इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम (आईपीपीबीएस): बैंकिंग सेवाएं मिलेंगी घर बैठे आपके दरवाजे पर

भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने १ सितंबर २०१८ को इस योजना शुरू की है। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम के साथ भारतीय डाक में बैंकिंग सेवाएं भी प्रदान की जाएगी। भारत के नागरिकों को अपने घरों में बैठ कर अपने दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं मिलेंगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत देश भर में बैंकिंग सेवाएं प्रदान करना है, खासकर गांवों और दूरदराज के इलाकों में जहां बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध नहीं है।

India Post Payments Bank Scheme (In English)

 इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम (आईपीपीबीएस) क्या है?

भारत सरकार द्वारा भारतीय डाक की सहायता से बैंकिंग सेवा लाभार्थी के दरवाजे पर प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है।

 इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम (आईपीपीबीएस) का उद्देश्य:

  • भारत देश भर में इस योजना के माध्यम से बैंकिंग सेवाएं प्रदान करना।
  • गांवों और दूरदराज के क्षेत्रों के लोगों को बैंकिंग सेवाओं तक पहुंचा जा सके यह इस योजना का मुख्य उद्देश है।
  • इस योजना के तहत बैंकिंग सेवा लाभार्थी के दरवाजे पर प्रदान की जाएगी।

  इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम  (आईपीपीबीएस) का लाभ:

  • सरलीकृत और सुविधाजनक बैंकिंग सेवा प्रदान करना।
  • इस योजना के माध्यम से भारतीय डाक को पुनर्जीवित किया जाएगा और उनके राजस्व में वृद्धि होंगी।
  • गांवों और दूरदराज के क्षेत्रों के लोगों को बैंकिंग सेवाओं की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • भारतीय डाक भुगतान बैंक योजना (आईपीपीबीएस) के माध्यम से भारतीय डाक का आधुनिकीकरण किया जाएगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम (आईपीपीबीएस) का हेल्पलाइन / टोल-फ्री नंबर:१५५२९९/ contact@ippbonline.in

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम (आईपीपीबीएस)  का उत्पाद और सेवाएं:

  • बचत खाता
  • वर्तमान खाता
  • मोबाइल बैंकिंग
  • एसएमएस बैंकिंग
  • मिस्ड कॉल बैंकिंग
  • फोन बैंकिंग
  • क्यूआर कार्ड
  • दरवाजे पर बैंकिंग सेवा
  • भुगतान सेवा
  • बीमा
  • व्यापारियों के लिए बैंकिंग सेवा (व्यापार बैंकिंग)

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक स्कीम (आईपीपीबीएस) की मुख्य विशेषताएं और कार्यन्वयन:

  •  यह योजना १  सितंबर २०१८ को नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की है।
  • इस योजना के माध्यम से भारतीय डाक लाभार्थी के दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं प्रदान की जाएगी।
  • भारतीय डाक विभाग देश के विभिन्न हिस्सों में नई शाखाएं खोलेगा।
  • वर्तमान में भारतीय डाक की १.४० लाख शाखाएं है जो २.९० लाख तक बढ़ जाएंगी।
  • वर्तमान में गांवों में ४९ हजार शाखाएं हैं जो १.७५  लाख तक बढ़ जाएंगी।
  • योजना  के पहले चरण में साल २०१८ में भारतीय डाक की ६५० शाखा और भारत देश भर में ३२५० आईपीपीबीएस केन्द्र को सुरु किया जाएगा।
  • सरकार ने भारत को चुनिंदा पोस्ट चुने हैं  ताकि उनके पास देश भर में शाखाओं का विस्तृत जाल है और लोग भी उन पर भरोसा करते हैं।
  • आईपीपीबीएस से २५% मुनाफा भारतीय डाक को दिया जाएगा।
  • डाकिया अब बैंककर्मी बन जाएगा और आपके दरवाजे पर बैंकिंग सेवा प्रदान करेगा।
  • डाकिया के पास मोबाइल ऐप और बॉयोमीट्रिक पाठक होगा।
  •  डाकिया लोगों को अपने बैंक खाता खोलने का, जमा धन  धन हस्तांतरण, भुगतान इत्यादि सेवा लाभार्थी के दरवाजे पर प्रदान करेगा।
  • बैंक कागजरहित और ग्राहकों को बैंकों में किसी भी चीज़ के लिए किसी भी आवेदन पत्र  भरना नहीं होगा।

अधिक विवरण और संदर्भ:

  • इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक आधिकारिक वेबसाइट: ippbonline.com
  • अपनी नजदीकी आईपीपीबी शाख ढूंढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे यहां क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *