ओडिशा में आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना: किसानों के लिए वित्तीय सहायता –

ओडिशा सरकार ने राज्य के किसानों के लिए वित्तीय सहायता योजना की घोषणा की है, जिसे आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना कहा जाता है। ओडिशा राज्य के मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायक ने इस योजना की घोषणा की है। भारत देश भर में कृषि संकट बढ़ रहा है और अधिकांश राज्य सरकार ने सभी किसानों को फसल ऋण माफी प्रदान करने के लिए कृषि ऋण माफी योजना शुरू की है। आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना को ऋण माफी योजना की तुलना में अधिक कुशल योजना माना जाता है क्योंकि इस योजना के तहत किसानों को बुवाई के प्रत्येक मौसम से पहले वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

राज्य सरकार को आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना का १०,८०० करोड़ रुपये का खर्चा है। इस योजना से किसानों को काफी राहत मिलने की उम्मीद है। राज्य के किसानों का वित्तीय बोझ हटा दिया जाएगा। आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना कृषि ऋण माफी योजना की तुलना में अधिक कुशल है और राज्य के मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायक के अनुसार गरीबी पर इसका सीधा प्रभाव पड़ेगा। इस योजना में राज्य के ९२% किसान शामिल होंगे।

Krushak Assistance For Livelihood & Income  Augmentation (KALIA) Scheme Odisha (In English):

आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना क्या है? ओडिशा सरकार ने प्रत्येक बुवाई के मौसम से पहले किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करने की एक योजना बनाई है।

कालिया योजना का आवेदन पत्र:  राज्य के किसानों को आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता प्रदान की जाएंगी।

 आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना के लाभ:

  •  प्रत्येक बुवाई के मौसम से पहले किसानों को प्रति वर्ष १०,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  •  राज्य के किसान को खारीप मौसम से पहले ५,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • राज्य के किसान को रबी मौसम से पहले ५,००० रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • वित्तीय अनुदान खेती के लिए बीज और उर्वरक खरीदने के लिए दिया जाता है।
  • भूमिहीन परिवार, कमजोर कृषि परिवार और भूमिहीन मजदूरों के लिए वित्तीय सहायता / जीवंत सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • राज्य के किसानों को जीवन बीमा प्रदान किया जाएंगा।
  • ब्याज मुक्त फसल ऋण प्रदान किया जाएंगा।

 आजीविका और आय में वृद्धि के लिए कृषक सहायता (कालिया) योजना के तहत कौन पात्र हैं?

  • केवल ओडिशा राज्य के किसानों के लिए यह योजना लागू है।
  • राज्य के छोटे और सीमांत किसानों के लिए यह योजना लागू है।
  • भूमिहीन परिवार इस योजना के लिए पात्र है।
  • कमजोर कृषि घराने के किसान इस योजना के लिए पात्र है।
  • भूमिहीन मजदूर इस योजना के लिए पात्र है।

ओडिशा राज्य के ३० लाख किसान कालिया योजना से लाभान्वित होंगे।

ओडिशा राज्य में ३२ लाख किसान है और उनमें से २० लाख किसानों ने आमतौर पर कृषि ऋण लिया है। राज्य में ६०% किसान कृषि ऋण लेते है और उस कृषि ऋण को चुकाते है।

वित्तीय सहायता का उपयोग खेती की तैयारी के लिए किया जा सकता है।

राज्य का लाभार्थी किसान इसका उपयोग खेती की भूमि की तैयारी करने के लिए, बीज खरीदने, खाद, कीटनाशक और श्रम शुल्क का भुगतान करने के लिए कर सकता है। राज्य सरकार इसके लिए ३,०१६ करोड़ रुपये खर्च करेगी।

भूमिहीन परिवारों को मवेशियों की खरीदी करने के लिए वित्तीय सहायता।

राज्य के भूमिहीन परिवारों को १२,५०० रुपये तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएंगी। राज्य के किसान इस वित्तीय सहायता का उपयोग बकरी पालन, मिनी पोल्ट्री फार्म, मछुआरों के लिए मत्स्य किट और महिलाओं के लिए मशरूम की खेती और छोटा मधुमक्खी पालन जैसी इकाइयों को शुरू करने के लिए किया जा सकता है।

संबंधित योजनाएं:

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *