मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना हरियाणा: ग्रामीण सड़कों को मजबूत करने के लिए

हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य भर में ग्रामीण सड़कों को मजबूत करने के लिए मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना की घोषणा की है। इस योजना के तहत प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के ५०० किलोमीटर के आसपास सड़क का निर्माण किया जाएगा। यह योजना अगले ५ वर्षों में लागू की जाएगी।

हरियाणा राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के सड़क में सुधार लाना इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य है। राज्य में बेहतर सड़क बनाई जाएंगी ताकि राज्य के किसान बाजार तक तुरंत पहुंच सके।अच्छी सड़कों से छात्रों को मदत मिलेगी, मरीज़ जल्दी और सुविधाजनक रूप से जिला मुख्यालयों और शहरों तक पहुंच जाएंगे। चरणबद्ध तरीके से होने वाली सड़कों को सुदृढ़ किया जाएंगा।

                                                                   Mukhyamantri Kisan Khet sadak Marg Yojana (In English)

मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना का उद्देश्य:

  • इस योजना के तहत  गांवों  से शहरों के लिए अच्छी कनेक्टिविटी प्रदान की जाएंगी।
  • राज्य के किसान तेजी से बाजार तक पहुंच सके।
  • इस योजना के माध्यम से साल २०२२ तक राज्य के किसान की आय को दोगुना की जाएंगी।

मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना की विशेषताएं:

  •  ग्रामीण सड़कों को मजबूत किया जाएंगा और कनेक्टिविटी में सुधार करने के लिए एक योजना है।
  • हरियाणा राज्य के ग्रामीण विकास विभाग को इस योजना के कार्यान्वयन की ज़िम्मेदारी दी गई है।
  • चरणबद्ध तरीके से होने वाली सड़कों का निर्माण किया जाएंगा।
  • पहले चरण में प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र के  ३ और ४  गांवों में २५ किलोमीटर के आसपास सड़क का निर्माण किया जाएंगा।
  • सड़कों को खदानजा से बनाया जाएगा और सड़कों का निर्माण अगले ५ साल में पूरा हो जाएगा।
  • किसान सालाना में दो बार अपनी खेती योग्य भूमि और फसल को पंजीकृत कर पाएंगे।
  • सभी गांवों में आम सेवा केंद्र (सीएससी) स्थापित किए जाएंगे।
  • सीएससी में फसल और खेती योग्य भूमि पंजीकरण किया जा सकता है।
  • पंजीकरण मुआवजे, खरीद, बीमा और बैंक ऋण में किसानों की मदत की जाएंगी।
  • सीएससी में खेती योग्य और गैर-खेती योग्य दोनों प्रकार का पंजीकरण किया जा सकता है
  • राज्य सरकार पेरी-शहरी खेती पर ध्यान केंद्रित करेगी।
  • हरियाणा में पेरी-शहरी खेती दिल्ली, फरीदाबाद, नोएडा, गुरुग्राम शहरों की लगभग ४ करोड़ आबादी की सेवा करेगी।

संबंधित योजनाएं:

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *