ई-श्रम पोर्टल

२६ अगस्त, २०२१ को केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने देश के सभी असंगठित श्रमिकों के लिए एक मंच के रूप में ई-श्रम पोर्टल लॉन्च किया। सभी निर्माण श्रमिकों, रेहड़ी-पटरी वालों, प्रवासी श्रमिकों, घरेलू कामगारों, कृषि श्रमिकों और अन्य श्रमिकों को इस पोर्टल पर पंजीकृत करने का लक्ष्य है। यह पोर्टल देश में श्रमिकों को सहायता प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है। इस पोर्टल पर पंजीकरण श्रमिकों को आकस्मिक बीमा कवर के साथ-साथ केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं तक पहुंच प्रदान करेगा। इस पोर्टल पर पंजीकरण प्रक्रिया श्रम मंत्रालय, ट्रेड यूनियनों, राज्य सरकारों और सामान्य सेवा केंद्रों द्वारा समन्वित की जाएगी। पोर्टल पर पंजीकृत श्रमिक श्रमिकों के लिए निःशुल्क होंगे। श्रम मंत्रालय ने श्रमिकों के लिए पंजीकरण प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए एक राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर – १४४३४ भी शुरू किया है।

पोर्टल अवलोकन:

पोर्टल का नाम ई-श्रम पोर्टल
पोर्टल के तहत श्रम और रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार
द्वारा लॉन्च किया गया केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव
लॉन्च की तारीख २६ अगस्त २०२१
के माध्यम से लागू किया गया श्रम मंत्रालय, ट्रेड यूनियन, राज्य सरकारें और सामान्य सेवा केंद्र
द्वारा विकसित राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र
लाभार्थी देश में असंगठित श्रमिक जैसे निर्माण श्रमिक, रेहड़ी-पटरी वाले, प्रवासी श्रमिक, घरेलू कामगार, कृषि श्रमिक और अन्य श्रमिक।
उद्देश्य सभी असंगठित श्रमिकों का एक राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार करना जिससे उन्हें बीमा कवरेज और लागू सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ प्रदान किया जा सके।
वेबसाइट https://eshram.gov.in/

उद्देश्य और लाभ:

  • पोर्टल का मुख्य उद्देश्य देश में सभी असंगठित श्रमिकों को कवर करने के लिए एक मंच प्रदान करना है।
  • इसका उद्देश्य आधार पंजीकरण के अनुरूप सभी असंगठित श्रमिकों का एक केंद्रीकृत डेटाबेस तैयार करना है।
  • पोर्टल असंगठित श्रमिकों को लक्षित करने वाली विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के कार्यान्वयन में सुधार करेगा।
  • इसका उद्देश्य प्रवासी और निर्माण श्रमिकों को सामाजिक और कल्याणकारी लाभों की सुवाह्यता बढ़ाना है।
  • यह भविष्य में कोविड महामारी जैसे किसी भी राष्ट्रीय संकट के दौरान उनकी सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए श्रमिकों का एक डेटाबेस तैयार करता है।
  • श्रमिकों को मृत्यु के मामले में २ लाख रुपये तक और आंशिक विकलांगता के मामले में १ लाख रुपये तक का दुर्घटना बीमा कवरेज प्रदान करेगी।
  • विभिन्न सामाजिक सुरक्षा और रोजगार योजनाओं के लाभों को भी यह सक्षम करेगा।
  • इस पहल का उद्देश्य देश के सभी श्रमिकों की बेहतरी और कल्याण होगा।

पोर्टल पर पंजीकरण के लिए पात्रता:

  • व्यक्ति को एक असंगठित कामगार होना चाहिए अर्थात कोई भी कामगार जो असंगठित क्षेत्र में स्वरोजगार/घर पर आधारित/वेतन कर्मी है।
  • वह ऐसा कर्मचारी होना चाहिए जो ईएसआईसी या ईपीएफओ का सदस्य न हो या सरकारी कर्मचारी हो।
  • उसकी उम्र १६-५९ साल के बीच होनी चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज़:

  • आधार संख्या
  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर
  • आईएफएससी कोड के साथ बचत बैंक खाता संख्या

पंजीकरण की प्रक्रिया:

  • ई-श्रम पोर्टल @eshram.gov.in पर जाएं।
  • होमपेज पर ‘रजिस्टर ऑन ई-श्रम’ विकल्प पर क्लिक करें।
  • आधार लिंक्ड मोबाइल नंबर दर्ज करें और कैप्चा दर्ज करें।
  • सेंड ओटीपी ऑप्शन पर क्लिक करें और मोबाइल नंबर वेरिफाई करवाएं।
  • फिर आवश्यक विवरण के साथ फॉर्म भरें और सबमिट करें।
  • भविष्य के संदर्भ के लिए फॉर्म का एक प्रिंटआउट लें।
  • सफल पंजीकरण के बाद, १२ अंकों की विशिष्ट संख्या वाला एक ई-श्रम कार्ड जारी किया जाएगा।

मुख्य बिंदु और विशेषताएं:

  • केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री श्री भूपेंद्र यादव ने २६ अगस्त, २०२१ को ई-श्रम पोर्टल का शुभारंभ किया।
  • इस पोर्टल का उद्देश्य देश में असंगठित कामगारों का एक राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार करना है जिसे आधार से जोड़ा जाएगा।
  • असंगठित श्रमिकों की श्रेणी में देश में निर्माण श्रमिक, रेहड़ी-पटरी वाले, प्रवासी श्रमिक, घरेलू कामगार, कृषि श्रमिक, प्रवासी श्रमिक, प्लेटफॉर्म श्रमिक और अन्य शामिल होंगे।
  • सभी श्रमिकों के लिए पोर्टल पर पंजीकरण निःशुल्क है।
  • यह पंजीकरण श्रमिकों को मृत्यु के मामले में २ लाख रुपये तक और आंशिक विकलांगता के मामले में १ लाख रुपये तक का दुर्घटना बीमा कवरेज प्रदान करेगा।
  • यह विभिन्न सामाजिक सुरक्षा और रोजगार योजनाओं के लाभों को भी सक्षम करेगा।
  • ई-श्रम पोर्टल का होमपेज यूआरएल है https://eshram.gov.in/
  • श्रमिकों को आवश्यक विवरण भरकर पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा।
  • पंजीकरण के बाद प्रत्येक श्रमिक को ई-श्रम कार्ड जारी किया जाएगा और यह कार्ड पूरे देश में लागू होगा।
  • यह एक उपयोगकर्ता के अनुकूल पोर्टल है जिसमें सेवाओं, पंजीकरण, हितधारकों आदि के लिए अलग-अलग टैब हैं
  • पोर्टल में विभिन्न प्रशंसापत्र भी हैं, अपडेट के लिए नया अनुभाग क्या है और अन्य सेवाओं के बारे में जानकारी, एक उपयोगकर्ता गाइड, डेमो पंजीकरण वीडियो और विभिन्न अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों के उत्तर दिए गए हैं।
  • इसका एक राष्ट्रीय टोल-फ्री हेल्पडेस्क सपोर्ट नंबर भी है – १४४३४ जो हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, तेलुगु, बंगाली, कन्नड़, मलयालम, मराठी, ओडिया और असमिया जैसी विभिन्न भाषाओं में उपलब्ध है।
  • किसी भी प्रकार की पूछताछ या सहायता के लिए कार्यकर्ता सोमवार से शनिवार तक सुबह ८ बजे से रात ८ बजे के बीच इस नंबर पर संपर्क कर सकता है।
  • लगभग ३,५०,५८८ असंगठित श्रमिक पोर्टल पर पहले ही पंजीकरण करा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *