किसानों के बच्चों के लिए नई छात्रवृत्ति योजना, कर्नाटक

२७ जुलाई, २०२१ को कर्नाटक के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री श्री बसवराज बोम्मई ने राज्य में किसानों के बच्चों के लिए एक नई छात्रवृत्ति योजना की घोषणा की। यह योजना मुख्य रूप से पढ़ने वाले किसानों के बच्चों के साथ-साथ पढ़ने के इच्छुक बच्चों की मदद करने के लिए बनाई गई है। इसका उद्देश्य छात्रों को उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए प्रोत्साहित करना है। आर्थिक पृष्ठभूमि कम होने के कारण कई किसान बच्चों को अपनी पढ़ाई से पीछे हटना पड़ता है। यह योजना इन बच्चों को उनकी वित्तीय पृष्ठभूमि के बावजूद अपनी पढ़ाई पूरी करने में सहायता करेगी। यह किसानों के आर्थिक बोझ को भी कम करेगा जिससे उनके बच्चों को शिक्षित करने में मदद मिलेगी। इस योजना के लिए आवंटित कुल बजट १००० करोड़ रुपये है।

योजना अवलोकन:

योजना: किसानों के बच्चों के लिए नई छात्रवृत्ति योजना
योजना के तहत: कर्नाटक सरकार
द्वारा घोषित: मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई
घोषणा तिथि: २७ जुलाई, २०२१
योजना लाभ: छात्रवृत्ति के माध्यम से वित्तीय सहायता
लाभार्थी: राज्य में किसानों के बच्चे
उद्देश्य: उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए छात्रवृत्ति के माध्यम से किसानों के बच्चों को वित्तीय सहायता प्रदान करना।
बजट: रु. १००० करोड़

उद्देश्य और लाभ:

  • योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों के बच्चों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है।
  • यह योजना बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में सक्षम बनाएगी।
  • योजना के तहत बच्चे अपनी पसंद की स्ट्रीम में उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे।
  • यह किसानों और उनके बच्चों को उच्च शिक्षा के खर्चों को पूरा करने में मदद करेगा।
  • यह वित्तीय सहायता उन्हें वित्तीय बाधाओं के बिना आगे की पढ़ाई में मदद करेगी।

प्रमुख बिंदु:

  • कर्नाटक के नवनियुक्त मुख्यमंत्री श्री बसवराज बोम्मई ने राज्य के सभी किसानों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति योजना की घोषणा की।
  • यह घोषणा मुख्यमंत्री ने २७ जुलाई, २०२१ को पदभार ग्रहण करने के बाद की थी।
  • यह नई छात्रवृत्ति योजना राज्य में किसानों के बच्चों के लिए योजना बनाई गई है जिससे उन्हें बिना किसी वित्तीय बाधा के आगे की पढ़ाई करने में मदद मिलती है।
  • यह योजना बच्चों को उनकी पसंद के अनुसार उच्च शिक्षा प्राप्त करने का मौका देगी।
  • कोई भी किसान बच्चा आर्थिक तंगी के कारण उच्च शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा।
  • यह योजना सबसे गरीब छात्र को उच्च अध्ययन में दाखिला लेने में सक्षम बनाएगी।
  • छात्रवृत्ति राशि सीधे लाभार्थी के खाते में डीबीटी के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी।
  • यह योजना सभी आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को आगे पढ़ने में मदद करेगी।
  • इस योजना के लिए सीएम ने १००० करोड़ रुपये के बजट की घोषणा की।
  • इस योजना के अलावा मुख्यमंत्री ने विधवा पेंशन को ६०० रुपये से बढ़ाकर ८०० रुपये और संध्या सुरक्षा योजना के तहत वृद्धावस्था पेंशन को १००० रुपये से बढ़ाकर १२०० रुपये करने की भी घोषणा की।
  • उन्होंने दिव्यांगों को दी जाने वाली सहायता को ६०० रुपये से बढ़ाकर ८०० रुपये करने की भी घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *