए शुरू की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य अंतरंग चिकित्सा बीमारी को कवर करने के लिए नगदीरहित स्वास्थ्य बीमा प्रदान करना है। स्वास्थ्य बीमा योजना नि:शुल्क चिकित्सा के साथ चिकित्सा उपचार के दौरान किये गये सभी खर्चों का भुगतान करेगी। इस योजना के तहत पंजाब राज्य के सभी कर्मचारी जैसे कि पंजाब सरकार के सभी कर्मचारी, जिसमें भारत देश के सभी सेवा अधिकारी, सेवारत,नये भर्ती हुए, सेवानिवृत्त और सेवानिवृत्त अधिकारी शामिल है।

                 Punjab Government Employees And Helath Insurance Scheme (PGEPHIS) (In English)

टोल-फ्री नंबर: १०४

कैशलेस टोल-फ्री नंबर: १८००-२३३-५५५७

पंजाब सरकार के कर्मचारी  और पेंशनभोगी के स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभ:

  • पंजाब सरकार के कर्मचारी और पेंशभोगी स्वास्थ्य बीमा योजना, कैशलेस बीमा और नि:शुल्क चिकित्सा उपचार के रूप में लाभ प्रदान करती है। कुछ लाभ नीचे दिये गये है।
  • बीमा योजना किसी भी बीमारी, रोग, चोट के कारण होने वाले चिकित्सा उपचार के दौरान किये गये सभी खर्चों का भुगतान करेगी और नि:शुल्क चिकित्सा उपचार प्रदान किया जाएंगा।
  • पहले से मौजूद  बीमारियों पर लाभ: इस योजना के तहत सभी बीमारियों को एक दिन से कवर किया जाएगा।
  • पाहिले और बाद में अस्पताल में भर्ती: लाभार्थी को चिकित्सा उपचार के दौरान ७ दिन के पाहिले और ३० दिनों के बाद के तक के सेवा प्रदान की जाएंगी।
  • मातृत्व लाभ इसका मतलब है कि प्रसूति या सिजेरियन सेक्शन सहित बच्चे के जन्म से उत्पन्न होने वाले अस्पताल / नर्सिंग होम में लिया गया उपचार जिसमें गर्भपात या गर्भपात दुर्घटना या अन्य चिकित्सीय आपात स्थितियों से प्रेरित है।
  • यह लाभ केवल पहले दो जीवित बच्चों तक ही सीमित रहेगा, जो किसी भी प्रतीक्षा अवधि के बिना बीमा के तहत पहले दिन से कवर किए गए अवलंबित पति / पत्नी कर्मचारी के संबंध में है।

पंजाब सरकार के कर्मचारी और  पेंशनभोगी को स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करने के लिए आवश्यक पात्रता और शर्तें:

  • उम्मीदवार पंजाब राज्य का निवास होना चाहिए।
  • योजना के तहत पंजाब राज्य के सभी कर्मचारी जैसे कि पंजाब सरकार के सभी कर्मचारी, जिसमें भारत के सभी सेवा अधिकारी, सेवारत, नए भर्ती हुए, सेवानिवृत्त और सेवानिवृत्त अधिकारी शामिल है।
  • यह योजना पंजाब चिकित्सक परिचारक नियम [सीएस (एमए) नियम, १९४०] के तहत एक परिवार और आश्रितों को कवर करेगी। नवजात शिशु को वर्तमान पॉलिसी की समाप्ति तक पहले दिन से बीमित माना जाएगा।

 पंजाब सरकार के कर्मचारी और  पेंशनभोगी स्वास्थ्य बीमा योजना को लागू करने के लिए आवश्यक आवेदन प्रक्रिया और दस्तावेज:

  • मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पहचान प्रमाण जैसे की मतदाता प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • उस व्यक्ति के सरकारी कर्मचारी या पेंशनभोगी होने के दस्तावेज
  • आय प्रमाण पत्र या आवेदन पत्र नंबर १६

आवेदन की प्रक्रिया:

  • उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट http://www.mdindiaonline.com/pes/pesmain.aspx पर जा सकते है और अस्पताल की खोज टैब और अन्य टैब के लिए भी खोज कर सकते है, जिसमें एक आवेदक को विस्तृत मदत मिल सकती है।
  • आवेदन पत्र: उम्मीदवार उल्लेखित लिंक से डाउनलोड कर सकते है:   http://www.mdindiaonline.com/pes/PESDownloads.aspx

किससे संपर्क करें और कहां संपर्क करें:

  • उम्मीदवार एमडीआयएनडीआयए  हेल्थ केयर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड  से संपर्क कर सकते है:
  • उम्मीदवार ईमेल कर सकते है: authorization_pgephis@mdindia.com

 संदर्भ और विवरण:

 

Kerala-Pravasi-Welfare-Board

प्रवासी चिट्टी योजना

केरल सरकार ने प्रवासी चिट्टी योजना शुरू की है। यह देश से बाहर रहने वाले भारतीयों के लिए बचत योजना है। यह योजना केरल राज्य वित्तीय उद्यम (केएसएफई)  द्वारा लागू की गई है। यह एक पुरानी योजना है और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में रहने वाले लोगों के लिए लागू थी। अब यह योजना सभी जीसीसी देशों में रहने वाले भारतीयों के लिए विस्तारित की है।

देश के बाहर रहने वाले भारतीय द्वारा निवेश किया गया पैसा केरल सरकार की विभिन्न विकास परियोजनाओं में लगाया जाता है। अब ग्राहक केरल इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट फंड बोर्ड (केआईआईएफबी) परियोजनाओं का चयन कर सकते है और जहां उनके पैसे निवेश करना चाहते वहा निवेश कर सकते है। केरल इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट फंड बोर्ड (केआईआईएफबी)  विभिन्न बुनियादी ढांचे के विकास में राशी जुटाने और निवेश के लिए एक संगठन है।

Pravasi Chitty Scheme (In English)

प्रवासी चिट्टी योजना

  • सरकार: केरल सरकार
  • लाभ: ज्यादा लाभ देने वाली विशसनिया सरकारी बचत योजना
  • लाभार्थी: विदेशों में रहने वाले केरल राज्य के नागरिक

अब तक ४,३०० लोग प्रवासी चिट्टी योजना से जुड़ चुके है। उन्होंने योजना में १४ करोड़ रुपये का निवेश किया है। इस योजना को २०१८ में शुरू किया गया है और इच्छुक लोग ऑनलाइन योजना में निवेश कर सकते है।

सभी ग्राहकों को उनके निवेश के कार्यकाल के दौरान जीवन बीमा प्रदान किया जाता है। यदि ग्राहक की कार्यकाल के दौरान मर जाता है तो एलआईसी बाकी किश्तों का भुगतान करती है। योजना के तहत ग्राहकों को दुर्घटना का भी बिमा प्रदान किया जाता है।

मुख्यमंत्री परिवार सम्मान निधि (एमपीएसएन) योजना:

हरयाणा सरकार ने राज्य में किसानों के लिए मुख्यमंत्री परिवार सम्मान निधि (एमपीएसएन) योजना की घोषणा की है। योजना के तहत किसानों को वित्तीय सहायता और सुरक्षा प्रदान की जाएगी। हरयाणा राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य के बजट २०१९-२० के दौरान इस योजना की घोषणा की है। इस योजना के लिए सभी किसानों के पास एक एकड़ से कम खेती योग्य भूमि और भूमिहीन मजदूर पात्र है।

                                                                                        Mukhyamantri Parivar Samman Nidhi (MPSN):

मुख्यमंत्री परिवार सम्मान निधि (एमपीएसएन)

  • राज्य: हरियाणा
  • लाभ: राज्य के किसानों और मजदूरों को वित्तीय सहायता और सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाएंगी
  • लाभार्थी: छोटे किसान और मजदूर

लाभ: इस योजना के तहत लाभार्थियों को वित्तीय सहायता या पेंशन प्रदान की जाएगी, लाभार्थी लाभ प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित विकल्प चुन सकते है:

  • लाभार्थी किसान को ६,००० रुपये की हर साल की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • लाभार्थी किसान को पांच साल के बाद ३६,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • लाभार्थी के ६० साल के आयु के बाद ३,००० रुपये या १५,००० रुपये प्रति माह की पेंशन प्रदान की जाएंगी।
  • लाभार्थी को पाच साल के बाद १५,००० रुपये या ३०,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • लाभार्थी को बीमा प्रदान किया जाएंगा और बीमा की किस्त का भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा।
  • लाभार्थी के गैर-प्राकृतिक मृत्यु पर २ लाख रुपये और विकलांग होने पर १  लाख रुपये की बीमा राशी प्रदान की जाएंगी।

मुख्यमंत्री परिवार सम्मान निधि (एमपीएसएन) के लिए पात्रता मापदंड:

  • यह योजना हरियाणा राज्य के निवासियों के लिए ही लागू है।
  • ५ एकड़ से कम जमीन वाले किसान इस योजना के लिए पात्र है।
  • आय सीमा:  राज्य के किसानों या मजदूरों की मासिक आय १५,००० रुपये से कम होनी चाहिए।
  • आयु सीमा: राज्य के किसान की आयु १८  से ६० साल के बिच होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री परिवार सम्मान निधि (एमपीएसएन)  श्रेणियाँ / भुगतान विकल्प:

  • ६,००० रुपये प्रति वर्ष की वित्तीय सहायता: ६,००० रुपये प्रति वर्ष की वित्तीय सहायता की राशी २,००० रुपये के तीन समान किश्तों में परिवार के मुखिया के बैंक खाते में जमा की जाएंगी।
  •  ५ वर्षों के बाद ३६,००० रुपये की वित्तीय सहयता: लाभार्थी परिवार को परिवार के एक सदस्य को नामांकित करना होगा। परिवार के नामांकित व्यक्ति को ५ साल के बाद ३६,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • पेंशन: नामांकित लाभार्थी को ६० साल के आयु के बाद ३,००० रुपये से १५,००० रुपये की पेंशन  प्रदान की जाएंगी।
  • १५,००० से ३०,००० रुपये की वित्तीय सहयता: लाभार्थी व्यक्ति के विकल्प चयन के आधार पर १५,००० से ३०,००० रुपये की राशी पाच साल के बाद परिवार के नामांकित व्यक्ति को प्रदान की जाएंगी।
  • नामांकित लाभार्थी के पास बीमा कवर करने का विकल्प भी होगा। बीमा योजना के तहत बीमा की किस्त का भुगतान हरियाणा सरकार द्वारा किया जाएंगा।

 

प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई):

प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई) साल २०१४ में अपने पहले स्वतंत्रता दिवस भाषण पर भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया मिशन है। इस मिशन को शुरू करने का उद्देश्य बैंकिंग बचत और जमा खातों में बीमा,पेंशन और डेबिट / क्रेडिट कार्ड सेवाओं को प्रदान करना है। इस योजना के तहत उपयोगकर्ताओं को शून्य शेष राशि के साथ एक बैंक खाता खोलने की अनुमति दी जाती है और उन्हें रुपये डेबिट कार्ड दिया जाता है। बैंकिंग सेवाओं को इतनी आसानी से उपलब्ध करना प्रधान मंत्री जन-धन योजना का मुख्य उद्देश है।इस योजना के तहत एक हफ्ते की अवधि में अधिकांश बैंक खातों को खोलने का गिनीज विश्व रिकॉर्ड बना है  और एक बड़ी उपलब्धि यह है कि १० फरवरी, २०१६ तक  इस योजना के तहत २००  मिलियन बैंक खाते खोले जा रहे हैं और ३२३.७८ अरब जमा किये गये हैं। यह योजना बैंकिंग उद्योग के लिए एक बड़ी सफलता बन गई है।

प्रधान मंत्री जन-धन योजना के लाभ:

  • शून्य शेष राशि खाता: इस योजना के तहत उपयोगकर्ताओं को कोई भी राष्ट्रीयकृत बैंक खाता खोलने की अनुमति है।
  • डेबिट कार्ड सेवा: लाभार्थी को शून्य शेष राशि खाते के साथ रुपये डेबिट कार्ड की सेवा प्रदान की जाती है।
  • आकस्मिक मृत्यु बीमा:  लाभार्थी की आकस्मिक मौत होने पर खाताधारक के पद उम्मीदवार को १,००,००० रुपये बीमा राशी प्रदान की जाती है।
  • जीवन बीमा कवर: २६ जनवरी २०१५ तक खोले गए सभी खातों को अतिरिक्त ३०,००० रुपये जीवन बीमा राशी दी जाएगी।
  • ओवरड्राफ्ट की अनुमति: लाभार्थी खाता खोलने के छह महीने के बाद ५००० रुपये का ओवरड्राफ्ट कर सकते हैं।   
  • ऑनलाइन बैंकिंग: डिजिटलीकरण के साथ प्रधानमंत्री जन-धन योजना में भी सभी खाते को ऑनलाइन बैंकिंग सुविधाओं का आनंद लेने की अनुमति है।

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के लिए पात्रता:

  • भारतीय राष्ट्रीयता वाला कोई भी व्यक्ति जन-धन योजना के लिए पात्र है।
  • १० साल की आयु का कोई भी व्यक्ति खाता खोलने के लिए पात्र है लेकिन नाबालिगों को अपने खाते का प्रबंधन करने के लिए अभिभावक होना चाहिए।
  • अगर व्यक्ति के पास राष्ट्रीयता का कोई सबूत नहीं है लेकिन बैंक अनुसंधान शोध पर वह व्यक्ति भारतीय पाया जाने पर इस योजना के लिए पात्र है।
  • लाभार्थी का पहले से ही राष्ट्रीयकृत बैंक में बचत खाता है  वह अपना बचत खाता प्रधानमंत्री जन-धन योजना में स्थानांतरित कर सकता है और इस योजना लाभ ले सकता है।

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • पते का सबूत  
  • पासपोर्ट आकार की फोटोग्राफ
  • सरकार द्वारा प्रमाणीकरण किया गया पहचान प्रमाण पत्र  

प्रधानमंत्री जन-धन योजना योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए किससे संपर्क करना है और कहां से संपर्क करना है:

लगभग सभी राष्ट्रीयकृत बैंक (एसबीआई बैंक , बैंक ऑफ महाराष्ट्र, पंजाब नेशनल बैंक, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, एक्सिस बैंक  और अन्य राष्ट्रीयकृत बैंक ) वहां हैं जहां कोई इस योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकता है।

योजना के लिए नामांकन के लिए ऑनलाइन फॉर्म:

प्रधान मंत्री जन-धन योजना योजना के लिए आवेदन पत्र और प्रक्रियाएं किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंकों में बहुत अच्छी तरह से समझाई गई हैं।

  • हिंदी में प्रपत्र: http://www.pmjdy.gov.in/files/forms/account-opening/hindi.pdf  
  • अंग्रेजी में प्रपत्र: http://www.pmjdy.gov.in/files/forms/account-opening/English.pdf

विवरण और अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों के बारे में और जानने के लिए निचे दिए लिंक पर जाएं

विवरण: 

  • http://www.pmjdy.gov.in/

संबंधित योजनाए:

  • प्रधानमंत्री जन-धन योजना

प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई):

प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली द्वारा घोषित की गयी योजना है और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की पहल है जिसके तहत किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक के खाताधारक इस प्रधान मंत्री जीवन बीमा योजना के लिए नामांकन कर सकते है।किस्त की राशि ३३० रुपये  प्रति वर्ष योजना के  जुड़े खाते से स्वचालित रूप से कटौती की जाएगी। यह योजना प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोले गए खातों से जुड़ी होगी।

                                                                                Pradhan Mantri Jivan Jyoti Bima Yojana (In English)

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का लाभ:

  • २,००,००० रुपये का बीमा: यदि लाभार्थी की दुर्घटना या प्राकृतिक मौत होने पर लाभार्थी  के नामांकित व्यक्ति के खाते  में २,००,००० रुपये प्रदान किये जाएंगे।
    .
  • न्यूनतम किस्त राशि: योजना की किस्त की राशि केवल ३३० रुपये प्रति वर्ष है।योजना के लिए शून्य शेष राशि के साथ पंजीकरण कर सकते है। प्रधान मंत्री जन धन योजना (शून्य शेष राशि खाता) के तहत खोला गया खाता इस योजना से जुड़ा हुआ है।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए पात्रता:

  • लाभार्थी के पास किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता होना चाहिए।
  • लाभार्थी की आयु १८ से ५० साल होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • आधार कार्ड।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए किससे संपर्क करना और कहां से संपर्क करना:

  • जो इस योजना के लिए पंजीकरण करना चाहता है, वह किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक से संपर्क कर सकता है।
  • भारतीय डाक घर जहां विवरण उपलब्ध है।

योजना के लिए नामांकन के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र डाउनलोड करें:
 

  •  भारतीय डाक :  http://www.indiapost.gov.in/pdf/Jansuraksha%20Scheme/Final%20PMJJY%20Form.pdf
  • भारतीय स्टेट बैंक :
    http://www.sbilife.co.in/sbilife/images/file/documents/PMJJBY_claim_form_and_dischar
    ge_vouc
  • ऐक्सिस बैंक :  http://axis.bank.com/download/PMJJBY-Scheme-English.pdf
  • एचडीएफसी बैंक :  http://www.hdfc.com/htdocs/common//pdf/Claim-Process-and-forms-for-
    PMJJBY.pdf
  • पंजाब नेशनल बैंक :  https://www.pnbindia.in/new/Upload/En/PMJJBY_yojana.pdf
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र :  https://www.bankofmaharashtra.in/downdocs/Prdhan-Mantri-Jeevn-Joyti-Bima-Yojana

अन्य योजनाए:

  • प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना

बाल महिला के लिए भाग्यश्री योजना:

बीपीएल परिवार के लड़की (बच्ची) के लिए महाराष्ट्र सरकार ने भाग्यश्री योजना शुरू की है। इस योजना के तहत लड़की (बच्ची) को १ लाख रुपये का बीमा प्रदान किया जाएगा।लड़की की १८ वर्ष की आयु पूरी होने के बाद उसे सम्मानित किया जाएगा। इस योजना के तहत  बालिका का १ साल की उम्र पूरी होने से पहले सरकार  बालिका के खाते में २१२०० रुपये जमा करती है  और बालिका की १८ साल की उम्र पूरी होने के बाद बालिका का को १ लाख प्रदान किये जाएंगे।

                                                                                                                       Bhagyshree Yojana (In English)

भाग्यश्री योजना के लिए टोल-फ्री नंबर: १८००२०९१४१५

भाग्यश्री योजना का लाभ:

  • बालिका के जन्म के बाद १ साल की उम्र पूरी होने से पहले बालिका के खाते में २१२०० रुपये जमा किये जाएगे।
  • बालिका की १८ साल की उम्र पूरी होने के बाद १,००,००० (१ लाख) प्रदान किये जाएंगे।
  • एक परिवार से दो लड़कियां लाभ प्राप्त कर सकती  है।
  • महिला (बच्ची)  को  ९ वी  से १२ वीं कक्षा की पढ़ाई के लिए १००० रूपये प्रति महिना छात्रवृति प्रदान की जाएंगी।
  •  लड़की  (बच्ची) के माता-पिता को इस योजना के तहत बीमा मिलेगा और आम आदमी बीमा योजना के लिए प्रीमियम भगीश्री योजना द्वारा दिया जाएंगा।

भाग्यश्री योजना के लिए  पात्रता:

  • गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल) सभी समुदायों की महिला (बच्ची) इस योजना के लिए पात्र है, लेकिन लाभ परिवार से दो से अधिक बालिकाओं को नहीं दिया जाएंगा।
  • महिला लड़कियों के माता-पिता महाराष्ट्र राज्य के निवासी होने चाहिए।
  • महिलाएं माता-पिता को दूसरी महिला जन्म के बाद परिवार नियोजन का ऑपरेशन करना चाहिए।
  •  यह योजना ० से १८  वर्ष के आयु वर्ग के महिला (बच्ची) के लिए लागू, है, जिनके माता-पिता की उम्र ६० वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।

भाग्यश्री योजना नामांकन के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • भाग्यश्री योजना का आवेदन पत्र
  • महाराष्ट्र राज्य में बालिका के माता-पिता का अधिवास
  • महिला (बच्ची) का जन्म प्रमाण पत्र
  • महिला (बच्ची) माता-पिता का आय प्रमाणपत्र
  • बीपीएल प्रमाण पत्र
  • महिला (बच्ची) का बैक पासबुक, आईएफएससी कोड, एमआईसीआर कोड

ऑनलाइन आवेदन पत्र और दावा प्रपत्र डाउनलोड करें:

  • https://goo.gl/2QVW9z

किससे संपर्क करें और कहां से संपर्क करें:

  • ग्रामपंचायत कार्यालय
  • आंगनवाड़ी केंद्र
  •  नगरपालिका निगम
  • नजदीकी महिलाएं और बाल विभाग

संदर्भ और विवरण:

 

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना (pmfby.gov.in): पीएमएफबीवाई किसान आवेदन / फसल बीमा पंजीकरण का स्टेटस चेक करनेकी प्रक्रिया

भारत सरकार ने किसानो के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) के सुलभ ऑनलाइन आवेदन और पंजीकरण के लिए pmfby.gov.in आधिकारिक पोर्टल की शुरवात की है। यह पोर्टल प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का विवरण प्रदान करता है। पोर्टल के माध्यम से किसान प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के दिशानिर्देश, समय सीमा, पंजीकरण कर सकते हैं और अपनी फसलों का बीमा भी अब ऑनलाइन कर सकते  है।  किसान अपने नुकसान की जानकारी और उनके आवेदन की स्थिति का ब्योरा जानने के लिए भी pmfby.gov.in पोर्टल का इस्तेमाल कर सकते है।  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्राथमिक उद्देश्य बिमा योजना को सरल बनाना और यह सुनिश्चित करना है कि भारत के सभी किसानों को इस योजना का लाभ प्राप्त हो सके।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (In English)

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) क्या है?भारत देश के किसानो की आमदनी सुनिश्चित करने के लिए और उनकी फ़सलोंको निश्चित दाम देने के लिए भारत सरकार की एक महत्वकांशी योजना है।

प्रधानमंत्री  फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) का उद्देश्य:

  • किसानो को उनके फसलों के अनुरूप सस्ता और आसान फसल बिमा प्रदान करना।
  • प्राकृतिक आपदा, बाढ़, कीट और बीमारियों की स्थिति में फसल ख़राब होने की स्तिथि में किसानो को वित्तीय नुकसान से बचाना।
  • किसानो को खेती के लिए ऋण लेने की जरुरत पड़े यह सुनिश्चित करने के लिए।
  • किसानो की आय सुनिश्चित करना और आमदनी बढ़ाना।
  • किसानों की आत्महत्या रोकने के लिए।

प्रधानमंत्री  फसल  बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) लाभ और कार्यान्वयन:

  • कम किस्त दरों पर फसल बीमा: बिमा योजना के तहत किसानो को खरीप फसलों पर २%, रब्बी फसलों पर १.५% और वाणिज्यिक और बागवानी फसलों पर ५% प्रीमियम की राशि देनी होती है और शेष प्रीमियम राशि (९०% तक) सरकार द्वारा भुगतान की जाती है।
  • नवीनतम तकनीक/प्रौद्योगिकी का वापर: इस योजना को लागू करने के लिए सरकार सभी नवीनतम तकनीक का उपयोग कर रही है। किसान फसल की जानकारी अपलोड करने और दावा करने के लिए स्मार्ट फोन ऐप्स का इस्तेमाल कर आसानी से जानकारी अपलोड कर सकते है| सरकार यह सुनिश्चित करना चाहती है की देश के सभी किसानोंको इस योजना का लाभ प्राप्त हो सके।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) दो पुराणी योजनाको एक साथ जोड़ कर बनायीं गयी है जिनका नाम है १. राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एनएआईएस) २. संशोधित एनएआईएस (एमएनएआईएस)।
  • पीएमएफबीवाई के तहत जोखिम कवर: प्राकृतिक आपदाये जैसे तूफान, बाढ़, किटको के कारण पैदावार के नुकसान को कवर किया जाएगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (pmfby.gov.in) हेल्पलाइन / टोल फ्री नंबर (सोमवार-शुक्रवार 10-6 बजे):

फ़ोन नंबर: ०११-२३३८२०१२ 011-23382012 + एक्सटेंशन: २७१५/२७०९  या ०११-२३३८१०९२  ईमेल:  help.agri-insurance@gov.in

प्रधानमंत्री  फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) की महत्वपूर्ण तिथियां:

  • ऋण देने की अवधि:
    • खारिप: अप्रैल से  जुलाई (हर साल)
    • रब्बी: अक्टूबर से  दिसंबर (हर साल)
  • सरकार को प्रस्ताव भेजने की अंतिम तारीख:
    • खरीप: ३१ जुलाई (हर साल)
    • रब्बी: ३१ दिसंबर (हर साल)
  • उपज की प्राप्ति के लिए अंतिम तारीख:
    • खरीप: फसल कटाई से महीने के भीतर
    • रब्बी: फसल कटाई से महीने के भीतर

प्रधानमंत्री  फसल  बीमा योजना (पीएमएफबीवाई): pmfby.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कैसे करें (किसान पंजीकरण)

  •  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफएसबीवाई)  पंजीकरण पृष्ठ पर जाने के लिए यहां क्लिक करें
  • व्यक्तिगत विवरण, पता विवरण, बैंक विवरण इत्यादि प्रदान करें
  • खाता बनाने के लिए उपयोगकर्ता लॉगिन पर क्लिक करें या यहाँ क्लिक करे और अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर प्रदान करें
  • आप को एसएमएस के माध्यम से मोबाइल पर ओटीपी प्राप्त होगा
  • लॉगिन करने के लिए ओटीपी प्रदान करे
  • आपको दिए गए निरदेखोका पालन करे और पंजीकरण पूरा करे

पीएमएफबीवाई बीमा प्रीमियम कैलकुलेटर:

  • किसान पीएमएफबीवाई कैलकुलेटर का उपयोग करके अपने बीमा प्रीमियम को जान सकते हैं।
  • पीएमएफबीवाई आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें pmfby.gov.in
  • Insurance Premium Calculator के निचे दिए गए Calculate पर क्लिक करे
  • कैलक्यूलेटर खुल जाएगा
  • मौसम, वर्ष, योजना, राज्य ,जिला, फसल का चयन करें और Calculate बटन पर क्लिक करे
  • यहाँ चयनित फसल की प्रीमियम किस्त दिखाई  जाएगी

प्रधानमंत्री  फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) आवेदन की स्थिति कैसे जांचें:

  • पीएमएफबीवाई आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें pmfby.gov.in
  • आवेदन स्थिति पर क्लिक करें
  • आवेदन स्थिति प्रपत्र खुल जाएगा
  • अपना आवेदन नंबर प्रदान करें और फिर स्थिति बटन पर क्लिक करें यह आपके पीएमएफबीवाई आवेदन की स्थिति दिखाई जाएगी

अन्य विवरण और संदर्भ:

आयुषमान मित्र भर्ती: योग्यता, आवेदन पत्र, आवश्यक दस्तावेज और नौकरी के लिए आवेदन कैसे करें?

भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने १५ अगस्त २०१८ को आयुषमान भारत नामक योजना की घोषणा की है।  आयुषमान मित्र भारत  योजना दुनिया के सबसे बड़ी स्वास्थ्य देखभाल योजना है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थी को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करना इस योजना का मुख्य उद्देश है। भारत देश भर में सभी गरीबों को मुफ्त में ५ लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। आयुषमान मित्र भारत योजना को राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना एबी-एनएचपीएम या मोदीकेयर कहा जाता है। यह योजना भारत भर में २५ सितंबर २०१८ को प्रारंभ की जाएगी। स्वास्थ्य संरक्षण के अलावा यह योजना अगले पांच सालो में १० लाख युवाओं को रोजगार भी प्रदान करेगी। उन्हें आयुषमान मित्र कहा जाएगा और सरकार के आयुषमान भारत  योजना को प्रभावी ढंग से लागू करने में मदद मिलेगी। पुरुष और महिला उम्मीदवार दोनों भी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है।

Ayushman Mitra Recruitment (In English)

आयुषमान मित्र बनने के लिए पात्रता:

  • पुरुष और महिला दोनों भी आवेदन कर सकते है।
  • शैक्षणिक योग्यता: आवेदक को भारत देश में मान्यता प्राप्त संस्थान से १२ वीं / १० + २  उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • आयु सीमा : १८ से ४० साल
  • महिला  उम्मीदवारों को और मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य देखभाल में अनुभव होने पर उन्हें  पाहिले प्राधान्य दिया जाएगा।
  • मूल संगणक और इंटरनेट ज्ञान और अनुभव होना जरुरी है।
  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस (वर्ड) का ज्ञान और अनुभव होना जरुरी है।
  • अंग्रेजी, हिंदी या क्षेत्रीय भाषा का  ज्ञान और अनुभव होना जरुरी है।

आयुषमान मित्र प्रशिक्षण:

  • इच्छुक उम्मीदवार को नौकरी के लिए आवश्यक प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • इच्छुक उम्मीदवार को आयुषमान मित्र बनने से पहले भी प्रशिक्षण ले सकते है।
  • भारत सरकार कौशल विकास विभाग के पास आयुषमान मित्र के लिए विभिन्न पाठ्यक्रम है।
  • जो पहले से ही प्रशिक्षण ले चुके हैं उन उम्मीदवार को पाहिले प्राथमिकता दी जाएगी।
  • प्रशिक्षण पूरा होने पर उम्मीदवार को प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा।

आयुषमान मित्र की भूमिकाएं और जिम्मेदारियां:

  • आयुषमान मित्र को अस्पतालों और बीमा संस्था में नियुक्त किया जाएगा।
  • आयुषमान मित्र को एक सहायता क्षेत्र  में तैनात किया जाएगा।
  • सहायता क्षेत्र लाभार्थियों को आयुषमान मित्र भर्ती योजना की जानकारी प्रदान करेगा।
  • इस योजना के तहत लोगों को विभिन्न रूपों में आवेदन पत्र भरने में  और आयुषमान भारत योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए मदत की जाएगी।

आयुषमान मित्र का वेतन:

  • सरकार ने अभी तक आधिकारिक वेतन आंकड़ा तय नहीं किया है, लेकिन यह लगभग १५ हजार रुपये प्रति महिना होगा।
  • आयुषमान मित्र को वेतन के अलावा ५० रूपये प्रति व्यक्ति प्रोत्साहन राशी के रूप प्रदान की जाएगी।

आयुषमान मित्र भर्ती फॉर्म / आयुषमान मित्र नौकरी के लिए आवेदन कैसे करें:

  • आयुषमान भारत योजना के लिए आधिकारिक पोर्टल पर जाने के लिए यहां क्लिक करें abnhpm.gov.in
  • आयुषमान मित्र भर्ती लिंक पर क्लिक करें / आवेदन के लिए उल्लिखित निर्देशों का पालन करें
  • आवेदन पत्र भरें
  • आवेदन पत्र जमा करें

अधिक विवरण और संदर्भ: