अपणी बेटी अपना धन योजना

अपणी बेटी अपना धन योजना केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई है और चंडीगढ़ केंद्र शासित प्रदेश द्वारा लागू की गई है। यह योजना चंडीगढ़ के सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, समाज कल्याण विभाग द्वारा कार्यान्वित की है। योजना विशेष रूप से बालिकाओं के लिए शुरू की गई है। इस योजना को शुरू करने के पीछे मुख्य उद्देश्य बालिकाओं की संख्या में सुधार करना है और उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करना है। इस योजना के तहत बालिकाओं को उसके जन्म पर ५,००० रुपये की राशी प्रदान की जाएंगी। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बालिका के माता-पिता को कुछ पात्रता मानदंडों को पूरा करने की आवश्यकता है। माता-पिता की आय ६०,००० रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए और आवेदक माता-पिता कुछ अन्य पात्रता मानदंडों के साथ  चंडीगढ़ या किसी केंद्र शासित प्रदेश के स्थायी निवासी होने चाहिए।

                                                                      Apni Beti Apana Dhan Scheme For Girl Child (In English)

बालिकाओं के लिए अपणी बेटी अपना धन योजना के लाभ:

  • बालिका के लिए अपणी बेटी अपना धन योजना के तहत बालिका को आर्थिक सहायता के रूप में लाभ प्रदान किया जाएंगा।
  • इस योजना के तहत बालिका का जन्म होने पर ५,००० रुपये की सरकारी राशि से सम्मानित किया जाएंगा।
  • बालिका के जन्म पर ५,००० की राशी बालिका के खाते में जमा की जाएंगी जो बालिका के भविष्य के लिए इस्तेमाल की जाएंगी और यह राशी बालिका १८ साल की पूरी होने पर या १० वी कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद प्रदान की जाएंगी।

पात्रता और शर्तें:

  • आवेदक बालिका के माता-पिता चंडीगढ़ केंद्र शासित प्रदेश के स्थायी निवासी होने चाहिए।
  • बालिका के माता-पिता या परिवार की वार्षिक आय ६०,००० रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • आवेदक बालिका के माता-पिता करदाता नहीं होने चाहिए।
  • बालिका के माता-पिता सरकारी कर्मचारी या सरकारी मंडल या निगम या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम या संगठन जिसमें श्रेणी १ या श्रेणी २ के पद पर नहीं होना चाहिए।
  • बालिका पहले से ही किसी भी अन्य राज्य या केंद्र शासित प्रदेश की किसी भी योजना के तहत लाभार्थी नहीं होना चाहिए।
  • बालिका के जन्म की तारीख से तीन साल के भीतर आवेदन करने की आवश्यकता है।
  • लाभार्थी बच्चा परिवार का पहला या दूसरा बच्चा होना चाहिए। दो से अधिक बच्चे रखने वाला परिवार पात्र नहीं होगा, बशर्ते कि दूसरा और तीसरा बच्चा जुड़वाँ हो तो लाभ तीसरे बच्चे को भी मिलेगा।
  • प्रथम आने वाले लाभार्थी का इस योजना के लाभ के लिए पाहिले विचार किया जाएंगा

आवश्यक दस्तावेज:

  • बालिका का जन्म का दाखला
  • बालिका के परिवार का आय प्रमाण पत्र
  • पिछले तीन साल का निवासी प्रमाण पत्र जैसे की मतदाता पहचान पत्र,राशन कार्ड,बिजली का बिल
  • आधार कार्ड
  • बालिका के माता पिता का पहचान पत्र
  • बैंक खाते का विवरण जैसे की खाता नंबर, खाते धारक का नाम, आयएफएससी कोड, एमआयसीआर कोड
  •  जाती का प्रमाण पत्र

आवेदन की प्रक्रिया:

  • आवेदन पत्र डाउनलोड करे (अवदान पत्र डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करे)
  • आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र भरकर उम्मीदवार इसे जिला स्तर या या तालुका स्तर के समाज कल्याण कार्यालय में जमा करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *