कर्नाटक प्लॉट योजना : सरकार जाति समूहों को भूखंड वितरित करने के लिए  

कर्नाटक सरकार ने एक कर्नाटक प्लॉट योजना की घोषणा की है। इस योजना के तहत राज्य सरकार शैक्षिक उद्देश्यों के लिए विभिन्न जाति और धार्मिक समूहों को भूमि आवंटित करेगी। सरकार के पास १७,०००  से १८,००० एकड़ जमीन है जो भूखंड आवंटन के लिए इस्तेमाल की जाएगी।

राज्य मंत्रिमंडल ने बेंगलुरु में ९६.१२ एकड़ सरकारी खरब गोमल भूमि में से ५८.२० एकड़ भूमि के आवंटन को मंजूरी दे दी है। इस योजना के तहत ३६ जाति के समूहों की पहचान की गई है और उन्हें भूमि आवंटित की जाएगी। लाभार्थी को जमीन किराये के आधार पर दी जाएगी। कई जाति समूहों ने अपने समुदायों के कल्याण और शैक्षिक उद्देश्यों के लिए राज्य सरकार से बेंगलुरु में भूमि के लिए अनुरोध किया है।

                                                                                                             Karnataka Plot Scheme (In English):

अहिंदा समुदाय (पिछड़े वर्ग, दलित और अल्पसंख्यक) प्लॉट योजना के बड़े लाभार्थी होने जा रहे है। विश्वकर्मा, देवदागस, सविता समाज, वाल्मीकि नायक, कुरुबरा संघ, उप्परा समाज, कुंचतिगास, आबिदास, तिगलास, गंगा मठ, यादव, कागिनेले कनक पीता, गनिगा, गणिगा, मालीगा इत्यादी विभिन्न जाती के समूह को इस योजना के माध्यम से प्लाट प्रदान किये जाएंगे। बेंगलुरु उत्‍सवों सभा, एंग्लो-इंडियन एसोसिएशन और एक मुस्लिम अनाथालय के लिए प्लाट प्रदान किया जाएंगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *