गाय वितरण योजना त्रिपुरा: ५०,००० परिवारों के लिए प्रत्येकी २ गाय  दूध उत्पादन का दावा करने के लिए

त्रिपुरा राज्य के मुख्यमंत्री बिप्लाब देब ने राज्य में गाय वितरण योजना की घोषणा की है। त्रिपुरा राज्य सरकार राज्य में ५,००० परिवारों को १०,००० गायों को वितरित करेगी, यानी प्रत्येक लाभार्थी परिवारों को २ गाय मिलेंगी।इस योजना का मुख्य उद्देश्य गाय की रक्षा करना और राज्य में दूध उत्पादन में वृद्धि करना है। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि यह गरीब परिवारों को प्रत्यक्ष आय प्रदान करेगी और उन्हें सशक्त बनाएगी।

त्रिपुरा राज्य के नागरिकों को इस योजना के माध्यम से प्रोत्साहित किया जाएंगा और राज्य में गायों को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री अपने आधिकारिक निवास पर गाय के वातावरण को अनुकूल बनाया जाएंगा और परिवार के उपभोग के लिए दूध का उपयोग के लिए योजना बना रहे  है।

                                                                                            Cow Distribution Scheme Tripura (In English)

गाय वितरण योजना का उद्देश्य:

  • इस योजना के माध्यम से राज्य के गायों को बचाया जाएंगा।
  • राज्य के गरीब परिवारों को आमदनी के वैकल्पिक साधन प्रदान किये जाएंगे।
  • गाय के दूध के माध्यम से पोषण प्रदान किया जाएंगा।
  • राज्य के गरीब परिवारों को सशक्त बनाया जाएंगा।
  • त्रिपुरा राज्य के दूध उत्पादन को आत्मनिर्भर बनाया जाएंगा।

गाय वितरण योजना का लाभ:

  • त्रिपुरा राज्य में ५०,००० परिवारों को प्रत्येकी २ गाय नि:शुल्क वितरित की जाएंगी।

गाय वितरण योजना के लिए पात्रता:

  • यह योजना केवल त्रिपुरा राज्य में रहने वाले परिवारों के लिए लागू है।

मुख्यमंत्री ने राज्य में इस उद्योग को उठाया है क्योंकि इसे बहुत कम लागत की आवश्यकता है और राज्य में हर कोई इस योजना में आसानी से शामिल हो सकता है।राज्य में उद्योगों को इस व्यवसाय के लिए बहुत पूंजी की आवश्यकता नहीं होती है और राज्य में हर कोई इसका हिस्सा हो सकता है।सरकार ने राज्य में इस योजना के तहत लगभग १०,००० करोड़ रुपये राज्य के लोगों को रोजगार देने के लिए निवेश किये है, जहा २,००० लोगों को रोजगार प्रदान किया जाएंगा। राज्य में १०,००० गायों का वितरण करके ५०,०००  परिवारों को रोजगार प्रदान किया जाएंगा और अगले ६ महीनों में उनकी कमाई शुरू हो जाएंगी।

संबंधित योजनाएं:

  •  गाय वितरण योजना त्रिपुरा

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *