प्रमुख योजनाएं – स्वच्छ भारत मिशन २.० और अमृत २.०

१ अक्टूबर, २०२१ को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन-शहरी २.० और कायाकल्प और शहरी परिवर्तन के लिए अटल मिशन (अमृत) २.० का शुभारंभ किया। इन दो प्रमुख योजनाओं के दूसरे चरण को नई दिल्ली में अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में एक कार्यक्रम में लॉन्च किया गया था। स्वच्छ भारत मिशन शहरी २.० के तहत केंद्र सरकार का लक्ष्य देश भर के शहरों को कचरा मुक्त बनाना है। मिशन के इस दूसरे चरण में शहरों के कचरे को प्रोसेस कर हटाया जाएगा। अमृत ​​२.० के तहत केंद्र सरकार का लक्ष्य शहरी क्षेत्रों के प्रत्येक घर में पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करना है। ये दो प्रमुख योजनाएं मुख्य रूप से देश में शहरी विकास के लिए शुरू की गई हैं। केंद्रीय क्षेत्र की ये महत्वाकांक्षी योजनाएं शहरों को कचरा मुक्त बनाना और सभी नागरिकों के लिए सुरक्षित पेयजल का प्रावधान सुनिश्चित करेंगी।

अवलोकन:

योजनाओं प्रमुख योजनाएं:

  • स्वच्छ भारत मिशन-शहरी २.०
  • कायाकल्प और शहरी परिवर्तन के लिए अटल मिशन (अमृत) २.०
योजना के तहत केंद्र सरकार
द्वारा लॉन्च किया गया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
लॉन्च की तारीख १ अक्टूबर, २०२१
लाभार्थि शहरी क्षेत्रों के निवासी
प्रमुख उद्देश्य शहरों को कचरा मुक्त बनाना और शहरी क्षेत्रों में नागरिकों को सुरक्षित पेयजल के साथ-साथ सेप्टेज कनेक्शन प्रदान करना।

उद्देश्य और लाभ:

  • योजनाओं का मुख्य उद्देश्य शहरों को कचरा मुक्त बनाना और शहरी क्षेत्रों में सभी नागरिकों के लिए सुरक्षित पेयजल उपलब्ध कराना है।
  • स्वच्छ भारत मिशन शहरी २.० के तहत केंद्र सरकार का लक्ष्य देश भर के शहरों में कचरे को संसाधित करना और हटाना है।
  • अमृत ​​२.० का उद्देश्य प्रत्येक शहरी नागरिक के लिए सीवर और सेप्टेज कनेक्शन के साथ नल के पानी का कनेक्शन सुनिश्चित करना है।
  • इन योजनाओं का उद्देश्य देश में शहरी विकास सुनिश्चित करना है।
  • इन योजनाओं के माध्यम से केंद्र सरकार का लक्ष्य शहरों में नागरिकों का कल्याण करना है।
  • यह योजना शहरों को निवास के लिए सुरक्षित और स्वच्छ बनने के लिए सशक्त बनाएगी।

प्रमुख बिंदु:

  • प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने १ अक्टूबर, २०२१ को स्वच्छ भारत मिशन-शहरी २.० और कायाकल्प और शहरी परिवर्तन के लिए अटल मिशन (अमृत) २.० नामक दो प्रमुख योजनाओं की शुरुआत की।
  • स्वच्छ भारत मिशन शहरी २.० के तहत केंद्र सरकार का लक्ष्य देश भर के शहरों को कचरा मुक्त बनाना है।
  • मिशन के इस दूसरे चरण में शहरों के कचरे को प्रोसेस कर हटाया जाएगा।
  • यह अमृत २.० के अंतर्गत आने वाले शहरों को छोड़कर सभी शहरों में भूरे और काले पानी के प्रबंधन को सुनिश्चित करता है।
  • सीवेज प्रबंधन के माध्यम से शहरों को यह जल सुरक्षा प्रदान करने का भी प्रयास करता है।
  • यह योजना देश में ठोस कचरे को अलग करने और ठोस कचरा प्रबंधन पर केंद्रित होगी।
  • स्वच्छ भारत मिशन २.० का कुल परिव्यय १.४१ करोड़ है।
  • अमृत ​​२.० के तहत केंद्र सरकार का लक्ष्य शहरी क्षेत्रों के प्रत्येक घर में पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करना है।
  • लगभग ४७०० शहरी स्थानीय निकायों को २.६८ करोड़ नल कनेक्शन दिए जाएंगे।
  • यह शहरी क्षेत्रों में सभी के लिए सीवर और सेप्टेज कनेक्शन सुनिश्चित करने का भी प्रयास करता है।
  • ५०० अमृत शहरों में लगभग २.६४ करोड़ सीवर या सेप्टेज कनेक्शन भी प्रदान किए जाएंगे, जिससे शहरी क्षेत्रों के १०.५ करोड़ लोग लाभान्वित होंगे।
  • इन प्रमुख योजनाओं का उद्देश्य शहरी विकास करना है जिससे नागरिकों को सुरक्षित, स्वच्छ पानी और पर्यावरण उपलब्ध हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *