नि:शुल्क स्टील पानी की बोतलें (मुख्यमंत्री वर्दी योजना) हिमाचल प्रदेश: स्कूली बच्चों के लिए पानी की बोतल वितरण योजना

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने राज्य के स्कूल के बच्चों के लिए नि:शुल्क स्टील पानी की बोतलें वितरण योजना की घोषणा की है। राज्य सरकार राज्य के स्कूल के बच्चों को ९०,०००  स्टेनलेस स्टील की पानी की बोतलें वितरित करेगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्लास्टिक की पानी की बोतलों के उपयोग को रोकना है। इस योजना के माध्यम से प्लास्टिक के इस्तेमाल को कम करने में मदत मिलेगी। सरकार ने राज्य में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है। बोतलों को मुख्यमंत्री वर्दी योजना (फ्री स्कूल वर्दी योजना) के तहत वितरित किया जाएगा। राज्य सरकार ने प्रकृति को बचाने और प्लास्टिक के कारण होने वाले प्रदूषण रोकने के लिए थर्मोकॉल प्लेट्स, प्लास्टिक आइटम, पॉलिथिन, चश्मा इत्यादि पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Free Steel Water Bottles / Mukhya Mantri Vardi Yojana (In English)

नि:शुल्क स्टील पानी की बोतलें वितरण योजना क्या है? हिमाचल प्रदेश राज्य सरकार ने राज्य के स्कूल के बच्चों के लिए स्टेनलेस स्टील की पानी की बोतलों को वितरित किया जाएगा और प्लास्टिक की बोतलों का उपयोग नहीं करने के लिए स्कूल के बच्चों प्रोत्साहित किया जाएगा।

नि:शुल्क स्टील पानी बोतलें वितरण योजना के लिए पात्रता:

  • केवल हिमाचल प्रदेश राज्य के छात्र इस योजना के लिए पात्र है।
  • केवल ९ वीं कक्षा का छात्र जो सरकारी स्कूलों में पढ़ रहा हो, वह इस योजना के लिए पात्र है।

नि:शुल्क स्टील पानी की बोतलें वितरण योजना का लाभ:

  • स्कूल बच्चों के लिए मुफ्त स्टेनलेस स्टील की पानी की बोतलें।
  • इस योजना के तहत राज्य में ९०,०००  पानी की बोतलें वितरित की जाएंगी।

नि:शुल्क स्टील पानी की बोतलें वितरण योजना के लिए आवेदन कैसे करें:

  • छात्रों को किसी भी आवेदन पत्र भरने की जरुरत नहीं है और मुफ्त पानी की बोतल के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।
  • हिमाचल प्रदेश सरकार के स्कूलों में ९ वीं कक्षा में पढ़ रहे सभी छात्रों को मुफ्त स्टेनलेस स्टील की पानी की बोतलें प्रदान की जाएंगी।

नि:शुल्क स्टील पानी की बोतलें वितरण योजना की विशेषताएं:

  • हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर ने छात्रों के लिए मुफ्त पानी की बोतलों के वितरण की घोषणा की है।
  • इस योजना की घोषणा विश्व पर्यावरण दिवस पर की गई है।
  • सरकार छात्र को प्रकृति की रक्षा के लिए प्रोत्साहित करना चाहता है।
  • राज्य सरकार ने राज्य से प्लास्टिक उत्पादों का उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है।
  • सरकार ने आधिकारिक सरकारी समारोहों में कम से कम एक लीटर क्षमता वाली प्लास्टिक बोतलों के इस्तेमाल पर  प्रतिबंध लगा दिया है।
  • राज्य में  प्लास्टिक का वापर राज्य की अधिकांश समस्याओं का जड़ है।
  • प्लास्टिक आसानी से विघटित नहीं होता है।
  • प्लास्टिक पर्यावरण को प्रदूषित करता है और जानवरों के लिए भी खतरनाक है।
  • प्लास्टिक राज्य के नदियों को प्रदूषित कर रहा है और राज्य में पानी संकट का कारण बन रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *