मुख्यमंत्री सुकन्या योजना (एमएसवाई): झारखंड में डीबीटी के माध्यम से लड़कियों के लिए प्रोत्साहन राशी-

झारखंड सरकार ने राज्य में लड़कियों के लिए मुख्यमंत्री सुकन्या योजना (एमएसवाई) की घोषणा की है। राज्य में लड़कियों को वित्तीय सहायता (प्रोत्साहन राशी ) प्रदान की जाएगी। लड़कियों के साथ राज्य में २६  लाख परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। लड़की का जन्म होने से १८ साल की उम्र तक लड़की को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी। जब लड़किया १, ६, ९ और ११ वीं मानकों में स्कूल में प्रवेश लेते समय उनके खाते में राज्य सरकार प्रोत्साहन राशी या छात्रवृति जमा करेगी। इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देना और बाल विवाह को रोकना है।

                                                                                   Mukhyamantri Sukanya Yojana (MSY) (In English)

मुख्यमंत्री सुकन्या योजना (एमएसवाई): राज्य में लड़कियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए झारखंड सरकार की एक योजना की एक है।

  • योजना का कार्यान्वयन कब सुरु होंगा: १ जनवरी २०१९ को इस योजना का कार्यान्वयन सुरु होंगा।
  • योजना की घोषणा किसने की: झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री रघुबर दास इस योजना की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री सुकन्या योजना (एमएसवाई) का उद्देश्य:

  • राज्य में लड़कियों को बढ़ावा दिया जाएंगा।
  • लड़कियों की शिक्षा के लिए प्रोत्साहित किया जाएंगा।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य में  बाल विवाह को रोकने मदत होंगी।
  • बालिकाओं  और उनके परिवारों को सशक्त बनाया जाएंगा।
  • बालिकाओं और उनके परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य में लड़कियों के स्कूल छोड़ने के दरों को कम किया जाएंगा।

मुख्यमंत्री सुकन्या योजना (एमएसवाई) का लाभ:

  • लड़की का जन्म होने से १८ साल की उम्र तक लड़की को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • जब लड़किया १, ६, ९ और ११ वीं मानकों में स्कूल में प्रवेश लेते समय उनको प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएंगी।

झारखंड मुख्यमंत्री सुकन्या योजना (एमएसवाई) की विशेषताएं और कार्यान्वयन:

  • झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने योजना की घोषणा की है।
  • सरकार इस योजना को लागू करने के लिए यूनिसेफ और नागरिक सामाजिक संगठन के साथ काम करेगी।
  • यह योजना राज्य के सामाजिक आर्थिक विकास में मदत करेगी।
  • लाभ सीधे लाभार्थियों के डीबीटी बैंक खाते में हस्तांतरित किया जाएगा।
  • सरकार इस मिशन के माध्यम से गरीबी को रोकने, प्रवासन , राज्य में कुपोषण और बाल विवाह पर रोक लगाई जाएंगी।
  • मुख्यमंत्री सुकन्या योजना (एमएसवाई) मुख्यमंत्री कन्यादान योजना और मुख्यमंत्री लक्ष्मी योजना की जगह लेगी।
  • दोनों योजनाएं (मुख्यमंत्री कन्यादान योजना और मुख्यमंत्री लक्ष्मी योजना) १ जनवरी २०१९ से समाप्त हो जाएंगा।

संबंधित योजनाएं:

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *