प्रवासी लाभांश पेंशन योजना (पीडीपीएस): गैर-निवासी केरलवासियों (एनआरके) के लिए पेंशन योजना-

January 30, 2019 | By Yashpal Raut | Filed in: योजनाएं, खबरें, अनिवासी भारतीय, पेंशन, केरल सरकार, केरल.

केरल सरकार राज्य में जल्द ही गैर-निवासी केरलवासियों (एनआरके) के लिए प्रवासी लाभांश पेंशन योजना (पीडीपीएस) की घोषणा करेगी। केरल राज्य के राज्यपाल पी सतशिवम ने राज्य विधानसभा में अपने संबोधन के दौरान इस योजना की घोषणा की है। एक बार ५ लाख रुपये का भुगतान करने पर गैर-निवासी केरलवासियों (एनआरके) के लिए एक नियमित पेंशन योजना है।

इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य दुनिया भर के विभिन्न देशों में रहने वाले प्रवासी मलयालियों का कल्याण और विकास करना है। प्रवासी लाभांश पेंशन योजना (पीडीपीएस) के तहत एकत्रित धनराशि को केरल इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट फंड बोर्ड (केआयआयएफबी) में निवेश किया जाएगा। इस धनराशि का इस्तेमाल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट प्रोजेक्ट्स के लिए किया जाएगा।

२१ लाख केरलवासी जो विदेशों में पलायन कर चुके है। उनमें से ९०% मध्य पूर्व में रहते है। राज्य में प्रेषण (भेजा हुआ धन) ८५,०९२  करोड़ रुपये है।

                                                                            Pravasi Dividend Pension Scheme (PDPS) (In English):

  • योजना: प्रवासी लाभांश पेंशन योजना (पीडीपीएस)
  • राज्य: केरल
  • लाभ: नियमित पेंशन योजना
  • लाभार्थी:  गैर-निवासी केरलवासि (एनआरके / एनओआरकेए) प्रवासी मलयाली
  • द्वारा घोषणा: केरल राज्य के राज्यपाल पी सतशिवम

एनओआरकेए के लिए शुरू की जाने वाले अंतर्राष्ट्रीय टोल-फ्री नंबर और पोर्टल के साथ कॉल सेंटर।

केरल सरकार गैर-निवासी केरलवासियों (एनआरके) के लिए अंतरराष्ट्रीय टोल-फ्री नंबर के साथ एक कॉल सेंटर शुरू करने पर काम कर रही है। एनआरके जानकारी प्राप्त करने, समस्याओं की रिपोर्ट करने, सहायता प्राप्त करने और शिकायत दर्ज करने के लिए कॉल कर सकते है।

सरकार प्रवासी मलयाली के लिए एक परस्पर संवादात्मक पोर्टल शुरू करने की भी योजना बना रही है। यह पोर्टल जानकारी प्रदान करेगा, विभिन्न नौकरी के अवसर और ऑनलाइन सत्यापन और भर्ती प्रक्रिया को भी प्रदान करेगा। मुख्य रूप से टोल-फ्री नंबर और पोर्टल विदेशों में रहने वाले अनिवासी भारतीयों के लिए संपर्क का बिंदु के रूप में कार्य करेगा।

 


Tags: , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *