कल्याण लक्ष्मी/शादी मुबारक योजना, तेलंगाना

तेलंगाना सरकार ने तेलंगाना राज्य में अल्पसंख्यक परिवारों में दुल्हनों को सहायता प्रदान करने के लिए ‘कल्याण लक्ष्मी / शादी मुबारक’ नाम से एक नई योजना शुरू की। कल्याण लक्ष्मी हिंदू अल्पसंख्यक दुल्हनों के लिए है और शादी मुबारक मुस्लिम समुदाय से संबंधित दुल्हनों के लिए है। यह योजना सरकार द्वारा वर्ष २०१४ में राज्य में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए शुरू की गई है। इस पहल के तहत अल्पसंख्यक लड़कियों को विवाह के समय १,००,११६/- रुपये की एकमुश्त वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/बीसी/ईबीसी की सभी दुल्हनें कल्याण लक्ष्मी पाठकम के तहत कवर की जाएंगी और मुस्लिम समुदाय की सभी दुल्हनें शादी मुबारक के तहत कवर की जाएंगी। योजना के तहत वित्तीय सहायता की राशि सीधे बैंक हस्तांतरण के माध्यम से लाभार्थी की माताओं के बैंक खाते में प्रदान की जाएगी। लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थियों को आधिकारिक पोर्टल @telanganaepass.cgg.gov.in पर अपना पंजीकरण कराना आवश्यक है। यह योजना महिलाओं को स्वतंत्र बनाती है और उन्हें सशक्त बनाती है।

योजना अवलोकन:

योजना का नाम: कल्याण लक्ष्मी/शादी मुबारक
योजना के तहत: तेलंगाना सरकार
लॉन्च वर्ष: २०१४
मुख्य लाभार्थी: राज्य में एससी / एसटी / बीसी / ईबीसी / मुस्लिम समुदायों की दुल्हनें
लाभ: १,००,११६/- रुपये की वित्तीय सहायता
प्रमुख उद्देश्य: अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों की भलाई के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना जिससे उन्हें सशक्त बनाया जा सके
आधिकारिक वेबसाइट: telanganaepass.cgg.gov.in

योजना के उद्देश्य और लाभ:

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य अल्पसंख्यक समुदायों की लड़कियों को सहायता प्रदान करना है।
  • यह दुल्हनों को उनकी शादी के लिए प्यार और सहायता का प्रतीक है
  • १,००,११६/- रुपये की वित्तीय सहायता सीधे दुल्हन की मां के संबंधित बैंक खातों में प्रदान किया जाएगा।
  • यह योजना उन माता-पिता की मदद करेगी जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और आर्थिक तंगी के कारण अपनी बेटी की शादी की व्यवस्था करने की अपनी इच्छा को पूरा नहीं कर सकते हैं।
  • यह राज्य में महिला आबादी की आर्थिक स्थिति में सुधार करेगा जिससे वे स्वतंत्र और सशक्त बनेंगी।

पात्रता:

  • दुल्हन केवल तेलंगाना राज्य की निवासी होनी चाहिए।
  • वधू को क्रमश १८ वर्ष की कानूनी आयु प्राप्त होनी चाहिए।
  • उसे निर्धारित अनुसार अल्पसंख्यक समुदाय से होना चाहिए।
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/बीसी(शहरी)/ईबीसी (शहरी) और मुस्लिम समुदायों के लिए निर्धारित कुल आय सीमा रु. २,००,०००/- प्रति वर्ष हैं।
  • बीसी (ग्रामीण)/ईबीसी (ग्रामीण) समुदायों के लिए निर्धारित कुल आय सीमा रु. १,५०,०००/- प्रति वर्ष हैं।

आवश्यक दस्तावेज़:

  • आधार कार्ड
  • आयु प्रमाण
  • जाति प्रमाण पत्र
  • विवाह प्रमाणपत्र की प्रति
  • दुल्हन की मां के बैंक खाते का विवरण
  • दुल्हन की पासपोर्ट साइज फोटो

आवेदन कैसे करें:

  • आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट @telanganaepass.cgg.gov.in पर जाना होगा।

  • होम पेज पर कल्याण लक्ष्मी/शादी मुबारक अनुभाग लिंक तक स्क्रॉल करें।
  • कल्याण लक्ष्मी/शादी मुबारक के लिए पंजीकरण टैब पर क्लिक करें।

  • तदनुसार, पंजीकरण फॉर्म प्रदर्शित किया जाएगा।
  • पात्रता के लिए विवरण भरें जैसे, नाम, पिता का नाम, आधार संख्या, जाति, उप जाति, आय, योग्यता, पता, बैंक खाता विवरण, दूल्हे का विवरण, विवाह विवरण, आदि।

  • आवश्यक दस्तावेज निर्धारित प्रारूप और आकार में अपलोड करें।
  • दिए गए कोड को दर्ज करें और सबमिट पर क्लिक करें।
  • फॉर्म के सत्यापन के बाद इसे स्वीकृत किया जाएगा और वित्तीय सहायता की राशि दुल्हन की मां के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी।
  • आवेदक प्रिंट/स्थिति टैब पर क्लिक करके फॉर्म की स्थिति की जांच कर सकता है।
  • यूआईडी और फोन नंबर दर्ज करें और स्थिति प्राप्त करें/प्रिंट पर क्लिक करें।

  • आवेदक प्रपत्र विवरण को संपादित भी कर सकता है या संपादित/अपलोड विकल्प पर क्लिक करके आवश्यकतानुसार कोई भी दस्तावेज अपलोड कर सकता है।

  • बैंक प्रेषण विवरण को उसी वेबसाइट से भी ट्रैक किया जा सकता है।
  • किसी भी मुद्दे या शिकायत के मामले में भी दर्ज किया जा सकता है।
  • शिकायत विकल्प पर क्लिक करें और विवरण दर्ज करें।
  • सबमिट पर क्लिक करें। शिकायत की स्थिति को भी ट्रैक किया जा सकता है।
  • पोर्टल का उपयोग करते समय किसी भी तकनीकी कठिनाई के मामले में आवेदक ०४०-२३१२०३११ पर संपर्क कर सकता है और सामान्य कठिनाइयों के लिए आवेदक ०४०-२३३९०२२८ पर संपर्क कर सकता है।
  • आवेदक सहायता के लिए telanganaepass@cgg.gov.in पर ईमेल भी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *