बीपीएल कार्ड धारकों के लिए चिकित्सा सहायता योजना

५ मई, २०२१ को हरियाणा सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) कार्डधारकों के लिए एक चिकित्सा सहायता योजना की घोषणा की है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने वस्तुतः विवरण की घोषणा की। यह पहल मुख्य रूप से कोविद – १९ महामारी की दूसरी लहर के बीच बीपीएल कार्ड धारकों और उनके परिवारों की मदद के लिए शुरू की गई है। इस पहल के तहत निजी अस्पतालों में इलाज कराने वाले बीपीएल श्रेणी के लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। राज्य सरकार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। रुपये ५०००/ – प्रति रोगी प्रति दिन से सात दिन रुपये ३५,०००/ – अधिकतम राशि सीमा रखी गई है। यह पहल राज्य में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की सहायता के लिए की गई है, जिससे उनका कल्याण सुनिश्चित हो सके।

योजना का अवलोकन:

योजना: बीपीएल कार्ड धारकों के लिए चिकित्सा सहायता योजना
योजना के तहत: हरियाणा सरकार
लॉन्च की घोषणा: मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
लाभार्थी: गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) परिवार
लाभ: कोविद – १९ महामारी के बीच निजी अस्पताल में इलाज के लिए प्रत्येक बीपीएल कार्ड धारक को ५००० रुपये प्रति दिन, से सात दिन तक (३५,००० रुपये) की वित्तीय मदद
उद्देश्य: राज्य में गरीब लोगों के जीवन और स्वास्थ्य संतुलन बनाए रखने के लिए चिकित्सा सहायता प्रदान करना

उद्देश्य और लाभ:

  • योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में गरीबी रेखा से नीचे के गरीबों की मदद करना है।
  • यह योजना रुपये की वित्तीय मदद प्रदान करेगी। कोविद – १९ महामारी के बीच निजी अस्पताल में इलाज के लिए प्रत्येक बीपीएल कार्ड धारक को रुपये ५००० प्रति दिन से सात दिन (रु। ३५,०००) तक।
  • कोविद पॉजिटिव मरीजों को रु। ५००० दिया जाएगा जो बीपीएल परिवारों में और घर में अलगाव में हैं।
  • इस योजना के तहत उक्त राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी और इसका भुगतान सीधे निजी अस्पतालों को किया जाएगा।
  • यह योजना लाभार्थियों को उचित जीवन कवरेज प्रदान करेगी।
  • यह योजना राज्य भर में गरीब लोगों के जीवन और स्वास्थ्य के संतुलन को बनाए रखने में सक्षम होगी।

योजना का विवरण:

  • ५ मई, २०२१ को हरियाणा सरकार ने हरियाणा में बीपीएल कार्ड धारकों के लिए चिकित्सा सहायता योजना की घोषणा की।
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने योजना का विवरण प्रदान किया।
  • राज्य में गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) निवासियों के सहायता के लिए यह घोषणा की गई है।
  • यह योजना रुपये की वित्तीय मदद प्रदान करेगी। कोविद – १९ महामारी के बीच निजी अस्पताल में इलाज के लिए प्रत्येक बीपीएल कार्ड धारक को रुपये ५००० प्रति दिन से सात दिन (रु। ३५,०००) तक।
  • कोविद पॉजिटिव मरीजों को रु। ५००० दिया जाएगा जो बीपीएल परिवारों में और घर में अलगाव में हैं।
  • इस योजना के तहत कोविद पंजीकृत अस्पतालों को प्रति दिन रु। १००० से अधिकतम रु। ७००० के प्रोत्साहन का भुगतान किया जाएगा।
  • ये प्रयास गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के साथ-साथ राज्य के सभी रोगियों की मदद करेंगे।
  • मुख्यमंत्री ने अस्पताल के बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन समर्थन, टीकाकरण आदि के बारे में भी जानकारी दी।
  • ये प्रयास राज्य सरकार द्वारा प्रचलित कठिन परिस्थितियों से निपटने के लिए किए जा रहे है।
  • इस पहल के माध्यम से बीपीएल कार्ड धारकों और उनके परिवारों को उक्त राशि की चिकित्सा सहायता प्रदान की जाएगी जो इस मुश्किल समय में उनके लिए एक वरदान साबित होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *