एकीकृत लोकपाल योजना

१२ नवंबर, २०२१ को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने वस्तुतः एकीकृत लोकपाल योजना की शुरुआत की। केंद्र सरकार की यह योजना आरबीआई के तहत बैंकों, एनबीएफसी, सेवा ऑपरेटरों और अन्य के खिलाफ उपभोक्ता शिकायतों और शिकायतों को तेजी से संभालने पर केंद्रित है। लोकपाल संबंधित प्राधिकरण है जो उपभोक्ताओं की सभी वित्तीय शिकायतों को प्राप्त करता है और उनका समाधान करता है। इस योजना के लागू होने से उपभोक्ताओं की शिकायतों का समाधान तेज गति से और अधिकतम पारदर्शिता के साथ किया जाएगा। इस योजना के तहत अब उपभोक्ताओं के पास शिकायत दर्ज करने के लिए एक पोर्टल, एक ईमेल आईडी और एक पता है। उपभोक्ता एक ही स्थान पर शिकायत दर्ज कर सकेंगे और शिकायत की स्थिति को ट्रैक कर सकेंगे। यह योजना एक राष्ट्र-एक लोकपाल दृष्टिकोण का पालन करते हुए शिकायतों को दर्ज करने और उनके निवारण के लिए एक केंद्रीकृत मार्ग स्थापित करेगी।

अवलोकन:

योजना का नाम एकीकृत लोकपाल योजना
योजना के तहत केंद्र सरकार
द्वारा लॉन्च किया गया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
लॉन्च की तारीख १२ नवंबर, २०२१
लाभ शिकायतों के त्वरित और अधिक पारदर्शी फाइलिंग, ट्रैकिंग और निवारण के लिए एक पोर्टल, एक ईमेल और एक पता
उद्देश्य उपभोक्ता शिकायतों और शिकायतों से निपटने के लिए तंत्र में सुधार करने के लिए एक राष्ट्र-एक लोकपाल दृष्टिकोण का पालन करना।
आधिकारिक पोर्टल https://cms.rbi.org.in/

उद्देश्य और लाभ:

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारतीय रिजर्व बैंक के तहत बैंकों, एनबीएफसी, ऑपरेटरों और अन्य के खिलाफ उपभोक्ता शिकायतों से निपटने के लिए तंत्र में सुधार करना है।
  • इसका उद्देश्य उपभोक्ता विवादों का त्वरित फाइलिंग और निवारण सुनिश्चित करना है।
  • इस योजना के तहत शिकायत दर्ज करने के लिए एक पोर्टल, एक ईमेल आईडी और एक पता उपलब्ध कराया जाएगा, जिससे वन नेशन-वन लोकपाल दृष्टिकोण का पालन किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से शिकायतों को अधिकतम पारदर्शिता के साथ दर्ज और ट्रैक किया जा सकता है।
  • यह योजना देश में आरबीआई के तहत शिकायत प्रबंधन तंत्र में सुधार करती है।
  • यह बैंक स्तर पर भारतीय न्यायपालिका प्रणाली को मजबूत करता है।

योजना विवरण:

  • प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने १२ नवंबर, २०२१ को एकीकृत लोकपाल योजना की शुरुआत की।
  • लोकपाल संबंधित प्राधिकरण है जो उपभोक्ताओं की सभी वित्तीय शिकायतों को प्राप्त करता है और उनका समाधान करता है।
  • ग्राहक लोकपाल के पास तब पहुंचते हैं जब या तो आरबीआई के तहत बैंकों/वित्तीय संस्थानों से कोई प्रतिक्रिया नहीं होती है या उनसे प्राप्त प्रतिक्रिया संतोषजनक नहीं होती है या अधिक स्पष्टीकरण की आवश्यकता होती है।
  • यह योजना तीन लोकपाल योजनाओं को जोड़ती है जैसे बैंकिंग लोकपाल योजना,२००६, एनबीएफसी के लिए लोकपाल योजना, २०१८ और डिजिटल लेनदेन के लिए लोकपाल योजना, २०१९।
  • शिकायत दर्ज करने, ट्रैक करने और निवारण के लिए ग्राहकों के लिए एकल संदर्भ बिंदु स्थापित करने के लिए यह योजना शुरू की गई है।
  • इस योजना के तहत ग्राहकों को अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए एक पोर्टल, एक ईमेल और एक डाक पता प्रदान किया जाता है।
  • ग्राहक पोर्टल @cms.rbi.org.in पर जा सकते हैं और संबंधित शिकायत दर्ज कर सकते हैं या ईमेल के माध्यम से crpc@rbi.org.in पर शिकायत भेज सकते हैं।
  • शिकायतों से निपटने और उसी के प्रारंभिक प्रसंस्करण के लिए केंद्रीकृत रसीद और प्रसंस्करण केंद्र (सीआरपीसी) स्थापित किया गया है।
  • लोकपाल योजना के तहत कवर नहीं की गई शिकायतों को आरबीआई के तहत सीआरपीसी द्वारा नियंत्रित किया जाएगा।
  • यह योजना आरबीआई के तहत शिकायत प्रबंधन तंत्र में सुधार करेगी।
  • उपभोक्ता शिकायतों की त्वरित और अधिक पारदर्शी फाइलिंग, ट्रैकिंग और निवारण यह सुनिश्चित करेगा।
  • यह एक राष्ट्र-एक लोकपाल दृष्टिकोण पर आधारित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *