प्रधान मंत्री युवा योजना (पी एम वाय वाय): युवा उद्यमियों के लिए प्रशिक्षण और आर्थिक/तकनिकी मदत योजना

केन्द्रीय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने युवाओं में उद्यमशीलता के पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ाने के लिए प्रधान मंत्री युवा योजना (पीएमवायवाय) शुरू की है। प्रधान मंत्री युवा योजना (पीएमवायवाय) युवा उद्यमी के लिए है जो उचित रूप से कुशल नहीं है। यह योजना उन युवाओ के लिए है जो उद्योग में कुशल नहीं है| इस योजना के तहत युवा उद्यमियों को कौशल विकास और उद्योग से बारे में सिखाया जायेगा। भारत सरकार ने अगले ५ साल में ७ लाख से अधिक छात्रों के लिए उद्यमिता  शिक्षा और प्रशिक्षण कार्यक्रम की व्यवस्था की है। प्रधान मंत्री युवा योजना (पीएमवायवाय) के तहत संस्थानों में ऑनलाइन पाठ्यक्रम के माध्यम से २,२०० उच्च शिक्षा (कॉलेज, विश्वविद्यालय और प्रमुख संस्थान) संस्थानों में ५०० आईटीआई कॉलेज, ३०० स्कूलो और ५० उद्यमिता विकास केंद्र शामिल किये जाएगे। इस योजना के तहत युवाओं को सूचना और सलाहकार नेटवर्क, क्रेडिट और त्वरक सुविधा प्रदान की जाएगी। सरकार उद्यमिता को बढ़ावा देने वालो को पुरस्कार भी प्रदान करेगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य वैश्विक प्रतिस्पर्धा के लिए युवाओं तैयार करना और युवाओं को प्रोत्साहित करना है। इस योजना के माध्यम से युवा शिक्षित छात्रों को लाभ दिया जायेगा जो वैश्विक प्रतिस्पर्धा का सामना करने के लिए पर्याप्त कुशल नहीं है।

Pradhan Mantri Yuva Yojana (In English)

 प्रधानमंत्री युवा योजना (पी एम वाय वाय) का लाभ:

  • प्रधानमंत्री युवा योजना के माध्यम से देश भर के युवा उद्यमियों को लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत युवा उद्यमी को व्यवसाय में कौशल और विकास प्रक्रिया के बारे में सिखाया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से युवाओं को उद्यमशीलता में वैश्विक प्रतिस्पर्धा का सामना करने के लिए सक्षम बनाया जाएगा।

प्रधानमंत्री युवा उद्यमियों योजना का उद्देश:

  • प्रधानमंत्री युवा योजना (पीएमवाईवाई) उद्यमशीलता शिक्षा और प्रशिक्षण पर एमएसडीई की प्रमुख योजना है। इस परियोजना में ४९९.९४ करोड़ रुपये खर्च किये जाएगे और यह योजना अगले पांच साल (२०१६-१७ से २०२०-२१) तक काम करेगी।
  • अगले ५ साल में ३,०५० संस्थानों के माध्यम से ७ लाख से अधिक छात्रों को उद्यमिता शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत सूचना और सलाहकार नेटवर्क तक लाभार्थी आसानी से पहुंच पायेगा।
  • प्रधानमंत्री युवा योजना के तहत २२०० संस्थान उच्च शिक्षा (कॉलेज, विश्वविद्यालय और प्रमुख संस्थान), ३०० स्कूल, ५०० आईटीआई और ५० उद्यमिता विकास केंद्र में शामिल होंगे और प्रशिक्षण कार्यक्रम बड़े पैमाने पर विशाल खुला ऑनलाइन पाठ्यक्रम (एमओयूसी) के माध्यम  संस्थानों द्वारा किया जाएगा।

प्रधानमंत्री युवा उद्यमियों योजना के लिए पात्रता:

  • ३० साल से कम उम्र के युवा उद्यमी इस योजना के लिए पात्र है।

प्रधान मंत्री युवा उद्यमियों योजना की महत्वपूर्ण विशेषताओं:

  • यह योजना २०१६-१७ से २०२०-२१ तक यानी पांच साल की अवधि तक काम करेगी।
  • इस योजना में अगले ५ साल में ४९९.९४ करोड रुपये खर्च किये जाएगे।
  • इस योजना के तहत ५ साल में ७ लाख से अधिक छात्रों को उद्यमिता के बारे में शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • देश भर में ३,०५०  संस्थानों के माध्यम से प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से युवाओं को सूचना और सलाहकार नेटवर्क, क्रेडिट और वकालत की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री युवा योजना के तहत २,२०० संस्थान उच्च शिक्षा (कॉलेज, विश्वविद्यालय और प्रमुख संस्थान), ३०० स्कूल, ५०० आईटीआई कॉलेज  और ५० उद्यमिता विकास केंद्र में शामिल होंगे।
  • प्रशिक्षण कार्यक्रम बड़े पैमाने पर विशाल खुला ऑनलाइन पाठ्यक्रम (एमओयूसी) के माध्यम  संस्थानों द्वारा किया जाएगा।

संपर्क और विवरण:

  • प्रधानमंत्री युवा उद्यमियों योजना की अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं: msde.gov.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *